Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 11th of May 2021
 
राजस्थान

युवक ने हथौड़े से बुजुर्ग मां और भाई को मौत के घाट उतारा, पिता व 3 अन्य भाइयों को किया जख्मी

Friday, April 09, 2021 10:45 AM
आरोपी (बीच में) को मोटरसाइकिल पर ले जाते पुलिसकर्मी।

भिनाय। कस्बे में केकड़ी रोड पहाड़ी के नीचे स्थित एक मकान में बुधवार रात कलियुगी पुत्र अपने ही परिवार के लिए काल बन गया। उसने अपनी मां और छोटे भाई के सिर पर हथौड़े से ताबड़तोड़ वार कर निर्मम हत्या कर दी। पिता व तीन भाइयों को गंभीर घायल कर दिया। भाभी ने कमरे में छिप कर अपनी जान बचाई। वहीं शोर सुनकर आए पड़ोसी पर भी हथौड़े से हमला कर मौके से फरार हो गया। वारदात के 13 घंटे बाद भिनाय पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से आरोपी को पकड़ लिया। आरोपी ने परिवार पर हमला करना तो स्वीकारा लेकिन ऐसा क्यों किया, यह नहीं बता पा रहा है। सनसनीखेज वारदात से कस्बे में मातम छा गया है।

पिता से कहा- आप परेशान मत हो
शोर-शराबे की आवाज सुनकर बाहर सो रहे अमरचंद के पिता रामधन ने घर में आने की कोशिश की परंतु दरवाजा अंदर से बंद था। इस पर रामधन घर के पीछे लगे पेड़ पर चढ़कर छत से घर के अंदर पहुंचा। अमरचंद ने पिता से कहा कुछ नहीं हुआ है, आप परेशान मत हो। यह कहकर उसने पिता के सिर पर भी हथौड़े से हमला कर दिया। इसी बीच परिवार वालों की चीख-पुकार सुनकर आस पड़ोस के लोग मौके पर पहुंचे। अमरचंद बीच-बचाव करने आए पड़ोसी भंवरलाल माली पर हमलाकर कर मौके से फरार हो गया।

जयपुर में दोनों भाई साथ पढ़ते थे
दोहरे हत्याकांड का आरोपी अमरचंद अपने छोटे भाई शिवराज के साथ एक ही कमरे में जयपुर में पढ़ाई करता था। शिवराज पटवारी परीक्षा की तैयारी कर रहा था जबकि आरोपी अमरचंद रीट की तैयारी कर रहा था। आरोपी के दूसरे भाई ओमप्रकाश, भागचंद व ताराचंद झोटवाड़ा में एक साथ काम करते थे। भिनाय में केवल माता-पिता ही रहते थे।

गेट बंद करने से बच गई रेखा
अपने देवर का तांडव देख ताराचंद की पत्नी रेखा उसके चंगुल से छूटकर कमरे में भाग गई और अंदर से किवाड़ बंद कर दिया। इससे वह कातिलाना हमले से बच गई। वहीं ओमप्रकाश की पत्नी अनिता पीहर गई हुई थी।

मृतकों को घसीटने के साक्ष्य मिले
वारदात स्थल पर कमरा व बरामदा खून से सना देख ग्रामीण सन्न रह गए। वारदात स्थल पर मृतकों को घसीटने जैसे तथ्य भी मिले। कमरे, बरामदे, मकान के पिछवाड़े व दीवारों पर भी खून लगा हुआ था।  

हर शख्स की जुबां पर एक ही सवाल- क्यों मारा?
कस्बे में हुआ दोहरा हत्याकांड पुलिस, ग्रामीणों व परिवार के लिए फिलहाल पहेली बना हुआ है। कोई आरोपी को सीधा सादा युवक बता रहा है तो कोई उसे साइको कह रहा है। कुछ लोगों ने हत्याकांड का संबंध जयपुर से भी जोड़ रहे हैं। फिलहाल आरोपी ने पुलिस के सामने हत्या करना तो कबूल कर लिया लेकिन हत्या क्यों की, इस बारे में यह कहकर चुप्पी साध ली कि मुझे ही नहीं पता।

जयपुर से परिवार सहित आए हुए थे पांचों पुत्र
केकड़ी रोड किले की पहाड़ी की तलहटी में रामधन पुत्र मांगीलाल जांगिड़ का मकान है। इसमें वह पत्नी संग रहता है। इन दिनों जयपुर से उसके पांचों पुत्र भी परिवार सहित आए हुए थे। बुधवार रात लगभग 2 बजे रामधन के तीसरे नंबर के पुत्र अमरचंद (25) ने अपने ही परिवार को खत्म करने की साजिश रची। उसने बिजली का कट आउट निकालकर पूरे घर में अंधेरा कर दिया। फिर परिवार के एक-एक सदस्य पर हथौड़े से हमला करना शुरू कर दिया। उसने सबसे पहले नीचे कमरे में सो रही मां कमला देवी (60) के सिर में हथौड़े से जोरदार वार कर हत्या कर दी। इसके बाद पास ही के कमरे में सो रहे छोटे भाई शिवराज (22) को यह कहकर जगाया कि मां बुला रही है। शिवराज के जगते ही उसके सिर पर भी हथौड़े से ताबड़तोड़ वार कर मौत की नींद सुला दिया। उसके बाद नीचे बरामदे में सो रहे बड़े भाई ओमप्रकाश व उसकी बेटी वंशिका पर भी हथौड़े से हमला कर दिया। अमरचंद का जुनून यही खत्म नहीं हुआ। उसने बुधवार को ही अपेंडिक्स का ऑपरेशन कराकर घर लौटे भाई भागचंद पर भी हथौड़े से जानलेवा हमला कर दिया। इन सबको मरा हुआ समझकर आरोपी अमरचंद छत पर बने कमरे में सो रहे बड़े भाई ताराचंद व भाभी रेखा को मारने के इरादे से छत पर पहुंच गया। उसने भाई व भाभी को भागचंद की तबीयत खराब होने का हवाला देते हुए पानी गर्म करने के लिए नीचे आने के लिए कहा। नीचे पहुंचते ही अमरचंद ने भाई ताराचंद के सिर में हथौड़े से वार कर दिया। यह देख भाभी रेखा जोर-जोर से चिल्लाने लगी तो उसने भाभी का गला दबाकर मारने की कोशिश की। रेखा ने जैसे-तैसे भागकर पास वाले कमरे में अपने आपको बंद कर जान बचाई।

