Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 11th of May 2021
 
राजस्थान

बाड़मेर: पुलिस हिरासत में RTI कार्यकर्ता की मौत, थाना अधिकारी लाइन हाजिर

Monday, October 07, 2019 10:30 AM
आरटीआई कार्यकर्ता जगदीश गोलिया (फाइल फोटो)

पचपदरा/बाड़मेर। बाड़मेर जिले के पचपदरा थाना में आरटीआई कार्यकर्ता जगदीश गोलिया की थाना में संदिग्ध मौत होने पर जिला पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी ने गंभीरता से लेते हुए महिला थाना अधिकारी को निलम्बित करने के साथ ही पूरे स्टाफ  को  लाइन हाजिर कर दिया है। वहीं गोलिया की माता वरजूदेवी द्वारा दी गई एफआईआर पर धारा 302 में मामला दर्ज किया गया। जिसकी जांच वृताधिकारी बालोतरा को दी गई। जानकारी के मुताबिक बाड़मेर के आरटीआई एक्टिविस्ट जगदीश गोलिया की शनिवार को पचपदरा पुलिस की हिरासत में मौत होने का मामला सामने आया हैं। जबकि पुलिस पूरे मामले को गोलमाल करने में जुट चुकी हैं। जगदीश गोलिया लम्बे अर्से से पुलिस के अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठा रहा हैं।

पुलिस के कई राज भी जगदीश जानता था। दरअसल, पुलिस की कहानी माने तो जगदीश को सीआरपीसी की धारा 151 के तहत हिरासत में लिया हुआ था। तहसीलदार के सामने पेश करने के दौरान उसकी तबीयत खराब हो गई और उससे उसकी मौत हो गई, लेकिन पुलिस की इस मनगढ़त कहानी को पहली नजर में ही खारिज किया जा सकता है। जगदीश हष्टपुष्ट नौजवान था। ऐसी कोई सीरियस बीमारी से पीड़ित नहीं था कि वह भगवान को यकायक प्यारा हो जाए। जगदीश पुलिस हिरासत में था, इसमें कोई शक नहीं। हिरासत में उसके साथ थर्ड डिग्री का इस्तेमाल किए जाने की बात को अब तो नकारा भी नहीं जा सकता। नाहटा अस्पताल में जगदीश के शव के पास उसका भाई खड़ा मिला। जो इसकी जमानत के लिए पचपदरा पहुंचा हुआ था। उसने भी पुलिस हिरासत मे मौत का आरोप लगाया हैं। वहीं जगदीश बाड़मेर कचहरी परिसर में पीटिशन राइटर हैं।

पेशी के दौरान हो गई थी तबीयत खराब
सूचना मिली की पचपदरा थाना क्षेत्र के सराणा में दो गुटों में आपसी झगड़ा हुआ है। जिस पर हैड़ कॉन्स्टेबल अमीन ने मौके पर जाकर जगदीश गोलिया, महेन्द्र सिंह व गोपाल सिंह को धारा 151 में गिरफ्तार कर थाना लेकर आए। जिसमें महेन्द्रसिंह व गोपालसिंह की जमानत हो चुकी थी, जगदीश गोलिया को आज तहसीलदार के समक्ष पेश करने के दौरान 
उसने तबीयत खराब होने की बात कही। जिसे नाहटा अस्पताल बालोतरा ले गए जहां डॉक्टरों से उसे मृत घोषित कर दिया।


दोषियों के विरुद्ध होगी कार्रवाई
जिला पुलिस अधीक्षक शरद चौधरी ने कहा कि इस संबंध में मृतक जगदीश गोलिया की माता वरजू देवी की एफआईआर पर धारा 302 में मामला दर्ज किया गया है। प्रथम दृष्टया पचपदरा थानाधिकारी को निलम्बित कर पूरे स्टाफ  को लाइन हाजिर कर दिया है। वहीं मजिस्ट्रेट की निगरानी में वीडियोग्राफ ी के साथ पोस्टमार्टम करवाया जाएगा। इस मामलें में निष्पक्ष जाचं करवाई जाएगी।

यह भी पढ़ें:

हॉकर की कुल्हाड़ी मारकर हत्या, मृतक के परिजनों को थाने से भगाया, एसएचओ सस्पेंड

खों नागोरीयन थाना इलाके में युवक की विवाद के बाद कुल्हाड़ी से हत्या कर दी गई। घटना के बाद लोगों ने आरोपी की पिटाई कर दी।

05/09/2019

राजस्थान में कोरोना से 100 की मौत, 3453 पहुंचा संक्रमितों का आंकड़ा

राजस्थान में 26 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने के साथ ही शुक्रवार को इसकी संख्या बढ़कर 3453 पहुंच गयी है, जबकि अब तक इससे मरने वाले लोगों की संख्या 100 से अधिक हो गयी है।

08/05/2020

जोधपुर में खुलेआम बिक रहा तेजाब और गर्भनिरोधक टेबलेट, दैनिक नवज्योति ने किया खुलासा

महिला सम्मान को लेकर किए जाने वाले बड़े-बड़े दावों के बीच पूरे देश में साल 2014 से 2018 के बीच 700 से ज्यादा एसिड अटैक की घटनाएं सामने आई है। इतना ही नहीं ऐसे कई मामले दर्ज ही नहीं होते और देश में एसिड हमले की घटनाएं आम हो जाती है, जिनका संज्ञान तक नहीं लिया जाता।

18/01/2020

दो करोड़ की ठगी करने वाले तीन बदमाश गिरफ्तार

नौकरी लगवाने, टेंडर दिलवाने और सस्ता सोना दिलाने का झांसा देकर करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के तीन बदमाशों को मानसरोवर थाना पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है।

08/06/2019

तेज रफ्तार ट्रक को रोकने में टूट गई जिंदगी की डोर, ट्रक चालक ने कांस्टेबल को 300 मीटर तक घसीटा

खो-नागोरियान थाना इलाके में आगरा रोड स्थित राजेश मोटर्स के पास गुरुवार दोपहर को दौसा की ओर से तेज रफ्तार में आ रहे ट्रक चालक ने ड्यूटी कर रहे इंटरसेप्टर के चालक की जान ले ली। हादसा इतना भयंकर था कि जिसने भी देखा वह स्तब्ध रह गया। सड़क पर खून ही खून बिखर गया।

23/10/2020

यूथ कांग्रेस में गुटबाजी और खींचतान: कई धड़ों में बंटे पदाधिकारी, 2 दर्जन पर लटकी अनुशासन की तलवार

कोरोना संकट के बीच युवा कांग्रेस में गुटबाजी चरम पर है अब तक अंदर खाने चल रही गुटबाजी अब खुलकर सामने आने लगी है। जिसके चलते कई पदाधिकारियों को निष्क्रियता के चलते बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। गुटबाजी के चलते हाल ही में 40 से ज्यादा पदाधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए थे।

22/04/2021

भ्रष्टाचार की शिकायत करने वालों को संरक्षण देगी गहलोत सरकार, सभी विभागों को परिपत्र जारी

उन्होंने कहा था कि प्रदेश में किसी प्रकार का भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और भ्रष्टाचार के विरोध में आवाज उठाने वालों को सरकार पूरा संरक्षण देगी।

10/12/2019