Dainik Navajyoti Logo
Monday 14th of June 2021
 
राजस्थान

भाजपा की कोर कमेटी की बैठक, विधानसभा सत्र के बाद सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी भाजपा

Monday, January 25, 2021 09:55 AM
भाजपा कार्यालय में हुई कोर कमेटी की बैठक।

जयपुर। राजस्थान में भाजपा के कोर ग्रुप का गठन के एक दिन बाद ही कोर कमेटी की बैठक पार्टी कार्यालय में हुई। कमेटी में कुल 16 सदस्यों में से 13 मौजूद थे। पूर्व सीएम वसुंधरा राजे, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और राज्यसभा सांसद व राष्ट्रीय महामंत्री भूपेन्द्र यादव नहीं आए। राजे का बैठक में ना आना सियासी गलियारों में चर्चा का विषय रहा, लेकिन प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने उनके पारिवारिक कारणों के चलते नहीं आने की जानकारी पहले से ही दे देने की सूचना मीडिया को दी। राजे की पुत्रवधु की तबीयत नासाज होने के कारण वे नहीं आईं। वहीं कटारिया और यादव ने भी नहीं आने की जानकारी पहले ही दे दी थी।  

बैठक में चार विधानसभा सीटों सहाड़ा, सुजानगढ़, राजसमंद और वल्लभनगर के प्रस्तावित उपचुनावों में पार्टी की जीत की रणनीति, आगामी गतिविधियों, सरकार को घेरने के आगामी संभावित मुद्दों को लेकर गहन चर्चा हुई। बैठक में तय किया है कि विधानसभा बजट सत्र के बाद पार्टी सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी। किसानों की संपूर्ण कर्जमाफी सहित अन्य मुद्दों को लेकर, बेरोजगारी भत्ता, लंबित भर्तियों, कानून व्यवस्था को लेकर प्रदेशभर में आंदोलन किया जाएगा। उपचुनाव में भी लोकल मुद्दों को जोर-शोर से उठाया जाएगा। प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने बैठक में साफ कहा कि आगामी उपचुनावों में गुटबाजी से उभरकर और मिलकर पार्टी को जीत दिलाए। हर माह कोर कमेटी की बैठक हो, उसमें तय होने वाले एजेंडे के अनुरूप पार्टी आगे बढ़े। कमेटी से पहले सिंह ने प्रदेश महामंत्रियों के साथ भी बैठक की।

बैठक में यह रहे मौजूद
प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह, सहप्रभारी भारती बेन शियाल, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर, राज्ससभा सांसद ओमप्रकाश माथुर, तीनों केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, कैलाश चौधरी, राष्ट्रीय मंत्री अलका सिंह गुर्जनर, सांसद राजेन्द्र राठौड़, कनकमल कटारा, सीपी जोशी मौजूद रहे।

सब नेता मिलकर उपचुनाव लड़ेंगे और जीतेंगे। मैं खुद विधानसभाओं में गया हूं। ग्रामीण क्षेत्रों में जनता में बढ़ा आक्रोश सरकार के खिलाफ है, यहीं कांग्रेस की हार का कारण बनेगा। भाजपा आश्वस्त है कि निकाय चुनावों में भी पार्टी को बढ़त मिलेगी। कानून व्यवस्था, बेरोजगारी, बिजली, कर्जमाफी सहित अनेक मुद्दे हैं, जिस पर सदन में सरकार घिरेगी। बैठक में संगठन की मजबूती, कमी-खामी सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई है। सोशल मीडिया का प्लेटफॉर्म सत्यता से दूर होता है। संसदीय बोर्ड ही सर्वशक्तिमान होता है, जिसको नेता तय करेगा उसे स्वीकार करेंगे।
-सतीश पूनिया, प्रदेशाध्यक्ष, भाजपा  

सीएम की रेस पर बोले सिंह, संसदीय बोर्ड तय करेगा चेहरा
अरुण सिंह ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने राजस्थान में चुनावों से तीन साल पहले ही भाजपा में शुरू हुई सीएम चेहरे की रेस और आपसी गुटबाजी को लेकर नेताओं को इशारों ही इशारों में नसीहत दी कि पार्टी में गुटबाजी नहीं चलेगी। आपस में नेताओं की राय अलग-अलग यानि मतभेद हो सकता है, लेकिन मनभेद नहीं होना चाहिए। कई नेताओं के खुद को सीएम का आगामी चेहरा होने को लेकर चल रही टीमों-सोशल ग्रुपों पर कहा कि चुनाव आने तक कई और नेता सोशल मीडिया पर सीएम का चेहरा बनेंगे, लेकिन सीएम कौन होगा, चुनावों से पहले होगा भी या नहीं, यह सब सोशल मीडिया नहीं भाजपा का संसदीय बोर्ड तय करेगा।

