Dainik Navajyoti Logo
Sunday 19th of September 2021
 
राजस्थान

युवा पीढ़ी सोशल मीडिया के साथ साहित्य और संस्कृति से हो रूबरू : गहलोत

Sunday, February 09, 2020 11:05 AM
पुस्तक का विमोचन किया।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि युवा पीढ़ी सोशल मीडिया के साथ-साथ साहित्य, संस्कृति और संस्कारों से रूबरू हो। इससे उनका बौद्धिक विकास तो होगा ही उन्हें देश-दुनिया और समाज की वास्तविकता भी पता चल सकेगी। उन्होंने कहा कि साहित्यकार अपनी रचनओं से जनमानस को सही दिशा देने में आगे आएं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पत्रकार, साहित्यकार और लेखकों को सम्मान और सुविधाएं देने में किसी तरह की कमी नहीं रखेगी।

मुख्यमंत्री गहलोत शनिवार को इन्द्रलोक सभागार में काव्या फाउंडेशन,जयपुर की ओर से आयोजित काव्य संध्या और साहित्यकार सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि साहित्य किसी भी देश के भूत, भविष्य और वर्तमान का दर्पण होता हे। साहितय और साहित्यकारों का सम्मान राज्य की परंपरा रही है। इससे नई पीढ़ी को प्रेरणा मिलती हे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार साहित्यकारों और लेखकों को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से बजट घोषणा के अनुरूप राजस्थान लिटरेचर फेस्टिवल जल्द ही आयोजित कराएगी।

साहित्य है समाज का दर्पण
कला व संस्कृति मंत्री डॉ. बीडी कल्ला ने कहा कि साहित्य समाज का दर्पण है। जितना अच्छा साहित्य होगा उतना ही अच्छा हमारा समाज होगा। उन्होंने काव्या संस्था के साहित्य व संस्कृति को आगे बढ़ाने के प्रयासों की सराहना की। काव्या फाउंडेशन के संस्थापक डॉ. परीक्षित सिंह ने कहा कि काव्य एक संस्कृति है। काव्य और कला के बिना हमारा पूर्ण विकास नहीं हो सकता। आरटीडीसी के पूर्व चेयरमैन एवं कार्यक्रम संयोजक राजीव अरोड़ा ने काव्या फाउंडेशन की गतिविधियों की विस्तृत जानकारी दी।

पुस्तक का किया विमोचन
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने जस्टिस शिवकुमार शर्मा, बाल साहित्यकार गोविन्द शर्मा, लेखिका डॉ. जेबा रशीद, पत्रकार डॉ. यश गोयल एवं सांस्कृतिक समीक्षक सर्वेश भट्ट को काव्या सम्मान 2020 से सम्मानित किया गया। उन्होंने डॉ. पीक्षित सिंह के कविता संग्रह परमहंस एवं लेखिका नंदिनी सिंह की पुस्तक हाउस आॅफ बटरफ्लाइज का विमोचन भी किया।

आपसी सद्भाव और भाईचारे को देना चाहिए बढ़ावा
मुख्यमंत्री ने प्रसिद्ध लेखक गुरु रवीन्द्रनाथ टैगोर की उदृत करते हुए कहा कि मानवता राष्ट्रवाद से बड़ी है। उनका कहना था कि मानवता ही नहीं बचेगी, तो राष्ट्रवाद कहां रहेगा। देश में मानवता को भूलकर छद्म राष्ट्रवाद का माहौल बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमें संविधान की मूल भावना का आदर करते हए आपसी सद्भाव और भाईचारे को बढ़ावा देना चाहिए।

