Dainik Navajyoti Logo
Friday 14th of May 2021
 
राजस्थान

फाइनल में कर्नाटक-तमिलनाडु की भिड़ंत आज

Thursday, February 20, 2020 23:15 PM
वीएफआई के महासचिव को स्मृति चिन्ह प्रदान करते हुए लोकसभाध्यक्ष।

चितौड़गढ़। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगेताकि आगामी दिनों में भारत विश्व में खेलों में अग्रणी पंक्ति में अपना स्थान बना सके। यूनियन क्लब की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष में प्रताप वॉलीबाल स्टेडियम में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की 33वीं फेडरेशन कप वॉलीबाल चेम्पियनशिप के 5वे दिन बुधवार देर रात्रि को मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि खेलों को बढ़ावा देने लिए इस तरह के व्यापक प्रसार किए जाने चाहिए, जिससे देश के दूर दराज ग्रामीण क्षैत्रों में भी खेलों को लेकर प्रोत्साहन मिल सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षैत्रों में प्रतिभाओं की कमी नही है। उन्हें भी अवसर दिया जाना चाहिए।बिड़ला ने कहा कि  जिस देश में खिलाडी होते है, वहां के नोैजवान देश भक्त भी होते है।


इससे पूर्व बिड़ला ने देर रात्रि को चितौड़ पहुंचकर हरियाणा एवं केरल के बीच पुरूष वर्ग में आयोजित संघर्ष पूर्ण मैच का आनन्द लिया। मैच की समाप्ति पर सांसद सी.पी. जोशी ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष समस्याओ का समाधान करने के लिए हमेशा तत्पर रहते है। सांसद ने कहा कि राजस्थान को इस बात का गर्व है कि इस प्रदेश का सांसद देश की सबसे बडी पंचायत का मुखिया है। अखिल भारतीय वॉलीबॉल फेडरेशन के महासचिव रामावतार जाखड ने लोकसभा अध्यक्ष का स्वागत करते हुए कहा कि बिरला भी खिलाड़ी रहे है।

उन्होंने कहा कि लोकसभा में खेलों एवं खिलाड़ियों के बारे में विचार विमर्श कर ऐसी नीति बनाई जानी चाहिए, जिससे खेलों को और अधिक प्रोत्साहन मिल सके। प्रारंभ में आयोजन समिति के सचिव एल.एल. पोखरना ने बताया कि राज्य में 33 वर्षो बाद इस प्रतियोगिता का आयोजन यूनियन क्लब की स्वर्ण जयंती के उपलक्ष में किया जा रहा है। प्रतियोगिता के दौरान बुधवार रात्रि  तक 24 मैच आयोजित किए जा चुके है।

लोकसभा अध्यक्ष के स्टेडियम पहुंचने पर आयोजन समिति के अध्यक्ष एवं जिला कलेक्टर चेतन देवड़ा, आयोजन सचिव एल.एल. पोखरना, जिला वॉलीबॉल संघ के अध्यक्ष ललित सेठिया, वीएफआई के पदाधिकारियों, सांसद सी.पी. जोशी, पूर्व मंत्री श्रीचंद कृपलानी , अनिल शर्मा, सचिन गुरनानी आदि ने स्वागत किया। वीएफआई के मौजूद पदाधिकारियों , सांसद सी.पी. जोशी, पूर्व मंत्री श्रीचंद कृपलानी का भी स्वागत किया गया। संचालन एडवोकेट प्रदीप काबरा एवं आभार प्रो. सी.एम. रांका ने व्यक्त किया। यूनियन क्लब की ओर से इस अवसर पर लोकसभाध्यक्ष को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया। भाजयुमो की ओर से भी बिड़ला को स्मृति चिन्ह प्रदान कर स्वागत किया गया।

