Dainik Navajyoti Logo
Sunday 19th of September 2021
 
राजस्थान

चूरू में गैंगवार का मामला, गैंगस्टर सम्पत ने वारदात से पहले बदमाशों को दिए थे कोडवर्ड

Tuesday, February 09, 2021 09:45 AM
पुलिस की गिरफ्त में आया सोमवीर।

जयपुर। चूरू के हमीरवास में गांव ढाणी मौजी में हुई गैंगवार के मामले में अब एसओजी ने बदमाशों और उन्हें सहयोग करने वालों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। टीम ने सोमवार को गैंगवार के बाद फरार हुए बदमाशों का सहयोग करने वाले सोमवीर को गिरफ्तार किया है। सोमवीर खैरू गांव का रहने वाला है। इसने गैंगवार कर भागते समय अपने साथी बदमाशों को एक कैम्पर गाड़ी उपलब्ध कराई थी। इस कैम्पर के सहारे ही वह भागने में सफल रहे। इसके अलावा बदमाशों की खराब हुई जीप को भी इसी ने ही दुरुस्त कराया था। एसओजी टीमें इससे पूछताछ कर रही है। प्रकरण की जांच कर रहे राजगढ़ चूरू एसओजी के एएसपी करण शर्मा लगातार बदमाशों के सुराग जुटाने में लगे हैं।

कोई नहीं लेगा अपना असली नाम
गैंगवार के तुरंत बाद ही गिरफ्तार हुए बदमाश संदीप नेहरा ने खुलासा किया है कि पंजाब की होशियारपुर जेल में बंद सम्पत नेहरा के कहने पर प्रदीप स्वामी की हत्या की गई। उसने गैंगवार से पहले कहा था कि वारदात के दौरान कोई अपना सही नाम नहीं लेगा। हर साथी नाम बदलकर रखेगा। उसी कोडवर्ड को मानते हुए मौके पर एक दूसरे से बातचीत करेंगे। बदमाश संदीप को उसके साथी बाबा, राजेश को भाई साहब, चीमा को पाजी कहकर बुलाते थे। गैंगवार के दौरान बदमाशों ने इन्हीं कोडवर्ड का उपयोग किया था।

सम्पत के पास कैसे पहुंचा मोबाइल
सम्पत नेहरा पंजाब की होशियारपुर जेल में बंद है। बदमाश संदीप ने कहा है कि सम्पत के कहने पर ही गैंगवार हुई है। ऐसे में अब बड़ा सवाल है कि सम्पत के पास मोबाइल था, लेकिन स्थानीय जेल प्रशासन ने उस पर अंकुश क्यों नहीं लगाया।  

यह है मामला
छह फरवरी को गांव ढाणी मौजी में प्रदीप और उसके पिता सुल्तान नाई के घर के आगे चबूतरे पर निहाल सिंह पुत्र महासिंह, ईश्वर पुत्र अमर सिंह व गांव का एक व्यक्ति बैठे हुए थे। तभी एक जीप और दो बाइक पर बंशी बुरडक, सुमित उर्फ लोरिया, संदीप ढाका, ईशरवाल, अशोक, राजेश जाट, संदीप, मोटिया काला व तीन-चार अन्य बदमाश पहुंचे। राजेश, सुनील व अशोक ने प्रदीप की तरफ फायर किया, जो पास बैठे निहाल सिंह व ईश्वर सिंह, द्वारका प्रसाद गोस्वामी को लगा। इसमें प्रदीप समेत चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। यह वारदात जेल में बंद संपत नेहरा, लोरेंस विश्नोई, मिंटू मोड़ासिया व अक्षय पहाड़ी, देवेन्द्र नुहन्द ने षड्यंत्र करके हत्या की।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण कानून पर छिड़ी बहस, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा बोले- हम 2 हमारा 1 जरूरी

देश में इन दिनों जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर बहस छिड़ी हुई है। बुधवार को प्रदेश के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा के ‘हम दो हमारा एक ’का बयान दिया है। इसके बाद भाजपा नेताओं ने उनके बयान का स्वागत करते हुए प्रदेश में भी जनसंख्या नियंत्रण कानून या वन चाइल्ड पॉलिसी विधानसभा में लाने की मांग कर दी है।

15/07/2021

ट्रैक्टर एवं कृषि यंत्र किराया योजना ने छुआ 1 लाख घंटे मुफ्त सेवा देने का आंकड़ा, जरूरतमंद किसानों को मिली राहत

कोरोना संकट के बीच जरूरतमंद किसान को बिना किसी शुल्क के किराए पर ट्रैक्टर एवं कृषि यंत्र उपलब्ध कराने की योजना ने खूब राहत पहुंचाई है। इसमें काश्तकारों को 1 लाख घंटे मुफ्त सेवा देने का आंकड़ा छू लिया है। यह सेवा आगामी 31 जुलाई तक जारी रहेगी।

28/07/2020

राज्य सरकार 26 विशेष केटेगिरी के परिवारों को देगी सहायता, खाद्य आपूर्ति विभाग ने किए आदेश जारी

राज्य के खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने एक आदेश जारी कर सभी कलक्टरों को निर्देश दिए हैं, कि कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन लगे 50 दिन से ज्यादा समय हो गया है। ऐसे में सभी काम धंधे व व्यापार सहित आर्थिक गतिविधियां ठप हो गई है।

16/05/2020

जयपुर में हुई तेज बारिश, उमस से मिली राहत, मौसम हुआ सुहावना

जयपुर में बारिश का दौर फिर शुरू हो गया है। कई दिनों से शहर में उमस का दौर जारी था, जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।

06/08/2019

खाद्य पदार्थों में मिलावट चिंता का विषय, शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को बनाया जाए और प्रभावी: गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि खाद्य पदार्थों में मिलावट पूरे देश के लिए गंभीर चिंता का विषय है। राज्य सरकार ने लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान शुरू किया है। यह काम सिर्फ कुछ दिन तक ही सीमित न रहे, बल्कि प्राथमिकता के साथ हर वक्त यह चलना चाहिए।

30/10/2020

कोरोना : तीनों संदिग्धों के जांच नमूने पुणे भेजे

उदयपुर। कोरोना वायरस को लेकर शनिवार को एमबी अस्पताल में किसी भी रोगी को संदिग्ध नहीं माना गया और न ही जांच नमूने लिए गए।

01/02/2020

राजस्थान रोडवेज कर्मचारी छुट्टी के लिए नहीं लगाएंगे अधिकारियों के चक्कर, लगेंगे कियोस्क

राजस्थान रोडवेज में तैनात चालक और परिचालकों को अब छुट्टी के लिए अधिकारियों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। रोडवेज प्रशासन जल्द ही कियोस्क लगाने की प्लानिंग कर रहा है।

23/07/2019