Dainik Navajyoti Logo
Thursday 21st of November 2019
 
कोटा

कोटा के हॉस्टल में आग, जान बचाने को कूदे छात्र

Sunday, October 06, 2019 10:05 AM
खिड़कियों से उतरते छात्र।

कोटा। बोरखेड़ा थाना क्षेत्र के नया नोहरा स्थित महाकाल रेजीडेंसी हॉस्टल में अचानक आग लग गई। आग की लपटें देख छात्रों में चीख-पुकार मच गई। छह मंजिला हॉस्टल से जान बचाने के लिए कई छात्र खिड़कियों से नीचे कूद गए। इससे किसी के पैर में तो किसी को कमर में फ्रेक्चर हो गया। सूचना पर पहुंची दमकलों ने करीब एक घंटे में आग पर काबू पाया। घटना के समय हॉस्टल में 80 छात्र थे। बोरखेड़ा पुलिस ने हॉस्टल मालिक लोकेश कोडवानी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। अवैध निर्माण के कारण नगर विकास न्यास ने हॉस्टल को सीज कर दिया है।

उतरने के लिए रैलिंग का सहारा लिया
जानकारी के अनुसार बारां रोड पर 6 मंजिला महाकाल रेजीडेंसी में कोचिंग संस्थान के विद्यार्थी रहते हैं। करीब एक माह पहले शुरू हुए हॉस्टल के निचले हिस्से में बने रिसेप्शन में आग लग गई। देखते ही देखते आग ऊपर की तरफ बढ़ने लगीं। हॉस्टल के कुछ छात्रों ने शोर मचाया और कमरों में सो रहे छात्रों को जगाया। धुआं अधिक होने के कारण वे नीचे नहीं जा पा रहे थे। लोहे की रैलिंग का सहारा लिया तो गर्म होने के कारण हाथ झुलस गया। फिर वे ऊपर छत की तरफ दौड़े। इसी दौरान हॉस्टल के वार्डन व गार्ड आ गए। उन्होंने पुलिस व दमकल को सूचना दी। जब तक दमकल पहुंचती उससे पहले ही कई छात्रों ने कमरों की खिड़कियों से बाहर की तरफ कूदना शुरू कर दिया। 

घटना की सूचना मिलते ही वे आयुक्त के साथ तुरंत मौके पर पहुंच गई थी। वहां जाकर देखा तो 6 मंजिला हॉस्टल में कोई सैटबैक छोड़ा हुआ नहीं था। हॉस्टल में मात्र होजरील लगी हुई थी, लेकिन फायर एनओसी नहीं थी। निगम इस संबंध में नोटिस देने समेत नियमानुसार कार्रवाई करेगा।
- कीर्ति राठौड़, उपायुक्त नगर निगम