ये रहे कार्यक्रम में मौजूद
कार्यक्रम में साहित्यकार इकराम राजस्थानी ने रवीन्द्रनाथ टैगोर की रचना गीतांजलि के स्वरचित राजस्थानी अनुवाद अंजली गीतां री का पाठ किया। इससे पहले काव्या राजस्थान के अध्यक्ष वीर सक्सेना ने स्वागत उद्बोधन दिया। कार्यक्रम में कृषि राज्य मंत्री भजनलाल जाटव, कार्यक्रम के प्रमुख समन्वयक सेवानिवृत आईएएस डॉ. सत्यनारायण सिंह सहित साहित्यकार, पत्रकार, लेखक एवं गुणीजन उपस्थित थे। इस अवसर पर एक काव्य गोष्ठी का भी आयोजन किया गया जिसमें हबीब कैफी, लोकेश कुमार सिंह साहिल, बनज कुमार बनज, शिफाली जोधपुरी, कल्पना गोयल, रेनू, कल्याण सिंह शेखावत एवं कविता मुखर आदि ने काव्य पाठ किया।

 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

चोर अब मंदिरों को बना रहे हैं निशाना

चोर और लुटेरे अब मंदिरों को निशाना बना रहे हैं। तड़के करीब सवा तीन बजे चार नकाबपोश लुटेरों ने मंदिर में दो कर्मियों को पिस्टल दिखाकर बंधक बना लिया और मंदिर से अष्टधातु की चार मूर्तियां और पांच किलो चांदी के चार सिंहासन लेकर फरार हो गए। इस संबंध में मंदिर चौकीदार नवरतन ने थाने में लूट का मामला दर्ज कराया गया है।

06/02/2021

होनहार विद्यार्र्थियों के साथ कमजोर पर भी रखेंगे नजर

उदयपुर। शिक्षा विभाग फिलहाल सरकारी स्कूलों में अर्द्धवार्षिक परीक्षाओं की तैयारियां कर रहा है लेकिन साथ ही अगले साल फरवरी के अंत तक होने वाली बोर्ड परीक्षाओं के लिए भी मंथन शुरू कर दिया है।

01/12/2019

सरकार ने एमपीयूएटी को लिखा,टिड्डी दलों की दिशा बदलें

उदयपुर। दक्षिणी राजस्थान में टिड्डियों के तीन बार हो चुके आक्रमण से चिंतित प्रदेश सरकार ने महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (एमपीयूएटी) को हाल ही पत्र लिखकर इन टिड्डियों के दक्षिणी राजस्थान में प्रवेश को रोकने संबंधित जतन करने को निर्देशित किया है।

19/06/2020

आवासन आयुक्त ने किया जिम और कैफे का उद्घाटन

राजस्थान आवासन मंडल के आयुक्त और आरएएस क्लब के संरक्षक पवन अरोड़ा ने शनिवार को आरएएस क्लब हाउस के जिम और कैफे का उद्घाटन किया।

09/02/2020

कमिश्नरेट ने जारी की एएनपीआर ऐप

पुलिस कमिश्नरेट ने सड़क सुरक्षा कोष से मिले बजट से एएनपीआर और गोल्डन ऑवर्स ऐप जारी की। शहर के 11 एंट्री एग्जिट पॉइंट पर एआई बेस्ड कैमरे लगेंगे।

23/01/2020

गुर्जर आंदोलन के दौरान दर्ज मुकदमे वापस होंगे, कालीबाई योजना से अलग होगी देवनारायण योजना

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारियों की शासन सचिवालय में मुख्य सचिव डीबी गुप्ता और अन्य अधिकारियों के साथ बैठक हुई।

18/01/2020

अपराध रोकने को लिए दो बड़े फैसले, हर मोबाइल और सिम खरीदार की पुलिस को देनी होगी सूचना

अवैध दस्तावेजों से मोबाइल-सिम लेकर वारदात करने की कई वारदातें सामने आ चुकी हैं। दस्तावेज का सत्यापन नहीं होने के कारण आरोपी फरार हो जाते हैं। एडिशनल पुलिस कमिश्नर (द्वितीय) राहुल प्रकाश ने इस बार शहर में अपराध को रोकने के लिए दो बड़े फैसले लिए हैं। इसके आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। ये दोनों ही आदेश धारा 144 के तहत प्राप्त शक्तियों के आधार पर 5 जनवरी से 4 मार्च 2021 तक प्रभावी रहेंगे।

05/01/2021