Dainik Navajyoti Logo
Sunday 1st of August 2021
 
ओपिनियन

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

जानिए राज काज में क्या है खास

पिंकसिटी में दस दिनों से भोजन पॉलिटिक्स की चर्चा जोरों पर है। हो भी क्यूं ना, पहली बार हाथ के साथ कमल वालों ने भी भोजन कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

13/05/2019

क्या बदलेगा राजनीति का चेहरा

भारतीय राजनीति में दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के नतीजों ने वायदों को नकारने और हकीकत को स्वीकारने की एक नई शुरुआत कर दी है या भारतीय मतदाता ने अपनी परिपक्वता पर मुहर लगा बता दिया कि कौन कितने पानी में है।

13/02/2020

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में हाथ वाले भाई लोगों में एक बनाम छत्तीस को लेकर चर्चा जोरों पर है। इंदिरा गांधी भवन में बने हाथ वाले के ठिकाने पर आने वाले वर्कर इस पर चर्चा किए बिना नहीं रहते। पिंकसिटी से लालकिले वाली महानगरी तक इस चर्चा को लेकर चिंतन-मंथन हो रहा है। चर्चा है कि पार्टी को अब एक कौम और एक व्यक्ति तक सीमित रखने के लिए कुछ भाई लोग दिन-रात पसीना बहाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

22/02/2021

कानून को जन प्रिय बहुमत नहीं

नागरिकता संशोधन कानून संसद में पारित हो गया है। जिस भारी बहुमत के साथ भारतीय जनता पार्टी चुनाव में विजयी हुई थी, उसे देखते हुए कानून का पारित न होना ही आश्चर्य की बात होती। अब देशभर में इस कानून को लेकर प्रतिक्रिया हो रही है। इस कानून का विरोध करने वाले सुप्रीम कोर्ट में भी पहुंच गए हैं- वे इस कानून को संविधान विरोधी बता रहे हैं।

20/12/2019

बगदादी के बाद भी खतरा खत्म नहीं

इस्लामिक स्टेट के प्रमुख अबू बकर अल-बगदादी की मौत से दुनिया के कई देशों पर मंडराता रहा आतंकी खतरा क्या खत्म हो गया है? सवाल का सीधा जवाब सिर्फ है, नहीं।

08/11/2019

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे मे जब से हाथ वाले भाई लोगों में दो-दो हाथ हुए हैं, तब से भगवा वाले भाई लोग भी दिन-रात गणित में उलझे हुए हैं। भगवा वालों की रातों की नींद और दिन का चैन उड़ा हुआ है। वे न तो चैन से सो पा रहे हैं और न ही बैठ पा रहे हैं। उनके चेहरों पर चिन्ता की लकीरें दिखाई देने लगी हैं।

07/06/2021

वायु प्रदूषण पर रोकथाम आवश्यक

वायु प्रदूषण वर्तमान समय का सबसे ज्वलंत मुद्दा है। भारत की हवा में घुल चुका जहर इतना जानलेवा बन गया है कि प्रत्येक 30 सेकंड में एक भारतीय मृत्यु को प्राप्त हो रहा है।

20/04/2019