Dainik Navajyoti Logo
Friday 25th of June 2021
 
राजस्थान

भरतपुर के पूर्व राजपरिवार का नहीं थम रही राजनीतिक कलह, विश्वेन्द्र के बेटे के नए ट्वीट विश्वासघात से मची हलचल

Friday, June 11, 2021 10:35 AM
फाइल फोटो।

जयपुर। पूर्व राजपरिवार के सदस्य और पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के बेटे अनिरुद्ध सिंह के एक और ट्वीट ने राजनीतिक हलकों में हलचल मचा दी है। इस ट्वीट के बाद यह भी उजागर हो गया कि पूर्व राजपरिवार के सदस्यों पिता और पुत्र के बीच उपजा कलह अभी थमा नहीं है। अनिरुद्ध सिंह ने यह ट्वीट उस घटना के बाद किया, जब बुधवार की देर शाम विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ हूं और गहलोत आलाकमान की पसंद है। पूर्व मंत्री के इस बयान के बाद रात करीब दो बजे उनके पुत्र अनिरुद्ध ने ट्वीट किया कि आज मुझे एक नया शब्द विश्वासघात सीखने को मिला। इससे पहले अनिरुद्ध ने दिन में भी एक ट्वीट किया था कि मैं सचिन पायलट को मेरे नेता, मित्र और मार्गदर्शक के रूप में देखता हूं और उनके साथ मजबूती से खड़ा हूं।

पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह को पायलट ग्रुप का माना जाता था, लेकिन बुधवार को दिए उनके बयानों ने बहुत कुछ स्पष्ट कर दिया। उनके इस बयान से उनका पुत्र अनिरुद्ध काफी खफा है और उस बयान की काट के लिए मध्य रात के बाद ट्वीट भी किया। उसके ट्वीट से साफ है कि वह अपने पिता पर विश्वासघात के आरोप लगा रहे हैं। पूर्व राजपरिवार के दोनों सदस्यों के बीच उपजे कलह का सबसे बड़ा कारण भी प्रदेश की राजनीतिक सियासत है।

विश्वेन्द्र का सीएम से मिलना अनिरुद्ध को अखर रहा
पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह का मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बार-बार मिलना अनिरुद्ध को अखर रहा था। दोनों पिता-पुत्र के बीच उपजा राजनीतिक कलह 31 मई को खुलकर उजागर हो गया था। उस दिन पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के बेटे अनिरुद्ध सिंह ने उनके खिलाफ बगावत कर दी थी। अनिरुद्ध ने 31 मई को सुबह करीब 11:30 बजे एक ट्विटर के जरिए इसकी पुष्टि की थी। हालांकि इस ट्वीट को चार घंटे बाद हटा लिया गया था। इस ट्वीट में अनिरुद्ध ने अपने पिता विश्वेंद्र सिंह पर मां के प्रति हिंसक होने और शराबी होने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए थे।

अनिरुद्ध सिंह ने ट्वीट किया था कि पिछले छह सप्ताह से मैं अपने पिता के संपर्क में नहीं हूं। वे मेरी मां के प्रति हिंसक हो गए हैं और कर्ज ले लिया, शराबी हो गए हैं, जो दोस्त मेरी मदद करते हैं, उनके बिजनेस बर्बाद कर दिए हैं। यह केवल राजनीतिक विचारधाराओं का अंतर नहीं है। विश्वेंद्र सिंह की इच्छा के खिलाफ अनिरुद्ध ने उनके ट्विटर हैंडल से ऐसे ट्वीट भी करवाए थे, जो उनकी पॉलिटिकल लाइन के खिलाफ  थे, क्योंकि उनसे विश्वेन्द्र को नुकसान हुआ। इसको लेकर दोनों के बीच झगड़ा भी हुआ। बेटे से झगड़े के बाद उन्होंने अपने ट्विटर, फेसबुक सहित सभी सोशल मीडिया अकाउंट बंद करवा दिए थे।