आसान नहीं रही सेना की जीत
इससे पूर्व बुधवार रात्रि को राजस्थान एवं भारतीय सेना के बीच खेले गए मैच मे भारतीय सेना ने राजस्थान को 3-1 से पराजित कर दिया। राजस्थान की हार के बावजूद उसने चारों सेट में भारतीय सेना की जीत आसानी से नही होने दी। मेजबान राजस्थान टीम के कप्तान सुरेश खोईवाल ने शानदार खेल का प्रदर्शन किया। भारतीय सेना ने पहला सेट 25-23 से जीत लिया। पहले सेट में एक बार स्कोर 20-20 बराबरी तक पहुंच गया, लेकिन बाद में भारतीय सेना दबाव बनाने में सफल रही, लेकिन दूसरा सेट राजस्थान ने 25-22 से जीत लिया। स्टेड़ियम में बडी संख्या में मौजूद दर्शकों ने मेजबान टीम के पक्ष में जोरदार हुटिंग भी एवं समर्थन किया,लेकिन तीसरे सेट मे अंतिम समय में मेजबान टीम दबाव नही बना सकी, जिसके कारण तीसरा सेट भारतीय सेना ने 25-20 एवं चैथा 25-23 से जीत लिया। चार सेट होने के कारण दोनों टीमों के बीच निर्णय लगभग पौने दो घण्टे के खेल के बाद ही हो सका। बुधवार रात्रि को एक अन्य मैच रेलवे एवं भारतीय विश्ववि़द्यालय के बीच खेला गया। रेलवे टीम में शामिल राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों कप्तान असवाल राय, अंगामुथु, रोहित कुमार ने शानदार सर्विस एवं ब्लॉक डालकर अपनी टीम को 3-0 से जीत दिला  दी। केवल एक घण्टे में ही इस मैच का निर्णय हो गया। इस आयोजन के दौरान सभी की नजरें बुधवार रात्रि को खेले गए अंतिम मैच पुरूष वर्ग में केरल एवं हरियाणा पर लगी हुई थी, क्योंकि इसी मैच के आधार पर सेमीफाइनल में पहुंचने वाली दो टीमों का निर्णय और होना था, लेकिन गत वर्ष की चेम्पियनशिप जीतने वाली केरल की टीम ने अपना दबदबा बनाए रखा। केरला के कप्तान अजिथलाल के समर्थन में दर्शक बार बार नारेबाजी कर हौंसला अफजाही करते रहे, जिसने मैच के दौरान कई शानदार समेस, ब्लॉक का प्रदर्शन कर दर्शकों का दिल जीत लिया।  

केरल की टीम ने पहला सेट 25-19 से जीत लिया, लेकिन दूसरे सेट में हरियाणा की टीम ने उसे मात देते हुए यह सेट 25-22 से जीत लिया। इस मैच के दौरान दोनों टीमों के कोच बार बार टाइम आउट लेकर खिलाडियों को लगातार दिशा निर्देश देने में लगे रहे। तीसरा एवं चौथा सेट केरल ने लगातार 25-20, 25-21 से जीत लिया। इस मैच में पहली बार रेफरी को हरियाणा के कप्तान को यलो कार्ड दिखाकर चेतावनी देनी पड़ी। कप्तान बार -बार रेफरी के निर्णय से संतुष्ट दिखाई नही दिए। इस मैच के बाद केरल सेमीफाइनल में पहुंच गई। महिला वर्ग में केरल एवं रेलवे फाइनल में पहुंच चुकी है जिसके बीच शुक्रवार को अपरान्ह 4.30 बजे मुकाबला होगा जबकि शुक्रवार को प्रतियोगिता के अंतिम दिन पुरूष वर्ग में तीसरे एवं चौथे स्थान के लिए दोपहर  3 बजे मुकाबला होगा। पुरूष वर्ग का फाइनल मैच शुक्रवार शाम7 बजे होगा। समापन समारोह के मुख्य अतिथि केन्द्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर एवं राज्य के खेल मंत्री अशोक चान्दना होंगे।

इधर,गुरूवार को महिला वर्ग में रेलवे एवं महाराष्ट्र के बीच खेले गए मैच में रेलवे ने लगातार तीन सेट जीत लिए। इस मैच की मुख्य अतिथि दीपिका पोखरना, शोभना पोखरना, मधु सेठिया ने दोनो टीमों से परिचय प्राप्त किया।  इस मैच के बाद रेलवे एवं कर्नाटक के बीच पहला सेमी फाईनल मैच प्रारंभ हुआ,जिसके मुख्य अतिथि विधायक चन्द्रभान सिंह आक्या,राजस्थान वॉलीबॉल एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल चौधरी, उपाध्यक्ष राजेश आर्य,वीएफआई के उपाध्यक्ष रामलाल वर्मा ने दोनो टीमों से परिचय प्राप्त किया।

रोमांच से भरपूर रहा पहला सेमीफाइनल
पहला सेट रेलवे की टीम ने 25-22 से  जीत लिया,लेकिन दूसरे सेट में कर्नाटक की टीम रेलवे पर भारी पड़ी, एवं दूसरा सेट लगभग एक तरफा रहा। कर्नाटक ने यह सेट 25-12 से जीत लिया,लेकिन तीसरे सेट में भी कर्नाटक ने रेलवे पर दबदबा बनाए रखा,हालांकि तीसरे सेट में दोनों टीमों में  हुआ कड़ा मुकाबला रहा। अंतिम चरण में दोनोें टीमों के बीच कड़ी टक्कर चलती  रही। अंतिम क्षण में स्कोर 24-24 तक पहुंचने के बाद कर्नाटक ने लगातार दो स्कोर अपने खाते में कर तीसरा सेट 27-25 से अपने नाम कर लिया। दो सेट कर्नाटक ने जीत कर रेलवे में खलबली मचा दी। चौथे सेट में भी उस समय रोमांच बढ़ गया, जबकि दोनो टीमों का स्कोर 24-24 तक पहुंचने से ब्लॉक आउट की स्थिति बन गई। इस दौरान रेफरी के एक निर्णय से रेलवे के खिलाड़ियों ने आपत्ति व्यक्त की, जिसके कारण कुछ देर मैच रूका रहा एवं दर्शक कर्नाटक के पक्ष में नारेबाजी करने में लगे रहे।

