Dainik Navajyoti Logo
Friday 23rd of October 2020
 
खास खबरें

मां की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र, ये हैं कलश स्थापना के शुभ चौघड़िया और अभिजीत मुहूर्त

Friday, October 16, 2020 12:30 PM
शारदीय नवरात्र में मां के 9 रूपों की होगी पूजा।

जयपुर। शक्ति की देवी मां दुर्गा की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र कल 17 अक्टूबर से पूरे देश में शुरू हो रहा है। कलश स्थापना के साथ ही 9 दिन तक मां की गुणगान शुरू हो जाएगा। नवरात्र की शुरूआत शनिवार को होने की वजह से मां दुर्गा इस बार घोड़े पर सवार होकर आ रही हैं। देशभर में माता के मंदिरों में कोरोना संक्रमण रोकने के उपाय के साथ मां के दर्शन होंगे। मां के आने और जाने की सवारी दिन के हिसाब से तय होती है। ऐसी मान्यता है कि यदि नवरात्र शनिवार और मंगलवार से शुरू हो तो मां घोड़े पर सवार हो के आती हैं। रविवार और सोमवार को शुरू होने पर हाथी पर आती हैं जबकि गुरूवार और शुक्रवार होने पर डोली में सवार हो के आती हैं ।

24 अक्टूबर को अष्टमी और नवमीं दोनों है। लिहाजा 9 दिन व्रत रखने वाले 24 तक व्रत रखेंगे। 25 अक्टूबर को दिन में 11 बजे तक नवमी है, उसके बाद दशमी शुरू हो जाएगी। मां भगवती को पूजने, मनाने एवं शुभ कृपा प्राप्त करने का सबसे उत्तम समय आश्विन शुक्ल पक्ष में प्रतिपदा से नवमी तक होता है। आश्विन मास में पड़ने वाले इस नवरात्र को शारदीय नवरात्र कहा जाता है। इस नवरात्र की विशेषता है कि हम घरों में कलश स्थापना के साथ-साथ पूजा पंडालों में भी स्थापित करके मां भगवती की आराधना करते हैं।

शारदीय नवरात्रि में घट स्थापना का शुभ मुहूर्त
सुबह 8 बजकर 16 मिनट से कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त बन रहा है, जो 10 बजकर 31 मिनट तक रहेगा। पूरे दिन में कलश स्थापना के कई योग बन रहे हैं। अभिजीत मुहूर्त सभी शुभ कार्यों के लिए अति उत्तम होता है, जो मध्यान्ह 11:36 से 12:24 तक होगा। इस मुहूर्त में भी बड़ी संख्या में लोग कलश स्थापना करके शक्ति की अराधना शुरू करते हैं। इसी दिन दोपहर 2 बजकर 24 मिनट से 3 बजकर 59 मिनट तक और शाम 7 बजकर 13 मिनट से 9 बजकर 12 मिनट तक स्थिर लग्न है। इसमें भी कलश स्थापना की जा सकती है।

तिथि और मां के अवतार का पूजन-:
17 अक्टूबर - प्रतिपदा - घट स्थापना और शैलपुत्री पूजन।
18 अक्टूबर - द्वितीया - मां ब्रह्मचारिणी पूजन।
19 अक्टूबर - तृतीया - मां चंद्रघंटा पूजन।
20 अक्टूबर - चतुर्थी - मां कुष्मांडा पूजन।
21 अक्टूबर - पंचमी - मां स्कन्दमाता पूजन।
22 अक्टूबर - षष्ठी - मां कात्यायनी पूजन।
23 अक्टूबर - सप्तमी - मां कालरात्रि पूजन।
24 अक्टूबर - अष्टमी - मां महागौरी पूजन।
25 अक्टूबर - नवमी, दशमी - मां सिद्धिदात्री पूजन व विजया दशमी।

यह भी पढ़ें:

स्वदेशी तकनीक से ऐसे रिचार्ज किए बोरवेल

तमिलनाडु के चेन्नई क्षेत्र में पानी की भारी कमी एक बड़ी समस्या के रूप में उभरी है। इस चिंताजनक स्थिति के कारण पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए नये समाधानों को ढूंढना अनिवार्य हो गया है।

22/08/2019

वन्यजीव बिता रहे हैं एकाकी जीवन

गर्मी के मौसम ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। इंसानों के साथ ही वन्यजीवों में भी इसका असर देखने को मिल रहा है।

02/05/2019

हैप्पी फ्रेंडशिप डे: ये दोस्ती हम नहीं तोड़ेंगे...

आज के समय में मित्रता की परिभाषा बहुत भिन्न है। पहले दोस्ती होने पर ताउम्र तक निभाई जाती थी। आज की दोस्ती फायदा-नुकसान देखती है। स्वार्थ देखती है। पहले के समय में व्यक्ति सामाजिक ज्यादा था, इसलिए मित्रता को सर्वोपरि रखता था।

03/08/2019

साउथ अफ्रीका की जोजिबिनी टूंजी ने जीता मिस यूनिवर्स-2019 का खिताब

साउथ अफ्रीका की जोजिबिनी टूंजी ने ब्यूटी कॉन्टेस्ट मिस यूनिवर्स 2019 का खिताब जीता है। अमेरिका में मिस साउथ अफ्रीका को यह ताज पहनाया गया।

10/12/2019

रघुराम राजन की विदाई पर बेंगलुरु के रेस्तरां ने पेश किए दो पकवान

भारतीय रिजर्व बैंक के निवर्तमान गर्वनर रघुराम राजन की शान में बेंगलूर की एक रेस्त्रां कंपनी ने अपने मेन्यू में दो विशेष पकवान पेश किए हैं. बराबर चर्चाओं में रहे राजन ने केंद्रीय बैंक के काम-धाम पर अपना एक खास असर डाला है.

25/08/2016

राजस्थान आना अपनी रूह के साथ जुड़ने जैसा है : रिजवान

टेलिविजन चैनल पर प्रसारित फीयर फैक्टर 2005 के विनर, मॉडल और एक्टर रिजवान सिकन्दर ने उस खिताब अपने नाम किया था।

03/05/2019

पढ़िए, अयोध्या मामले का पूरा घटनाक्रम, कब-क्या हुआ?

अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद में उच्चतम न्यायालय का फैसला आ गया है। सदियों पुराने इस विवाद के महत्वपूर्ण घटनाक्रम इस प्रकार हैं।

09/11/2019