Dainik Navajyoti Logo
Friday 17th of September 2021
 
खास खबरें

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का मलबा ढूंढ़ने में चेन्नई के इंजीनियर ने की मदद, नासा ने दिया क्रेडिट

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के लूनर रिकनैसैंस ऑर्बिटर ने चांद की सतह पर चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम का मलबा ढूंढ लिया है। नासा ने विक्रम का मलबा ढूंढने का क्रेडिट चेन्नई के मैकेनिकल इंजीनियर शनमुगा सुब्रमण्यन को दिया है।

03/12/2019

नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा, मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़

आज से नवरात्रि की शुरुआत हो चुकी है। इसी दिन से हिन्दू नववर्ष यानी नए संवत्सर की शुरुआत होती है। पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री के रूप में उत्पन्न होने के कारण मां दुर्गा जी का नाम शैलपुत्री पड़ा। नवरात्रि के पहले दिन शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना या घटस्थापना की जाती है। फिर विधि विधान से मां दुर्गा के शैलपुत्री स्वरुप की पूजा की जाती है।

13/04/2021

संग्रहालय में अब्दुल कलाम का वैक्स स्टैच्यू

मिसाइल मैन के नाम से विख्यात देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का वैक्स स्टैच्यू केवल जयपुर में ही बना है।

16/10/2019

चंबल घड़ियाल सेंचुरी में बढ़ रहे घड़ियाल, आप देखने जा सकते हैं इनकी अठखेलियां

एक तरफ दुनिया में घड़ियालों की संख्या में निरतंर कमी होती जा रही है। दूसरी तरफ चंबल घड़ियाल सेंचुरी में इनका बढ़ोतरी हो रही है।

17/02/2020

नाहरगढ़ फोर्ट में पर्यटकों को मिलेगी ऑडियो गाइड की सुविधा

पर्यटकों की सुविधार्थ पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के अधीन आने वाले जयपुर के आमेर महल, अल्बर्ट हॉल संग्रहालय, हवामहल स्मारक और जंतर-मंतर स्मारक में आॅडियो गाइड की सुविधा उपलब्ध है।

17/10/2019

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में दिखेगी जयपुर हैरिटेज परकोटा की झलक

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली के राजपथ पर आयोजित समारोह में इस बार राजस्थान की कला संस्कृति और हैरिटेज झलक भी दिखाई देगी। समारोह में कुल 16 राज्यों की झलकियों में राजस्थान की गुलाबी नगरी जयपुर का हैरिटेज परकोटा झांकी के रूप में अपनी खूबसूरती बिखेरता नजर आएगा।

30/12/2019

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से जुड़ी कई योजनाएं आज भी अधूरी

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जीवन भर हिंदी के लिए लड़ते रहे, लेकिन पिछले 10 वर्षों से 'गांधी वांग्मय' हिंदी में उपलब्ध नहीं है और उनके 150वें जयंती वर्ष में यह फिर से प्रकाशित नहीं हो पाया है।

02/10/2019