Dainik Navajyoti Logo
Saturday 6th of March 2021
 
खास खबरें

यह भी पढ़ें:

जब गांधी जी ने अपने नाम के आगे लिखा किसान

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का डेयरी और पशुपालन के प्रति बहुत गहरा लगाव था और उन्होंने वैज्ञानिक ढंग से पशुपालन का बेंगलुरु के तत्कालीन इम्पीरियल डेयरी इंस्टीट्यूट में प्रशिक्षण भी लिया था। इंस्टीट्यूट के निदेशक के पी रमेश के अनुसार संस्थान की आगन्तुक पुस्तिका में महात्मा गांधी के नाम के साथ बैरिस्टर लिखा गया था, जिसे उन्होंने कलम से काट कर खुद को साबरमती का किसान लिखा था।

02/10/2019

ब्लू पॉटरी में बनाई 40 इंच की प्लेट

गृहणी से ब्लू पॉटरी का सफर करने वाली वरिष्ठ कलाकार लीला बोर्डिया 40 वर्षों से ब्लू पॉटरी में प्लेट, टाइल्स, ज्वैलरी, बीड्स, पॉट, चौसर, शतरंज, परफ्यूट बॉटल, टी सैट वगैरह तैयार कर इसकी ख्याति को विदेशों तक बढ़ाने में योगदान दिया है।

01/08/2019

अजब-गजब: मध्यप्रदेश के गौरया समुदाय के लोग दहेज के रूप में देते हैं 21 खतरनाक सांप

हमारे देश में दहेज लेना और दहेज देना अपराध है। इसके बावजूद हमारे समाज में बेटियों की शादी में दहेज देने की प्रथा पर कोई पाबंदी नहीं है।

17/12/2020

उत्तरप्रदेश के इस शहर में रावण को देखा जाता है संकट मोचक की भूमिका में

देश भर में आयोजित रामलीलाओं में खलनायक की भूमिका में नजर आने वाला रावण उत्तर प्रदेश के इटावा के जसवंतनगर में संकट मोचक की भूमिका में पूजा जाता है। यहां रामलीला के समापन में रावण के पुतले को दहन करने के बजाय उसकी लकड़ियों को घर ले जा कर रखा जाता है ताकि साल भर उनके घर में विघ्न या कोई बाधा उत्पन्न न हो सके।

05/10/2019

नई तकनीकों से संभव है ब्रेन ट्यूमर का इलाज

30 साल के हुलासमल और 50 साल की यशोदा को जब पता चला कि उन्हें ब्रेन ट्यूमर है तो मानों उनकी जिंदगी जैसे थम सी गई थी। जबकि नई तकनीकों से ब्रेन ट्यूमर का ईलाज संभव है और व्यक्ति जिंदगी पहले की तरह ही जी सकता है।

08/06/2019

पैलेस ऑन व्हील्स में मिलती हैं फाइव स्टार होटलों जैसी सुविधाएं

देशी-विदेशी पर्यटकों को शाही जीवन शैली जैसा अनूठा अनुभव देने वाली एवं पांच सितारा होटलों जैसी सुविधाओं से परिपूर्ण भारतीय रेल और राजस्थान पर्यटन विकास निगम द्वारा संयुक्त रूप से चलाई जा रही विश्व प्रसिद्ध पैलेस ऑन व्हील्स अपने नए रंगरूप और साज-सज्जा से सायं नई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से देशी-विदेशी पर्यटकों को लेकर राजस्थानी संस्कृति से रूबरू कराने के लिये गन्तव्य स्थानों के सुनहरे सफर के लिए रवाना हो गई।

05/09/2019

अगले साल में कम हैं विवाह मुहूर्त, पूरे साल में केवल 51 बार बजेगी शहनाई

अगले साल 2021 में विवाह मुहुर्त कम है। पूरे साल केवल 51 बार ही शहनाई बजेगी। ज्योतिषीय गणना के अनुसार साल 2021 में विवाह मुहूर्त कम हैं। हिन्दू पंचांग के अनुसार साल के पहले माह में केवल एक मुहूर्त है और यह मुहूर्त 18 जनवरी को पड़ेगा, जो नए साल का पहला मुहूर्त होगा।

03/12/2020