Dainik Navajyoti Logo
Friday 28th of January 2022
 
ओपिनियन

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

भारतीय सिविल सेवा के लिए नियम

भारतीय प्रशासनिक सेवा सुर्खियों में है, क्योंकि पश्चिम बंगाल और अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा आईएएस अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति संबंधी नियमों में केंद्र सरकार के प्रस्तावित संशोधनों पर गंभीर आपत्तियां दर्ज कराई गईं हैं।

28/01/2022

क्या ग्राहक के अधिकार सुरक्षित हैं?

अब जरा इस बात को परखिए कि ज्यादातर जो जिला अदालतें हैं उनकी क्या हालत है। फर्नीचर के नाम पर न्यायाधीशों के बैठने तक के लिए ठीकठाक कुर्सी मेज नहीं हैं तो फिर जो शिकायत लेकर आया है तो उसके लिए टूटी फूटी बेंच और कई जगह तो वो भी नहीं, खड़े रहकर अपना मुकदमा लड़िए, जैसी हालत के लिए क्या प्रशासन जिम्मेदार नहीं है।

12/08/2019

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में इन दिनों दोनों दलों में अशांति है लेकिन दोनों बड़े बंगलों में पूर्ण शांति है। सिविल लाइन्स स्थित इन दोनों बंगलों में रहने वाले बड़े लोग भी चुपचाप तमाशा देख रहे हैं। हाथ वाले भाई लोगों में नौ महीनों से शांति की तलाश है, तो कमल वाले भाइयों में तीन महीने से अशांति है। दोनों तरफ काचे कलवों की कमी नहीं हैं।

01/03/2021

राठौड़ी-चुनौती

इन दिनों अपनी फुल-फॉर्म में हैं-राजेंद्र सिंह राठौड़। अपने चूरू वाले। आखिर, राजस्थान विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी के उपनेता जो ठहरे।

24/05/2019

पर्यावरण के लिए पटाखे बनते परेशानी

पर्यावरण को बचाना आज हमारी सबसे बड़ी जरूरत है। विकास की अंधी दौड़ में प्रकृति का लगातार दोहन हो रहा है। ऐसे में समन्वय बना रहे इस पर हमें ध्यान देना होगा। हमारी परंपरा और संस्कृति में पर्यावरण के संरक्षण की बात कही गई है।

25/10/2019

जानिए, राजकाज में क्या है खास?

गुजरे दिनों में सूबे में हाथ वाले भाई लोगों के एक गुट की ओर से 35 दिनों तक पूरी धमाचौकड़ी मचाने के बाद एकाएक चुप्पी साधना वर्कर्स के गले नहीं उतर रहा। इंदिरा गांधी भवन में बने पीसीसी के ठिकाने पर चर्चा है कि दिल्ली दरबार के सफेद कबूतर उड़ा कर शांति का दूत बनने की कोशिश करने के पीछे कोई राज जरूर छिपा है।

05/10/2020

वैश्विक तापमान बढ़ोतरी का संकट

बीते दिनों वैश्विक तापमान में बढ़ोतरी के खिलाफ नए सिरे से कदम उठाने और विश्व नेताओं पर दबाव बनाने के लिए यूरोप में लाखों लोग सड़क पर उतरे। कारण तापमान में दिनोंदिन हो रही बढ़ोतरी समूची दुनिया के लिए भीषण खतरा बनती जा रही है। दुनिया के वैज्ञानिक सबसे अधिक इसी बात से चिंतित हैं।

06/12/2019