Dainik Navajyoti Logo
Sunday 26th of September 2021
 
राजस्थान

सिंधीकैंप बस स्टैण्ड के बाहर बसों का जमावड़ा, निजी बसें हटे तो नए स्टैण्ड की जरूरत नहीं

Monday, March 08, 2021 10:00 AM
फाइल फोटो।

जयपुर। सिंधीकैंप बस स्टैण्ड के बाहर से निजी बसों का जमावड़ा हट जाए तो रोडवेज प्रशासन को शहर के चारों तरफ चार बस स्टैण्ड बनाने की जरूरत ना पड़े। तत्कालीन कलेक्टर व वर्तमान रोडवेज सीएमडी राजेश्वर सिंह ने सन् 2006 बस स्टैण्ड के बाहर नो पार्किंग जोन घोषित करते हुए इन्हें यहां से हटाने को कहा था। वहीं हाल ही में संभागीय आयुक्त ने इन्हें हटाने के लिए पुलिस और परिवहन विभाग को निर्देश दिए थे। इसके बावजूद भी इन्हें यहां से नहीं हटाया गया। जानकारी के अनुसार सिंधीकैंप बस स्टैण्ड के बाहर निजी व लोक परिवहन सेवा की बसों का दिनभर जमावड़ा रहता है, जिससे यहां पर जाम लगा रहता है। इन बसों को यहां से हटाने की बजाय रोडवेज प्रशासन ने चार नए बस स्टैण्ड (शहर के चारों तरफ) बनाने की योजना बना ली और जमीन अलॉर्ट करने के लिए जेडीए को प्रस्ताव भी भेज दिया। इस पर जेडीसी ने ट्रैफिक कंट्रोल बोर्ड (टीसीबी) में इस प्रस्ताव को पास भी कर दिया।

निजी बसों को होगा फायदा
रोडवेज के चार नए बस स्टैण्ड बनाने से सिंधीकैंप पर लगने वाली निजी बसों को फायदा होगा। इसके साथ ही आमजन को रोडवेज की बसों में सफर करने में काफी परेशानी होगी। वहीं रोडवेज के राजस्व में भी नुकसान होगा।

रोडवेज बसों से नहीं लगता जाम
जानकारी के अनुसार प्रतिदिन सिंधीकैंप पर 1300 बसें आती-जाती हैं। इनमें 11 सौ रोडवेज और 200 यूपी, पंजाब, हरियाणा व अन्य राज्यों की हैं। सिंधीकैंस बस स्टैण्ड के अंदर से 3 से 5 मिनट में बस बुक होकर निकलती है। यहां से केवल नारायण सिंह सर्किल, चौमूं पुलिया, ट्रांसपोर्ट नगर, 200 फीट बाइपास पर ही बस रूकती है। इस बीच कोई जाम नहीं लगता। लेकिन रिपोर्ट में रोडवेज बसों के चलते जाम होना बताकर नए बस स्टैण्ड बनाने की योजना बनाई गई है। जबकि रोडवेज बसों से कोई भी जाम नहीं लगता। सिंधीकैंप बस स्टैण्ड के बाहर लगने वाली निजी बसों पर परिवहन विभाग व पुलिस कार्रवाई नहीं करती।

सिंधीकैंप बस स्टैण्ड के बाहर पूर्व में नो पार्किंग जोन घोषित किया था। इस आदेश की पालना क्यों नहीं हो रही, इसको लेकर संबंधित विभाग को पत्र लिखा जाएगा।
-अंतर सिंह नेहरा, जिला कलेक्टर

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

शातिर बदमाश लड़की बनकर करता रहा चैट, व्यवसायी से लूट लिए 3 लाख से ज्यादा

शहर के शोभावतों की ढाणी स्थित मंगलम कॉलोनी के एक युवक को फे सबुक पर दोस्ती गाढ़ कर लाखों की ठगी करने वाली लड़की नही एक बदमाश निकला है। जो कई तरह की आवाजें निकाल कर अपना काम निकलता रहा। इस शातिर ने कभी संजना बनकर दोस्ती की फिर ठगी को खेल शुरू किया जो ढाई साल तक चलता रहा।

15/12/2019

अशोक गहलोत से एससी-एसटी के विधायकों ने की मुलाकात, जताया आभार

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बुधवार को अनुसूचित जाति एवं जनजाति के विधायकों के एक प्रतिनिधिमण्डल ने मुलाकात कर लिपिक ग्रेड-द्वितीय भर्ती परीक्षा में एससी-एसटी का बैकलॉग जोड़ने के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

04/06/2020

कोटा के दोनों निगमों में कांग्रेस का बोर्ड, उत्तर से मंजू मेहरा जीतीं, दक्षिण में राजीव अग्रवाल बने मेयर

प्रदेश में सत्तारुढ़ कांग्रेस ने कोटा उत्तर एवं दक्षिण नगर निगम दोनों में महापौर के चुनाव में बाजी मार ली और दोनों में उनके महापौर चुने गए हैं। कोटा में दो निगम बनने के बाद पहली बार हुए निगम चुनाव में कोटा उत्तर से कांग्रेस प्रत्याशी मंजू मेहरा पहली महापौर बनी हैं। इसी तरह कोटा दक्षिण में कांग्रेस के राजीव अग्रवाल पहले महापौर चुने गए।

10/11/2020

प्रदेश के समन्वित विकास में सभी वर्गों की भागीदारी जरूरी: गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश के समन्वित विकास के लिए समाज के सभी वर्गों की भागीदारी जरूरी है। बजट तैयार करने में सभी के सुझावों को शामिल करने के साथ राज्य सरकार समाज के हर वर्ग के लिए बजट में समुचित प्रावधान कर प्रदेश के विकास में उनकी भागीदारी बढ़ाने का हर संभव प्रयास करेगी।

07/02/2021

विधानसभा में पहले ही दिन गूंजा किसानों का मुद्दा, लगे 'जय श्रीराम' और 'जय किसान' के नारे

विधानसभा में राज्यपाल का अभिभाषण पूरा होने के बाद कुछ अन्य विधायकों ने माकपा विधायक बलवान पूनिया का साथ दिया और राज्यपाल की मौजूदगी में आंदोलनकारी किसानों के समर्थन में जय किसान के नारे लगाए। किसानों के समर्थन में नारे लगाने वालों में कुछ कांग्रेसी तो कुछ निर्दलीय विधायक रहे। वहीं भाजपा विधायकों के खेमे से जय श्रीराम की नारेबाजी से भी सदन गुंजायमान हो गया।

11/02/2021

मुख्यमंत्री अशोेक गहलोत ने राज्यपाल कलराज मिश्र से की मुलाकात

राज्यपाल कलराज मिश्र से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुलाकात की। मिश्र से गहलोत ने राजभवन में मुलाकात की।

18/01/2020

कोरोना की जद में दो अस्पताल, मौत के बाद चला कोरोना का पता, सभी मरीजों की जांच

राजस्थान में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। अस्पतालों में ऐसे मरीज जो अन्य बीमारियों से ग्रसित होने के चलते भर्ती हो रहे हैं, उनकी रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि हो रही है। क्योंकि वे कोरोना के आइसोलेशन वार्ड में ना होकर अन्य वार्डो में भर्ती हैं, इसके चलते उन वार्डो में भर्ती अन्य मरीज और खासकर उनके इलाज में लगे चिकित्साकर्मियों पर भी संक्रमण का खतरा बढ़ गया है।

06/04/2020