Dainik Navajyoti Logo
Sunday 15th of December 2019
 
खास खबरें

ड्रोन कैमरे की मदद से मृत परिंदों को सांभर झील से निकाला बाहर, बोच्यूलिज्म से हुई मौत

Friday, November 22, 2019 07:45 AM
दूरबीन से झील में मृत पक्षियों को देखते हुए रेस्क्यू टीम के कर्मचारी।

जयपुर। सात समंदर पार से सांभरझील में आने वाले विदेशी परिन्दों की मौत ‘एवियन बोच्यूलिज्म’ से हुई है। भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, बरेली से आई विसरा की रिपोर्ट के अनुसार स्वस्थ परिन्दों ने बैक्टरियल इंफेक्शन से मरे हुए परिन्दों के साथ बोच्यूलिज्म नाम का खतरनाक टॉक्सीन खा लिया, जिससे हजारों की संख्या में असमय ही परिन्दों की मौत हो गई। परिन्दों की मौत के कारणों पर प्रकाश डालते हुए पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत स्वयं इस मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं एवं इस सम्बन्ध में विभिन्न विभागों के साथ कई बैठकें भी कर चुके हैं। कटारिया ने बताया कि पशुपालन विभाग ने अब तक 735 बीमार पक्षियों का उपचार किया गया है, जिनमें से 368 जीवित हैं जबकि 36 को पुन: आकाश में छोड़ा जा चुका है।

आज भी नहीं थमा परिन्दों की मौत का सिलसिला
सांभरलेक और नागौर जिले के नावां में असमय ही मर रहे परिन्दों की मौत का सिलसिला आज भी नहीं थमा। सूत्रों के अनुसार नावां में 220 परिन्दों की लाश सड़ी-गली अवस्था में मिली, जबकि नौ परिन्दों को रेस्क्यू सेंटर भेज दिया गया। इसी तरह सांभरझील में 44 परिन्दें मृत पाए गए और 34 को बचा लिया गया। मृत परिन्दों की तलाश सांभरझील में ड्रोन कैमरे से की गई।

बोच्यूलिज्म को बोटलिज्म भी कहते हैं
परिन्दों की मौत बोच्यूलिज्म से हुई है, जिसे साधारण बोलचाल की भाषा में बोटलिज्म भी कहते हैं। राज्य के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की ओर से जारी प्रेस नोट में मौत का कारण बोच्यूलिज्म बताया गया है, जबकि आम बोलचाल की भाषा में इसे बोटलिज्म भी कहते हैं। पशुपालन विभाग के पूर्व निदेशक डॉ. अजय कुमार गुप्ता ने बताया कि दोनों ही शब्द सही है, लेकिन बोच्यूलिज्म अधिक उपयुक्त शब्द हैं।

एनजीटी ने रिपोर्ट तलब की
नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने सांभर झील में 18 हजार से अधिक देशी-विदेशी पक्षियों की मौत पर संज्ञान लेते हुए रिपोर्ट तलब की है। एनजीटी ने नेशनल वेटलैंड अथॉरिटी, राजस्थान स्टेट वेटलैंड अथॉरिटी, राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और जयपुर जिला प्रशासन से रिपोर्ट तलब किया है।

दैनिक नवज्योति ने परिन्दों की मौत के कारणों का पहले ही कर दिया खुलासा
परिन्दों की मौत के कारणों का दैनिक नवज्योति ने पहले ही खुलासा कर दिया था। 17 नवम्बर के अंक में ‘अब तक दस हजार से अधिक परिन्दें काल के गाल में समाए’ शीर्षक से प्रकाशित समाचार में बताया था कि मरने वाले परिन्दों में सबसे अधिक संख्या मांसाहारी परिन्दों की है, ऐसे में आरम्भिक तौर पर यह माना जा रहा है कि मृत परिन्दों के खाने से अन्य परिन्दों की मौत हुई है।’ इसी तरह दैनिक नवज्योति के 19 नवम्बर के अंक में ‘मृत परिन्दों को खाने से हुई पक्षियों की मौत’ शीर्षक से प्रकाशित समाचार में खुलासा किया गया था कि हजारों परिन्दों की मौत के पीछे कारणों में माना जा रहा है कि मृत पक्षियों को खाने से अधिक परिन्दों की मौत हुई। सूत्रों के अनुसार शुरू में कुछ परिन्दों की मौत इंफेक्शन से हुई, लेकिन ध्यान नहीं देने पर परिन्दों ने मृत परिन्दों को खा लिया, इस कारण चन्द दिनों में ही हजारों की संख्या में पक्षी मर गए।

यह भी पढ़ें:

साउथ अफ्रीका की जोजिबिनी टूंजी ने जीता मिस यूनिवर्स-2019 का खिताब

साउथ अफ्रीका की जोजिबिनी टूंजी ने ब्यूटी कॉन्टेस्ट मिस यूनिवर्स 2019 का खिताब जीता है। अमेरिका में मिस साउथ अफ्रीका को यह ताज पहनाया गया।

10/12/2019

साइकिल से किया था चुनाव प्रचार, बने सांसद, मोदी ने बनाया मंत्री

ओडिशा की बालासोर सीट से प्रताप चंद्र सारंगी सासंद बने है। इसके बाद मोदी ने उन्हें राज्यमंत्री बनाया है। चुनाव जीतने के बाद से ही सारंगी चर्चा में हैं।

01/06/2019

#WorldPopulationDay: बढ़ती गई आबादी तो बस रहेगा संघर्ष ही संघर्ष

दुनिया में सबसे अधिक जनसंख्या वाले देशों में पहला स्थान चीन का है। अगले आठ वर्षों में यानि वर्ष 2027 में भारत चीन को पछाड़कर दुनिया का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन जाएगा और चीन दूसरे नंबर पर आ जाएगा।

11/07/2019

जयपुर में मकान खरीदना हुआ महंगा, डीएलसी दरों में बढ़ोतरी

जयपुर जिले में अब मकान खरीदना और महंगा हो जाएगा। कलेक्टर जगरूप सिंह यादव की अध्यक्षता में हुई जिला स्तरीय कमेटी की बैठक में आवासीय पर 10 से 15 प्रतिशत की डीएलसी दरों में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

31/08/2019

गौर-गौर गोमती ईसर पूजे पार्वती

गौर ए गणगौर माता खोल किंवाड़ी, पूजन हाळी बाहर खड़ी छै कांई कांई मांगी, कान्ह कंवर सूं बीरो मांगू राई सी भोजाई... गौर-गौर गोमती ईसर पूजे पार्वती... जैसे मांगलिक गीतों के बीच सुहागिनों और कुंवारी कन्याओं ने सोमवार को शिव-पार्वती का पूजन ईसर-गणगौर के रूप में किया।

09/04/2019

आसमान से खेत में गिरा रहस्यमयी पत्थर, देखने आ रहे लोग

बिहार के मधुबनी जिले के लौकही प्रखंड के कोरियाही गांव के एक खेत में आसमान से एक रहस्यमयी पत्थर गिरने का मामला चर्चाओं में है।

23/07/2019