13 घंटे बाद जंगल से दबोचा
आरोपी अमरचंद वारदात अंजाम देकर रात लगभग ढाई बजे फरार हो गया। उसकी तलाश में पुलिस व ग्रामीणों ने पूरे दिन जंगल व पहाड़ियों की खाक छानी। पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए डॉग स्क्वॉयड डॉग की भी मदद ली। शाम करीब साढ़े 5 बजे निमेड़ा व लामगरा के जंगल में आरोपी अमरचंद ग्रामीणों की मदद से दबोचा गया। नृशंस हत्याकांड के आरोपी ने फिलहाल पुलिस के सामने कोई राज नहीं खोला।

घर से नहीं उठी अर्थियां
अपने ही बेटे के हाथों मारी गई कमला व भाई शिवराज की अंतिम विदाई अपने घर से न होकर पड़ोस के घर से हुई। क्योंकि वारदात स्थल को पुलिस ने सीज कर दिया है। मृतक मां-बेटे का गमगीन माहौल में दाह संस्कार किया गया। उधर, सभी घायलों को अस्पताल में उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। केवल ओमप्रकाश उपचाररत है।

यह भी पढ़ें:

जयपुर जेल में कोरोना को लेकर हाईकोर्ट ने लिया प्रसंज्ञान, जेलों के निरीक्षण के लिए कमेटियां गठित

जयपुर की जिला जेल में कोरोना संक्रमण के विस्फोट के बाद इस मामले में हाइकोर्ट ने स्वप्रेरणा से प्रसंज्ञान लेते हुए सुनवाई की। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान जेल प्रशासन को विस्तृत दिशा निर्देश दिए। कोर्ट ने जेलों के निरीक्षण के लिए कमेटियां गठित की है।

17/05/2020

जयपुर में पुलिस मास्क महाअभियान की शुरुआत, 3 दिन में वितरित किए जाएंगे 5 लाख मास्क

प्रदेश में कोरोना का कहर दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना के इलाज के लिए अभी तक वैक्सीन भी नहीं आई है, ऐसे में मास्क ही बचाव का साधन है। इसको लेकर रविवार को जयपुर पुलिस की ओर से पुलिस मास्क महा अभियान की शुरुआत की गई है।

25/10/2020

जनता सेवा की आड़ में खुद और पार्टी को चमकाने की जुगत, सभी पार्टियों में नेताओं का यह हाल

कोरोना संक्रमण के बीच आम और गरीब लोगों की मदद करने के एवज में कुछ पार्टियों के नेता खुद को होर्डिंग, बैनर के माध्यम से चमकाने में लगे हुए हैं। कुछ नेता समाजसेवी बनकर खुद की एनजीओ और संस्थाओं का प्रचार कर रहे हैं।

06/04/2020

जयपुर: 115 फीट गहरा खड्डा खोदकर बोरबेल से निकाला शव, जांच में जुटी पुलिस

विश्वकर्मा थाना इलाके में मानोहपुर इलाके में बोरबेल में शव को फेंके जाने के मामले में पुलिस आखिरकार सफलता मिल गई है।

19/10/2019

राजस्थान में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 13909, अबतक 331 लोगों की मौत

राजस्थान में वैश्विक महामारी कोरोना के शुक्रवार को 52 और मामले सामने आने से कोरोना संक्रिमतों की संख्या बढ़कर 13909 पहुंची गई है, वहीं प्रदेश में कोरोना से जयपुर में 1 और मरीज की मौत हो जाने से मृतकों का आंकड़ा 331 पहुंच गया है।

19/06/2020

कोरोना वायरस: प्रदेश में 24 घंटे में 4 मौतें, 430 नए रोगी मिले, 3 जिलों में एक भी संक्रमित नहीं

कोरोना संक्रमण की स्थिति भी अब कम होती जा रही है। प्रदेश में शनिवार को 430 नए मामले सामने आए है, जिसमें जयपुर में 50 से अधिक मरीज मिले है, जबकि चूरू और जालौर में एक भी नया रोगी नहीं मिला है।

10/01/2021

डीबी गुप्ता ने सचिवालय में कर्मचारियों को दिलाई राष्ट्रीय एकता की शपथ

मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने सचिवालय में कर्मचारियों को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई। उन्होंने सचिवालय में गांधी की प्रतिमा के पास शपथ दिलाई।

31/10/2019