Dainik Navajyoti Logo
Thursday 16th of July 2020
 
कोटा

गांव में फैली मगरमच्छ की दहशत

Thursday, November 14, 2019 01:05 AM
खातौली। सुमेरपुरा गांव में तलाई के समीप मौजूद मगरमच्छ।

 खातौली। क्षेत्र की जटवाड़ा ग्राम पंचायत के सुमेरपुरा गांव स्थित तलाई में गत एक वर्ष से मगर का आतंक है, किन्तु प्रशासन एवं जिम्मेदार अधिकारियों ने अभी तक इस ओर ध्यान नहीं दिया है। जिससे ग्रामीणों में भय व्याप्त है। 

    ग्रामीण कल्याण पोसवाल ने बताया कि एक वर्ष पूर्व इस तलाई में मगर आने के बाद इसकी सूचना प्रशासन एवं वन विभाग को दे दी थी। किन्तु समस्या का समाधान न होने से ग्रामीणों मे रोष व्याप्त है। गांव के लोगों का कहना है कि यदा-कदा मगर बाहर निकल आता है। गर्मियों में तलाई में पानी कम हो गया था। किन्तु इस ओर जिम्मेदार लोगों ने ध्यान नहीं दिया।
     ग्रामीणों ने बताया कि लोगों ने इस रास्ते से आना-जाना बहुत कम कर दिया है। तलाई के पानी से यह रास्ता कटता जा रहा है। और मगरमच्छ कभी भी इस रास्ते पर आ जाता है। रेंजर ताराचंद ने ग्रामीणों से अपील की है कि इस रास्ते का उपयोग सावधानी पूर्वक करें।
        स्कूल के बच्चों में भय...
तलाई के पास ही राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय भी संचालित है। जिससे बच्चों व अभिभावक में भी मगर के हमले का डर बना रहता है। जिसके चलते बालक-बालिकाएं गांव वालों की निगरानी में ही विद्यालय से आते जाते हैं। इस बारे में कई बार प्रशासन को अवगत कराने के बाद भी कोई कार्यवाही न हो पाने से विद्यार्थी भी भय के साये में विद्यालय जाने को मजबूर हैं।               
-
    मगरमच्छ को पकड़ने के संसाधनों का हमारे पास अभाव है। मगर तलाई से कब बाहर आएगा यह भी निश्चित नहीं है। तलाई में काफी गहरा पानी है। ऐसे में मगर को पकड़ना मुश्किल है। ग्रामीण सहयोग कर तलाई के पानी को कम करें तो ही मगर को पकड़ा जा सकता है।
-ताराचंद, रेंजर, खातौली वन क्षेत्र 
यह भी पढ़ें:

सर्द हवाओं और ठिठुरन के बीच पिलाई को मजबूर भूमिपुत्र

कई गांवों में इन दिनों दिन में पर्याप्त बिजली आपूर्ति नहीं होने तो कहीं बिजली की ट्रिपिंग से भूमि पुत्र सर्द रातों में ठिठुरने के बीच रबी की फसलों को बचाने की मशक्कत को मजबूर हो रहे है।

10/12/2019

बाढ़ पीड़ितों का अभी भी झलक रहा दर्द, लोग तंबू में रहने को मजबूर

क्षेत्र में बाढ़ की तबाही के मंजर इस कदर नजर आ रहे हंै कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में पीड़ितों का दर्द एक सप्ताह गुजरने के बाद भी झलकता नजर आ रहा है। बाढ़ पीड़ितों को आज भी प्रशासन की राहत का इंतजार है। क्षेत्र में इन लोगों की मदद के लिए समाजसेवी संस्थाओं के हाथ जरूर आगे बढेÞ हैं, लेकिन अभी भी लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है।

26/09/2019

चित्ररेखा कृषि में, राहुल वाणिज्य में रहा अव्वल

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से बुधवार को घोषित 12वीं विज्ञान, वाणिज्य एवं कृषि विज्ञान के घोषित परीक्षा परिणाम में न्यू स्वामी विवेकानंद खांकी नगर इटावा की छात्रा चित्ररेखा नागर ने कृषि वर्ग में 89.40 प्रतिशत अंक प्राप्त कर उपखंड क्षेत्र में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

15/05/2019

कोटा में मां-बेटी संक्रमित, अकलेरा क्षेत्र में एक पॉजीटिव

कोटा शहर में कोरोना का संक्रमण लगातार फैलता जा रहा है। मंगलवार को आई रिपोर्ट में तीन जने कोरोना संक्रमित मिले है। कोटा में कोराना का आंकड़ा बढ़कर अब 331 पर पहुंच गया है। वहीं झालावाड़ जिले में थनावद गांव में मंगलवार को जांच में 22 वर्षीय युवक पॉजीटिव मिला।

19/05/2020

घर में अदा की जुम्मे की नमाज

कोरोना संक्रमण के चलते रमजान में लोग घर पर ही नमाज अदा कर रहे हैं। रावतभाटा में रमजान के महीने में रोजा रखकर खुदा की इबादत की।

08/05/2020

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कोटा के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा

ओम बिरला शुक्रवार को जिले के कैथून कस्बे में अधिवर्षा से प्रभावित क्षेत्रों में पहुंचे व प्रभावित परिवारों से मिलकर समस्याओं के शीघ्र समाधान के लिए प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिये।

16/08/2019

जवाहर नगर मार्केट: गंदगी, कीचड़ बिगाड़ रही खूबसूरत बाजार की सूरत

शहर के जवाहर नगर मार्केट की शुरुआत वर्ष 2003 में हुई। धीरे-धीरे यह बाजार विकसित होता गया। आज यह बाजार 70-80 प्रतिशत तक विकसित हो चुका है। इस बाजार की सबसे बड़ी समस्या जवाहर नगर का नाला है।

19/09/2019