Dainik Navajyoti Logo
Thursday 13th of May 2021
 
ओपिनियन

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में हाथ वाले कुछ भाई लोग आठ महीनों से काफी उछलकूद कर रहे हैं। अब उनको नवें महीने का बेसब्री से इंतजार है। इंतजार इसलिए है कि अगले महीने उन्हें गुड़ या घूघरी मिलने का पूरा भरोसा है। सूबे की सबसे बड़ी पंचायत में भी इसके लिए उन्होंने मैसेज देने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

22 Mar 11:15 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में इन दिनों अपर क्लास वाले लोगों की नजरें पूर्व दिशा की तरफ टिकी हैं। टिके भी क्यों नहीं, दोनों दलों में जो भी कुछ हो रहा है, उसी दिशा के पानी का कमाल है। हाथ वाले दल में सपोटरा और दौसा वाले मिनेश वंशज भाईसाहबों ने जब से दुबारा जुबान खोली है, तभी से अगुणी दिशा के ठाले बैठे पंडितों को भी काम मिल गया, सो उन्होंने भी कुंडलियां देखना शुरू कर दिया है।

16 Mar 16:25 PM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

आज हम बात करेंगे देवदर्शनों की। जब भी किसी पर आपदा आती है, तो अपने देवों के देवरे ढोकते हैं, वे न रात देखते और न ही दिन। कई देवों के घोड़ले तो रातीजगा कराने में भी कोई कसर नहीं छोड़ते। सूबे में चुनावी जंग तो पौने तीन साल बाद होगी, मगर नंबर वन की कुर्सी के लिए के भगवा वाले भाई लोगों में ऐसा कलह मचा है कि उनको भी देवदर्शनों की शरण लेनी पड़ रही है।

08 Mar 11:10 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में इन दिनों दोनों दलों में अशांति है लेकिन दोनों बड़े बंगलों में पूर्ण शांति है। सिविल लाइन्स स्थित इन दोनों बंगलों में रहने वाले बड़े लोग भी चुपचाप तमाशा देख रहे हैं। हाथ वाले भाई लोगों में नौ महीनों से शांति की तलाश है, तो कमल वाले भाइयों में तीन महीने से अशांति है। दोनों तरफ काचे कलवों की कमी नहीं हैं।

01 Mar 11:30 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में हाथ वाले भाई लोगों में एक बनाम छत्तीस को लेकर चर्चा जोरों पर है। इंदिरा गांधी भवन में बने हाथ वाले के ठिकाने पर आने वाले वर्कर इस पर चर्चा किए बिना नहीं रहते। पिंकसिटी से लालकिले वाली महानगरी तक इस चर्चा को लेकर चिंतन-मंथन हो रहा है। चर्चा है कि पार्टी को अब एक कौम और एक व्यक्ति तक सीमित रखने के लिए कुछ भाई लोग दिन-रात पसीना बहाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

22 Feb 11:05 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे की सबसे बड़ी पंचायत के सरपंच साहब को लेकर सदन की दोनों लॉबियों में चर्चा जोरों पर है। हो भी क्यों ना, श्रीनाथ जी के द्वार से आने वाले सरपंच साहब ने कइयों की हेकड़ी जो निकाल दी। सरपंच साहब जब अपनी पर आते हैं, तो वे यह नहीं देखते की सामने वाला कौन है। अपने आप को धुरंधर समझने वाले भी उनके लपेटे में आ चुके हैं।

15 Feb 10:40 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में इन दिनों गुगली को लेकर काफी चर्चा है। गुगली भी और किसी की नहीं, बल्कि मैच के रेफरी बने अजय जी की तरफ से फैंकी बॉल है। इस गुगली से राज की कुर्सी के सपने देखने वाले भाइयों का दिन का चैन और रातों की नींद उड़े बिना नहीं रह सकी। स्टम्प पर खड़े सामने वाली टीम के कैप्टन के समझ में नहीं आ रहा कि आखिर माजरा क्या है।

08 Feb 10:50 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

पॉलिटिक्स अपॉइंटमेंट में हर किसी की पार पड़े, यह कोई जरूरी नहीं है। पार पाने के लिए कई तरह के पापड़ बेलने पड़ते हैं। सूबे में चार महीने तक ब्यूरोक्रेसी की सबसे बड़ी कुर्सी पर बैठ चुके साहब ने भी पॉलिटिक्ल अपॉइंटमेंट के लिए काफी हाथ पैर मारे थे, पर उनकी पार नहीं पड़ी।

01 Feb 09:00 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

चुनौती तो चुनौती है। यह जब मिलती है, तो पसीने लाए बिना पीछा नहीं छोड़ती है। अब देखो ना हमारे अन्नदाताओं ने नए कानूनों को चुनौती दी, तो दिल्ली में बैठे मोटा भाई और छोटा भाई के बल पड़े बिना नहीं रह सका। उनके चेहरों में चिन्ता की लकीरें दिखाई देने लगी। अन्नदाता भी वो, जो 60 दिनों से इस जाड़े की रातों में भी खुले आसमान के नीचे हाईवे जाम कर बैठे हैं।

25 Jan 11:25 AM

जानिए राजकाज में क्या है खास?

सूबे में हाथ वाले भाई लोगों में अनुशासनहीनता को लेकर चर्चा जोरों पर है। हो भी क्यों नहीं, मामला अनुशासन और अनुशासनहीनता से ताल्लुकात जो रखता है। जब भी केबिनेट रिशफलिंग की सुगाबुगाहट शुरू होती है, तो इंदिरा गांधी भवन में बने हाथ वालों के ठिकाने पर अनुशासनहीनता वालों की लंबी चौड़ी लिस्ट बनने लगती है। इस बार की सूची वैसे तो जगजाहिर है, लेकिन वर्कर्स ने उसमें कुछ और नाम जोड़ दिए।

18 Jan 11:45 AM