दोनों रैफरी के बीच इस निर्णय को लेकर विचार विमर्श चलता रहा और आखिरकार रेफरी को कॉमन पोईन्ट देना पड़ा,जिसके बाद स्कोर 25-25,इसके बाद 26-26 हो गया, बाद में रेलवे के पक्ष में स्कोर 27-26 हो गया,पुन: स्कोर 27-27 होने से मैच का रोमांच अंतिम चरण में पहुंच गया। कर्नाटक ने फिर बाजी मारी एवं स्कोर 28-27 कर बाद में 29-27 तक पहुंचा कर   पहला सेमी फाईनल जीत लिया, जिसके बाद  खेले गए दूसरे सेमी फाइनल  में तमिलनाडु ने केरल को हराकर यह मैच अपने नाम कर लिया। इस तरह अब शुक्रवार को फाइनल मैच तमिलनाडु एवं कर्नाटक के बीच होगा। 

यह भी पढ़ें:

सचिवालय में बरती जा रही सोशल डिस्टेंसिग, जरूरी महकमों में काम कर रहे कुछ अफसर

मॉडीफाइड लॉकडाउन के दौरान शासन सचिवालय में केवल जरूरी कामकाज ही निपटाया जा रहा है। कुछ चुनिंदा अफसरों और विभागीय स्टाफ के अलावा पूरा परिसर सूना पड़ा है। कार्मिक, मेडिकल, खाद्य, आपदा प्रबंधन जैसे महकमों में ही जरूरी काम होते नजर आ रहे हैं। सचिवालय में अलग-अलग करीब 9 भवनों में ज्यादातर कमरे सूने पड़े है।

21/04/2020

अशोक गहलोत ने सीएमओ में ली बैठक

सीएम अशोक गहलोत सीएमओ में बैठक ले रहे है, जिसमें मंत्री बीडी कल्ला, ऊर्जा प्रमुख सचिव सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद है।

03/08/2019

सदस्यता अभियान को गति देने के लिए प्रवास करेंगे भाजपा के सांसद और विधायक

पूनिया ने आज बताया कि इस कार्यक्रम के दौरान सभी सांसद एवं विधायक सदस्यता अभियान को गति देने के लिये अपने संसदीय एवं विधानसभा क्षेत्र में मौजूद रहेंगे।

26/07/2019

बागी विधायक विश्वेंद्र सिंह ने साधा निशाना, कहा- जनता का काम करते तो आज यह नौबत नहीं आती

राज्य में चल रहे सियासी संग्राम के बीच पूर्व पर्यटन मंत्री एवं पायलट गुट के विधायक विश्वेन्द्र सिंह ने कहा है कि अगर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पिछले डेढ़ साल में प्रदेश की जनता एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं के काम करते तो आज यह नौबत नहीं आती।

01/08/2020

केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह का कांग्रेस पर आरोप, कहा- स्वामीनाथन रिपोर्ट का तकिया बना सोती रही

स्थानीय सांसद और केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कृषि कानूनों पर कांग्रेस समेत विपक्ष दलों पर झूठ बोलकर किसानों को भ्रमित करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कांग्रेस से पूछा कि यदि आज किसानों की इतनी चिंता हो रही है तो यूपीए सरकार 2006-2014 तक स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट का तकिया बनाकर क्यों सोती रही?

23/09/2020

आई एम शक्ति योजना लॉन्च

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि एक महिला में घूंघट नहीं है तो राजस्थान में क्यों। वे बुधवार को महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा इंदिरा गांधी महिला शक्ति निधि की योजना के शुभारम्भ समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रहे थे।

19/12/2019

कोरोना के विरूद्ध जन आन्दोलन को लेकर संवाद, गहलोत बोले- मास्क होगा अनिवार्य, लाएंगे कानून

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रदेश में मास्क को अनिवार्य किया जाएगा और इसके लिए जल्द ही कानून बनाया जाएगा। गहलोत ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कोरोना के विरूद्ध जन आन्दोलन की सफलता को लेकर जिला कलेक्टरों, कॉलेजों के प्राचार्यों, नगर निगम एवं नगर परिषद के अधिकारियों, जिला खेल अधिकारियों, जिला शिक्षा अधिकारियों आदि से संवाद किया।

27/10/2020