पिता पर शराबी और हिंसक होने तक के आरोप लगाए
अनिरुद्ध ने अपने पिता के खिलाफ बगावत करते हुए उन्हें सार्वजनिक रूप से काफी बदनाम किया है। हालांकि अनिरुद्ध ने पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के दखल के बाद ट्वीट को डिलीट किया था। उन्होंने लिखा था कि पायलट कहें तो मैं अपनी गर्दन भी कटवा दूंगा। अनिरुद्ध के इस कदम को विश्वेन्द्र सिंह के समर्थकों ने गलत करार देते हुए सोशल मीडिया पर तल्ख टिप्पणियां भी की थी। पिता और पुत्र के बीच कलह सार्वजनिक होने के बाद पूर्व राज परिवार की किरकिरी तो हुई है, लेकिन साथ ही कांग्रेस की सियासत भी गरमा गई है। अनिरुद्ध ने पहले भी ट्वीट पर लिखा था कि पायलट  साहब कहेंगे तो गर्दन भी कटवा दूंगा। उनके इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं।
 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

ब्रह्माकुमारी की मुखिया दादी हृदयमोहिनी का देहावसान, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की मुखिया राजयोगिनी दादी हृदयमोहिनी का गुरुवार सुबह देवलोकगमन हो गया। 93 वर्ष की आयु में उन्होंने मुम्बई के सैफी हास्पिटल में अंतिम सांस ली। उन्हें दिव्य बुद्धि का वरदान प्राप्त था। एयर एंबुलेंस से उनके पार्थिव शरीर को शांतिवन लाया गया।

12/03/2021

निर्धारित कीमत से दोगुना तक मंहगे बिके आवास

आमजन को आसानी से आवास लेने के लिए राजस्थान आवासन मंडल की ई-आॅक्शन योजना में प्रतापनगर जयपुर के आवासों की पहली लॉटरी में 16 प्रतिशत आवासों की ही बिक्री हो सकी।

06/10/2019

प्रदेश में जिला स्तर पर तैयार होंगे आइसोलेशन सेंटर, होटल व निजी भवन किए जा रहे चिन्हित

कोरोना के संक्रमण फैलने की आशंकाओं के चलते राजस्थान सरकार अब जिला स्तर पर आइसोलेशन सेंटर बनाने जा रही है। जिलेवार बनने वाले इन सेंटरों में संदिग्ध मरीजों को रखा जाएगा, ताकि आमजन में कोरोना संक्रमण नहीं फैल पाएं।

23/03/2020

घूसखोरों पर एसीबी का शिकंजा, जयपुर में कांस्टेबल 10 लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार

प्रदेश में सबसे ज्यादा घूस लेते रंगे हाथों पुलिसकर्मी गिरफ्तार होते है, लेकिन मंगलवार को एक ही दिन में परिवहन निरीक्षक, कांस्टेबल, हैड कांस्टेबल, एएसआई और सब इंस्पेक्टर घूस लेते दबोचे गए।

28/10/2020

नशे में धुत डॉक्टर ने ऑटो और तीन सिपाहियों को मारी टक्कर

जवाहर लाल नेहरू मार्ग (जेएलएन) पर आए दिन हो रहे हादसे पुलिस की सख्ती से भी नहीं रुक पा रहे हैं। ऐसा ही एक हादसा फिर से जेएलएन पर हुआ है।

20/11/2019

'किलर प्वाइंट' बना जेडीए सर्किल, कार की टक्कर से 20 फीट दूर जाकर गिरा युवक

शहर का अतिव्यस्त चौराहा जेडीए सर्किल काल का चौराहा बन चुका है। यहां पिछले 62 घंटों में रूह कंपाने वाले दो हादसे हुए हैं।

20/07/2019

विश्व शांति कार रैली को डीजीपी भूपेन्द्र सिंह ने दिखाई हरी झंडी

महानिदेशक पुलिस भूपेन्द्र सिंह ने स्थानीय होटल क्लार्क्स आमेर में आयोजित विश्व शांति कार रैली के फ्लेट आॅफ’ सैरेमनी में साबरमती से लंदन तक निकाले जाने वाली 17 हजार किलोमीटर लम्बी विष्व शांति कार रैली को राजस्थान पुलिस का ध्वज लंदन पुलिस को दिये जाने के लिए प्रदान किया तथा हरी झण्डी दिखाकर रैली को आगे के लिए रवाना किया।

02/07/2019