कांग्रेस में नेता आपस में भी कंफ्यूज्ड
सिंह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके नेता आपस में कंफ्यूज्ड हैं, मुद्दों पर लेकर आपस में ही सहमत नहीं होते। लॉकडाउन को लेकर राहुल गांधी ने पहले कहा था कि केन्द्र इसे कब हटाएगा, जबकि कांग्रेस शासित राज्यों के सीएम इसे बढ़ाने की मांग कर रहे थे। वैक्सीन पर राहुल सवाल करते हैं कि कब आएगी, आ गई तो उनके नेता उस पर सवाल उठा रहे हैं। किसानों के कृषि बिलों पर पहले कांग्रेस घोषणा पत्र में समर्थन करती है, बाद में यू-टर्न लेती है। यह कांग्रेस का दोहरा चरित्र है, कंफ्यूज्ड पार्टी है। राजस्थान में दो साल में कांग्रेस सरकार जनता का विश्वास खो चुकी है। जिला परिषद चुनावों के बाद विधानसभा उपचुनावों में भी भाजपा लीड करेगी। उन्होंने सरकार को किसानों की कर्जमाफी, बेरोजगारी भत्ता, कानून व्यवस्था, पेट्रोल-डीजल पर अत्याधिक वैट, भ्रष्टाचार सहित अन्य मुद्दों पर भी घेरा। कहा कि प्रदेश में अभी चुनाव करा लिए जाएं तो दो-तिहाई बहुमत से भाजपा की सरकार बनेगी।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

एकता ही हमारी संस्कृति की ताकत: कलराज मिश्र

विश्व हमारा है और हम विश्व के हैं, भारत ने विश्व को इस विशालता का अनुभव कराने में सफलता हासिल की है।

19/10/2019

जयपुर: बैंक कियोस्क संचालक से लूट करने वाली गैंग के 5 शातिर बदमाश गिरफ्तार, हथियार भी बरामद

करधनी थाना इलाके में बैंक कियोस्क में संचालक को हथियार दिखाकर बंधकर बनाकर लाखों रूपए की डकैती डालने की वारदात का खुलासा हो गया है।

18/02/2021

बाड़मेर: चौहटन में एसीबी की कार्रवाई, बीएड कॉलेज का प्रिंसिपल 20 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने बाड़मेर के चौहटन में आरआरटी बीएड कॉलेज के प्रिंसिपल नारायण को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया।

20/04/2021

प्रदेश में कोरोना: 24 घंटे में आए 1276 नए संक्रमित, 65 मौतें, अब तक 9 लाख से ज्यादा मरीज हुए रिकवर

राजस्थान में कोरोना से बुधवार को 1276 और संक्रमित मिले हैं। वहीं 65 लोगों की जान गई है। राजस्थान में बुधवार को संक्रमण दर 2.60 रही, लेकिन प्रदेश में पूरे कोरोनाकाल की संक्रमण दर देखें तो वह डब्ल्यूएचओ के मापदंडों से करीब 3.8 फीसदी ज्यादा रही है। अब तक राजस्थान में 1 करोड़ 6 लाख 92 हजार एक लोगों की कोरोना जांच हुई, जिसमें 9 लाख 42 हजार 236 लोग संक्रमित मिले हैं, यानि कुल संक्रमण दर 8.8 फीसदी रही है।

03/06/2021

मानव स्तर पर होनी चाहिए कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई: पायलट

डिप्टी सीएम और पीसीसी चीफ सचिन पायलट ने कहा कि कोरोना वायरस किसी भी क्षेत्र, धर्म, जाति या विचारधारा के बीच अंतर नहीं करता है, इसलिए कोरोना के खिलाफ लड़ाई सभी हाथों के साथ एक मानव स्तर पर होनी चाहिए। पायलट ने कहा कि मेरा मानना है कि लॉकडाउन को पूरी तरह से हटाने के बारे में सोचना जल्दबाजी होगी।

09/04/2020

मोदी की लोकप्रियता ज्योति के लिए कड़ी चुनौती

राजस्थान में कांग्रेस का गढ़ रही नागौर संसदीय सीट पर इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता पिछले करीब पचास वर्ष से चुनाव लड़ते आ रहे मिर्धा परिवार की सदस्य एवं कांग्रेस प्रत्याशी ज्योति मिर्धा के लिए कड़ी चुनौती बनती दिख रही है।

04/05/2019

सरकार को बड़ा राजस्व देने वाले खान विभाग में वाहनों का टोटा

उदयपुर। राज्य सरकार को सर्वाधिक राजस्व देने वालों में अग्रणी रहने वाला खान एवं भू-विज्ञान विभाग पिछले काफी समय से वाहनों की कमी से जूझ रहा है।

05/11/2019