Dainik Navajyoti Logo
Saturday 24th of October 2020
 
खास खबरें

पुलिस में सकारात्मक काम करना कम हो गया है: डीजीपी भूपेन्द्र सिंह

Monday, July 01, 2019 12:45 PM
पदभार संभालते डीजीपी भूपेन्द्र सिंह

राजस्थान के नए डीजीपी भूपेन्द्र सिंह ने पद संभालने के बाद ‘दैनिक नवज्योति’ से खास बातचीत की। उन्होंने कहा वर्तमान में पुलिस में नकारात्मकता ज्यादा है। ऐसे में पुलिस में सकारात्मक और अच्छे काम करना कम हो गया। भविष्य में सकारात्मक पहलू को बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा।



डीजीपी सिंह से बातचीत के प्रमुख अंश:-

सवाल: बजरी माफिया बनी पुलिस पर क्या कार्रवाई होगी?
जबाव: बजरी के मामले में पुलिस की भूमिका क्या है? किस तरह पुलिस पर आरोप लगते हैं या पुलिस मिलीभगत करती है, इस संबंध में अधिकारियों के साथ मिलकर बैठक करेंगे। पूरी हकीकम सामने आने के बाद निर्णय लिया जाएगा। निर्णय ऐसा होगा कि पुलिस की कार्यशैली पर सवाल नहीं उठे।


सवाल: प्रदेश में मॉब लिंचिंग के मामले हो रहे हैं? इन्हें कैसे रोकेंगे?
जबाव: मॉब लिंचिग के मामले होना अतिगंभीर विषय है। प्रदेश में ऐसे ज्यादा मामले नहीं हुए हैं, लेकिन यदि एक भी मामला मॉब लिंचिंग का सामने आता है तो गलत है। प्रयास होगा कि ऐसी कोई वारदात नहीं हो।


सवाल: साइबर और आर्थिक अपराध बड़ी चुनौती हैं और संसाधन कम?
जबाव: साइबर अपराध का ग्राफ बढ़ा है। इस रोकने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे। संसाधनों में बढ़ोतरी कर साइबर और आर्थिक अपराध को रोकने के लिए मंथन किया जाएगा। वहीं आमजन की सतर्कता भी अहम भूमिका में होगी।


सवाल: क्या प्रदेश में शुरू किए गए डिकॉय ऑपरेशन जारी रहेंगे?
जबाव: प्रदेश पुलिस में कोई भी प्रक्रिया शुरू होती है तो उसके नकारात्मक और सकारात्मक दोनों पहलू होते हैं। डिकॉय ऑपरेशन के मामले में पूरी जानकारी लेकर इस पर मंथन किया जाएगा। हाल में चलाए गए डिकॉय ऑपरेशन समेत अन्य निर्देश जारी रहेंगे।


सवाल: पुलिस हमेशा नफरी की कमी से जूझती रहती है, इसके लिए क्या प्रयास होंगे?
जबाव : नफरी बढ़ाने की प्रक्रिया निरंतर रहती है। हमेशा प्रयास रहते हैं। किसी भी भर्ती को पूरा होने में समय लगता है। हाल में मौजूदा नफरी के साथ मिलकर बेहतर काम करेंगे और नई भर्ती प्रक्रिया को समयानुसार प्रोसेस में लाएंगे।


सवाल: आपके पास सिर्फ छह माह हैं, इतने कम समय में बेहतर काम कैसे होंगे?
जबाव: किसी भी ऑर्गनाइजेशन में समय सीमा मायने नहीं रखती है। एक व्यक्ति ऑर्गनाइजेशन को नहीं चला सकता है। सभी लोग साथ मिलकर काम करते हैं। मैं भी सभी लोगों के साथ मिलकर राजस्थान पुलिस और जनता के लिए काम करूंगा।


