Dainik Navajyoti Logo
Monday 18th of January 2021
 
खास खबरें

मां की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र, ये हैं कलश स्थापना के शुभ चौघड़िया और अभिजीत मुहूर्त

Friday, October 16, 2020 12:30 PM
शारदीय नवरात्र में मां के 9 रूपों की होगी पूजा।

जयपुर। शक्ति की देवी मां दुर्गा की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र कल 17 अक्टूबर से पूरे देश में शुरू हो रहा है। कलश स्थापना के साथ ही 9 दिन तक मां की गुणगान शुरू हो जाएगा। नवरात्र की शुरूआत शनिवार को होने की वजह से मां दुर्गा इस बार घोड़े पर सवार होकर आ रही हैं। देशभर में माता के मंदिरों में कोरोना संक्रमण रोकने के उपाय के साथ मां के दर्शन होंगे। मां के आने और जाने की सवारी दिन के हिसाब से तय होती है। ऐसी मान्यता है कि यदि नवरात्र शनिवार और मंगलवार से शुरू हो तो मां घोड़े पर सवार हो के आती हैं। रविवार और सोमवार को शुरू होने पर हाथी पर आती हैं जबकि गुरूवार और शुक्रवार होने पर डोली में सवार हो के आती हैं ।

24 अक्टूबर को अष्टमी और नवमीं दोनों है। लिहाजा 9 दिन व्रत रखने वाले 24 तक व्रत रखेंगे। 25 अक्टूबर को दिन में 11 बजे तक नवमी है, उसके बाद दशमी शुरू हो जाएगी। मां भगवती को पूजने, मनाने एवं शुभ कृपा प्राप्त करने का सबसे उत्तम समय आश्विन शुक्ल पक्ष में प्रतिपदा से नवमी तक होता है। आश्विन मास में पड़ने वाले इस नवरात्र को शारदीय नवरात्र कहा जाता है। इस नवरात्र की विशेषता है कि हम घरों में कलश स्थापना के साथ-साथ पूजा पंडालों में भी स्थापित करके मां भगवती की आराधना करते हैं।

शारदीय नवरात्रि में घट स्थापना का शुभ मुहूर्त
सुबह 8 बजकर 16 मिनट से कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त बन रहा है, जो 10 बजकर 31 मिनट तक रहेगा। पूरे दिन में कलश स्थापना के कई योग बन रहे हैं। अभिजीत मुहूर्त सभी शुभ कार्यों के लिए अति उत्तम होता है, जो मध्यान्ह 11:36 से 12:24 तक होगा। इस मुहूर्त में भी बड़ी संख्या में लोग कलश स्थापना करके शक्ति की अराधना शुरू करते हैं। इसी दिन दोपहर 2 बजकर 24 मिनट से 3 बजकर 59 मिनट तक और शाम 7 बजकर 13 मिनट से 9 बजकर 12 मिनट तक स्थिर लग्न है। इसमें भी कलश स्थापना की जा सकती है।

तिथि और मां के अवतार का पूजन-:
17 अक्टूबर - प्रतिपदा - घट स्थापना और शैलपुत्री पूजन।
18 अक्टूबर - द्वितीया - मां ब्रह्मचारिणी पूजन।
19 अक्टूबर - तृतीया - मां चंद्रघंटा पूजन।
20 अक्टूबर - चतुर्थी - मां कुष्मांडा पूजन।
21 अक्टूबर - पंचमी - मां स्कन्दमाता पूजन।
22 अक्टूबर - षष्ठी - मां कात्यायनी पूजन।
23 अक्टूबर - सप्तमी - मां कालरात्रि पूजन।
24 अक्टूबर - अष्टमी - मां महागौरी पूजन।
25 अक्टूबर - नवमी, दशमी - मां सिद्धिदात्री पूजन व विजया दशमी।

यह भी पढ़ें:

अलविदा 2019 : चुनावों की तैयारी में गुजरा पूरा साल, पहली बार जयपुर में लगा प्रमोटेड कलेक्टर

जयपुर जिला प्रशासन का पूरा वर्ष (2019) चुनाव को संपन्न कराने में ही गुजर गया। जयपुर में पहली बार प्रमोटिव आईएएस अधिकारी के रूप में जगरूप सिंह यादव को जिला कलेक्टर के पद पर लगाया गया। यादव के कलेक्टर रहते हुए परिवादियों से मिलने के लिए पर्ची सिस्टम को बंद कराना चर्चा का विषय बना रहा।

06/12/2019

'पैड वुमन ऑफ राजस्थान', 7 साल में एक लाख से अधिक सेनेटरी पैड किए वितरित

पूरे विश्व में 28 मई को मासिक धर्म स्वच्छता दिवस मनाया जाता है। देश-विदेश में इसी महीने सैकड़ों चर्चाएं और संगोष्ठियां आयोजित की जाती हैं, जहां महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर बात होती है। फिर भी कई ऐसे मुद्दे हैं जो आज भी महिलाओं से कोसो दूर हैं या यो कहें कि वो आज भी अनसुने, अनकहे व पूरी तरह से नजरअंदाज हैं।

25/05/2020

अनोखा ब्याह: दूल्हा 75 तो दुल्हन 65 साल की, शादी में नाती-पोते बने बाराती

सिर पर सेहरा,आंखों में चमक, हमेशा के लिए हाथ थामे रहने के संकल्प के साथ दुल्हन पूरी सज-धज कर तैयार थी और नाचते-गाते बाराती बने नाती-पोते।

28/05/2019

डिफरेंट थीम पर सेलिब्रेट होगा क्रिसमस

क्रिसमस और न्यू-ईयर सेलिब्रेशन के लिए होटलों और रेस्टोेरेंट्स ने तैयारियों शुरू कर दी हैं। हर बार नई थीम के साथ इन दिनों को सेलिब्रेट किया जाता है।

02/12/2019

पासपोर्ट सत्यापन की प्रक्रिया थाना स्तर पर होगी ऑनलाइन

प्रदेश में थाना स्तर पर पासपोर्ट सत्यापन की प्रक्रिया को आॅनलाइन किया जा रहा है।

10/01/2020

कंक्रीट के बनते जंगल, रिहायशी इलाकों में वन्यजीवों की दस्तक

प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के विभिन्न हिस्सों के जंगल में मानव के बढ़ते दखल, अतिक्रमण और कंक्रीट के बनते जंगल से वन्यजीव वहां से निकलकर शहर की ओर दस्तक दे रहे हैं।

14/12/2019

जर्मनी के पर्यटक जयपुर में लगाएंगे पौधे, मेंटिनेंस का खर्च भी देंगे

प्रदेश के हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स पर हर समय देशी-विदेशी पर्यटकों की मौजूदगी देखने को मिलती है, लेकिन पर्यटन सीजन के दौरान इसकी संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिलती है।

20/12/2019