Dainik Navajyoti Logo
Thursday 9th of December 2021
 
ओपिनियन

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

युद्ध की शांति है तो आजादी ही गुलामी है?

आज के नए भारत को समझने के लिए हम लोगों को जॉर्ज औरवैल का, अंग्र्रेजी भाषा में लिखा उपन्यास 1984 एक बार जरूर पढ़ना चाहिए, क्योंकि अब हमारा लोकतंत्र, संविधान और आजादी एक-ऐसी प्रयोगशाला में बदल गए हैं जहां हर डॉक्टर जनता को किसी विकास और परिवर्तन की खोज में किसी मेंढक, चूहे, छिपकली, बंदर और मुर्दा शरीर की तरह इस्तेमाल कर रहा है।

21/11/2019

यूनिवर्सल इनकम स्कीम लागू हो

चुनाव के इस मौसम में दोनों प्रमुख पार्टियों भाजपा तथा कांग्रेस के बीच मतदाता को लुभाने की घोषणाएं की जा रही हैं। पहले भाजपा के वित्त मंत्री ने अन्तरिम बजट में एलान किया

23/04/2019

भारत की कूटनीतिक उपलब्धि

भारत सरकार के अथक प्रयासें के बाद अंतर्राष्ट्रीय दबाव में जर्जर अर्थव्यवस्था वाले पाकिस्तान ने स्वीकारा है कि उसकी धरती पर मदरसों में घृणा का पाठ पढ़ाया जाता रहा है। स

06/05/2019

मोदी नीति से बेचैन महबूबा

करीब 3 दशकों से लहुलुहान कश्मीर में अर्से बाद अच्छी खबर आई है कि वहां के भटके हुए युवाओं में आतंकवादी कैंप में भर्ती को लेकर क्रेज कम हुई है।

31/07/2019

न्यायिक प्रक्रिया में संस्थागत मध्यस्थता

राष्ट्रीय न्यायिक डाटा ग्रीड के आंकडों के अनुसार 3 करोड़ 14 लाख न्यायिक प्रकरण देश की निचली एवं जिला अदालतों में ही लंबित चल रहे हैं।

15/02/2020

ई-वाहनों के लिए पेट्रोल पर सेस लगाना कहां तक उचित?

हाल ही में सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रमोट करने के लिए सेस लगाया है। केन्द्र सरकार वर्ष 2030 से देश में सिर्फ इलेक्ट्रिक वाहनों की ही बिक्री के लिए जोर दे रही है। सरकार का कहना है कि इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन दिया जाए और पेट्रोल-डीजल पर 1-1 रुपए का अतिरिक्त सेस लगाया जाएगा। इस तरह का सेस लगाना कहां तक उचित है?

19/08/2019

चुनाव आयोग के फैसले और आम समझ

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के खिलाफ कांग्रेस की शिकायतों पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को 6 मई तक फैसला लेने का आदेश दिया है।

03/05/2019