सवाल: पुलिस में साप्ताहिक अवकाश की प्रक्रिया पूरी क्यों नहीं हो पा रही है?
जबाव: मैं जब जोधपुर एसपी था तब साप्ताहिक अवकाश की प्रक्रिया शुरू की थी, लेकिन व्यावहारिक कारणों से कुछ परेशानी का सामना करना पड़ा था। अब सभी अधिकारियों के साथ मिलकर यह तय किया जाएगा कि पुलिस के साप्ताहिक अवकाश को लागू करने में क्या परेशानी आ रही है और वह दूर कैसे होगी।


सवाल: एफआईआर के फ्री रजिस्ट्रेशन से अपराध दर्ज होने का ग्राफ बढ़ा है, नफरी की कमी से पेंडेंसी भी बढ़ेगी?
जबाव: एफआईआर दर्ज होनी चाहिए। वहीं पेंडेंसी नहीं बढ़े इसके लिए जांच अधिकारियों के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी। पेंडेंसी को कम करने के अधिकार सिपाही से लेकर उच्च स्तर तक तय करने की प्रक्रिया भी प्रभावी रूप से अमल में लाई जाएगी।

यह भी पढ़ें:

मदर्स डे विशेष : मां ये जीवन ही तुमसे है

मां एक शब्द ही नहीं है, इस शब्द में पूरा संसार समाया हुआ है। मां की परिभाषा का क्षेत्र सीमित नही है वो तो असीमित है किसी समंदर की तरह।

09/05/2019

पहली आदिवासी कमर्शियल पायलट बनी अनुप्रिया लाकड़ा, सीएम ने दी बधाई

माओवादी प्रभावित मल्कानगिरी की रहने वाली एक आदिवासी लड़की व्यावसायिक विमान उड़ाने वाली राज्य की पहली महिला बन गई है।

09/09/2019

FathersDay: मेरी ताकत मेरी पहचान हैं मेरे पिता...!!

मां बच्चों के लिए लाड़-दुलार, संस्कार देने की खान होती है तो पिता एक बरगद की तरह होता है। जिसके तले बच्चा सुरक्षित रहने के साथ उसे जीने की दिशा, अच्छे कामों के लिए मार्गदर्शन और उद्देश्य मिलता है। पिता के रहने से संतान खुद को बेहतर सुरक्षित महसूस करती है।

13/06/2019

निर्जला एकादशी पर होती है भगवान विष्णु की आराधना

ज्येष्ठ मास में शुक्लपक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी के रूप में मनाया जाता है। निर्जला एकादशी का व्रत विधान करके समस्याओं से मुक्त हो सकते हैं।

13/06/2019

रघुराम राजन की विदाई पर बेंगलुरु के रेस्तरां ने पेश किए दो पकवान

भारतीय रिजर्व बैंक के निवर्तमान गर्वनर रघुराम राजन की शान में बेंगलूर की एक रेस्त्रां कंपनी ने अपने मेन्यू में दो विशेष पकवान पेश किए हैं. बराबर चर्चाओं में रहे राजन ने केंद्रीय बैंक के काम-धाम पर अपना एक खास असर डाला है.

25/08/2016

साइकिल से किया था चुनाव प्रचार, बने सांसद, मोदी ने बनाया मंत्री

ओडिशा की बालासोर सीट से प्रताप चंद्र सारंगी सासंद बने है। इसके बाद मोदी ने उन्हें राज्यमंत्री बनाया है। चुनाव जीतने के बाद से ही सारंगी चर्चा में हैं।

01/06/2019

नवी मुंबई में इकट्ठा हुए हजारों प्रवासी राजहंस पक्षियों के झुंड, तस्वीरें आई सामने

कोरोना वायरस की वजह से पूरे देश को लॉकडाउन किया गया है। ऐसे में इंसान खुद को प्रकृति के नजदीक महसूस कर रहा है और नेचर भी लोगों को प्रभावित करने से पीछे नहीं हट रही है। कुछ ऐसा ही नजारा मुंबई में देखा गया, जहां माइग्रेंट (प्रवासी) फ्लेमिंगो (राजहंस) को देखकर ऐसा लग रहा है मानों धरती पर गुलाबी-सफेद चादर बिछ गई है।

20/04/2020