Dainik Navajyoti Logo
Sunday 1st of August 2021
 
खास खबरें

जर्मनी के पर्यटक जयपुर में लगाएंगे पौधे, मेंटिनेंस का खर्च भी देंगे

Friday, December 20, 2019 12:55 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर। प्रदेश के हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स पर हर समय देशी-विदेशी पर्यटकों की मौजूदगी देखने को मिलती है, लेकिन पर्यटन सीजन के दौरान इसकी संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिलती है। इस दौरान कई पर्यटक ऐसे भी होते हैं, जो कुछ अलग सोशल एक्टिविटी करने की चाह लिए विभिन्न पर्यटन स्थलों पर विजिट करते हैं। पर्यटन विशेषज्ञों के अनुसार जयपुर में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब विदेश से आने वाले पर्यटक ग्लोबल सोच के चलते यहां पौधे लगाएंगे।

उनका मानना है कि जब हम बस के द्वारा जयपुर के विभिन्न हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स घूमेंगे, तो वहां हमारी वजह से पॉल्यूशन होगा, ऐसे में हमारी ओर से हुए पॉल्यूशन की भरपाई करने के उद्देश्य से पौधे लगाए जाएं। टूर एस्कार्ट की ओर से अभी जगह का चयन किया जा रहा है, जहां वे पर्यटक पौधे लगाकर अपनी भागीदारी निभाएंगे।

28 सदस्यीय पर्यटकों का दल करेगा पहल
पर्यटन विशेषज्ञ संजय कौशिश ने बताया कि अन्य राज्यों से घूमते हुए जर्मनी का 28 सदस्यीय दल 14 जनवरी, 2020 को जयपुर के हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स की सैर करेगा। दल ने ही यह पहल की है कि हम बस के माध्यम से जयपुर की विभिन्न पर्यटन स्थलों की सैर करेंगे, ऐसे में हमारे कारण शहर में पॉल्यूशन होगा, इसकी भरपाई के लिए जयपुर में किसी जगह पौधे लगाएंगे, जिससे हम भी पॉल्यूशन कम करने में अपना योगदान दे सकें। कौशिश ने बताया कि पर्यटकों का मानना है कि हम यह पहल कर रहे हैं, ताकि अन्य देशों से आने वाले पर्यटकों में भी इसका अच्छा संदेश जाए। 


पौधे लगाएंगे, देंगे मेंटिनेंस का खर्चा
जर्मनी का 28 सदस्यीय दल जयपुर पहुंचेगा, जहां वे पर्यटन स्थल घूमने के बाद चयनित जगह पर दल का हर व्यक्ति पौधे लगाएगा। इसके अतिरिक्त दल पौधों का दो महीने का मेंटिनेंस का खर्चा देकर जाएगा, जिसमें संबंधित व्यक्ति पौधों का पानी देने एवं अन्य कार्य करेगा। संजय कौशिक ने बताया कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि किसी देश के पर्यटक जयपुर आएंगे और इस सोच के चलते पौधे लगाएंगे।

हर पर्यटक ऐसा सोचे तो होंगे कामयाब
पर्यटन विशेषज्ञों के अनुसार जिस सोच के चलते जर्मनी के पर्यटक जयपुर आकर पौधरोपण करेंगे। उसी तरह अगर हर पर्यटक इस बात को सोचे तो पर्यावरण को और अधिक हरा-भरा किया जा सकता है। इसके लिए देशी पर्यटकों को भी पहल करने की जरूरत है।

 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

ब्लू पॉटरी में बनाई 40 इंच की प्लेट

गृहणी से ब्लू पॉटरी का सफर करने वाली वरिष्ठ कलाकार लीला बोर्डिया 40 वर्षों से ब्लू पॉटरी में प्लेट, टाइल्स, ज्वैलरी, बीड्स, पॉट, चौसर, शतरंज, परफ्यूट बॉटल, टी सैट वगैरह तैयार कर इसकी ख्याति को विदेशों तक बढ़ाने में योगदान दिया है।

01/08/2019

पैलेस ऑन व्हील्स में दिखेगी परकोटे की झलक

अपने 37 सालों के सफर में शाही ट्रेन पैलेस आॅन व्हील्स ने देशी-विदेशी पर्यटकों को शाही सफर का अहसास कराया है।

25/07/2019

14 दिसंबर को लगेगा साल का अंतिम सूर्यग्रहण, राजनीति और अर्थव्यवस्था पर होगा असर

साल 2020 के आखिरी माह दिसंबर में साल का अंतिम सूर्यग्रहण भी लगने जा रहा है। यह सूर्यग्रहण 14 दिसंबर 2020 को लगेगा। यह पूर्ण सूर्यग्रहण होगा हालांकि भारत में यह दिखाई नहीं देगा। इससे पहले साल का अंतिम चंद्रग्रहण 30 नवम्बर को लगा था। इससे पहले सूर्यग्रहण 21 जून को लगा था।

12/12/2020

स्पेशल बच्चों की ख्वाहिशें देख भावुक हुए लोग

अच्छी शिक्षा और कौशल प्रशिक्षण हासिल करने के बाद हमें रोजगार के बराबर अवसर मिलें, हमारी काबलियत को इंडस्ट्री के लोग समझकर अपना हिस्सा मानें तभी सही मायने में समावेशी समाज बन पाएगा।

03/12/2019

संग्रहालय में अब्दुल कलाम का वैक्स स्टैच्यू

मिसाइल मैन के नाम से विख्यात देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का वैक्स स्टैच्यू केवल जयपुर में ही बना है।

16/10/2019

नव वर्ष के स्वागत के लिए गूगल का खास डूडल, दिखाई 5 अलग-अलग रंगों की आतिशबाजी

नव वर्ष 2020 के आगमन में अब कुछ ही घंटे रह गए हैं और इसके स्वागत के लिए दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल ने नव वर्ष की पूर्व संध्या पर आतिशबाजियों वाला खास डूडल बनाया है।

31/12/2019

करवाचौथ के व्रत का सावित्री और द्रौपदी से है खास जुड़ाव

करवा चौथ हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। यह भारत के पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान का पर्व है। यह कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। यह पर्व सुहागिन स्त्रियां मनाती हैं।

13/10/2019