Dainik Navajyoti Logo
Thursday 21st of October 2021
 
खास खबरें

प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानियों पर डाक विभाग जारी करेगा स्पेशल कवर

Wednesday, October 13, 2021 14:20 PM
कॉन्सेप्ट फोटो

जयपुर। डाक विभाग राजस्थान सर्किल द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव पर बुधवार को प्रदेश के स्वतंत्रता सेनानियों पर छह स्पेशल कवर अलग-अलग डिविजन से जारी करेगा।  अर्जुन लाल सेठी (जयपुर) प्रदेश में क्रांतिकारी गतिविधियों के संचालक पंडित अर्जुनलाल सेठी ही थे। उनमें राष्ट्रभक्ति का अटूट जज्बा था। 1905 के बंगाल के स्वदेशी आंदोलन में उन्होंने सक्रिय भूमिका निभाई थी। प्रसिद्ध क्रांतिकारी रासबिहारी बोस, चन्द्रशेखर आजाद से उनके घनिष्ठ संबंध थे। सेठी कॉलोनी स्थित अर्जुन लाल सेठी पार्क में बुधवार सुबह 10:45 बजे अर्जुनलाल सेठी का कवर जारी किया जाएगा। वीरबाला कालीबाई (डूंगरपुर) मात्र 12 साल की उम्र में वीरबाला कालीबाई ने अपने गुरु सेंगाभाई के प्राणों की रक्षा के लिए अपने प्राण त्याग दिए। पाल नामक गांव में चल रही पाठशाला को मजिस्ट्रेट द्वारा बंद करने का आदेश देने के बाद विरोध करने वाले सेंगाभाई को ट्रक से बांधकर पुलिस घसीटती हुई ले गई। वीरबाला ने ट्रक की रस्सी काटकर गुरु को पुलिस के चुंगल से छुड़ाया था। फिर पुलिस ने कालीबाई पर गोलियां चला दी थी।  केसरी सिंह बारहठ (भीलवाड़ा) प्रसिद्ध राजस्थानी कवि और स्वतंत्रता सेनानी केसरी सिंह बारहठ ने पिंगल-डिंगल भाषा में काव्य सृजन किया था। बारहठ ने रास बिहारी बोस के साथ लॉर्ड हार्डिंग द्वितीय की सवारी पर बम फेंका था। कठोर यातना सहकर भी इन्होंने अपने क्रांतिकारी साथियों का भेद ब्रिटिश सरकार को नहीं दिया। मोतीलाल तेजावत (उदयपुर) आदिवासियों का मसीहा मोतीलाल तेजावत ने वनवासी संघ स्थापित किया था। भील, गरासिया और अन्य खेतीहर किसानों पर होने वाले सामन्ती अत्याचारों का विरोध किया और सबको एकजुट किया। उन्होंने किसानों से बेगार बंद कराकर कामगारों को उनकी उचित मजदूरी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। वह ग्रादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष भी रहे थे। बाल मुकुंद बिस्सा (नागौर) आदिवासियों का मसीहा मोतीलाल तेजावत ने वनवासी संघ स्थापित किया था। भील, गरासिया और अन्य खेतीहर किसानों पर होने वाले सामन्ती अत्याचारों का विरोध किया और सबको एकजुट किया। उन्होंने किसानों से बेगार बंद कराकर कामगारों को उनकी उचित मजदूरी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। वह ग्रादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष भी रहे थे। बाल मुकुंद बिस्सा (नागौर) 1924 में चरखा एजेंसी व खादी भंडार की स्थापना की। 1942 में जयनारायण व्यास के नेतृत्व में शुरू हुए जन आंदोलन के दौरान बालमुकुन्द बिस्सा को भारत रक्षा कानून के तहत जोधपुर की जेल में डाल दिया गया। इन्हें राजस्थान का जतिन दास कहा जाता है। गणेशलाल व्यास उस्ताद साहित्य सूरमाओं की फेहरिस्त में कई नाम शामिल होेने के बावजूद सबसे अलग थे जनकवि उस्ताद गणेश लाल व्यास। मानव की परेशानियों व उनके दर्द को अपने स्वर देकर वे जनकवि कहलाए। लोकगीतों को काव्य रुप में संजोकर इन्होंने महान कार्य किया। वह राजस्थानी, हिंदी, उर्दू और अंग्रेजी के भी ज्ञानी थे। राजस्थानी भाषा साहित्य व संस्कृत अकादमी बीकानेर ने इनके नाम पर पुरस्कार भी घोषित कर रखा है जो राजस्थानी भाषा पद्य विद्या के लिए दिया जाता है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

खरगोश के बाल पर लिखा है गायत्री मंत्र

जब किसी संग्रहालय की रचना करते हैं तो उसका उद्देश्य लोगों को उस युग में ले जाना जहां से उन्हें इतिहास का दर्शन हो सके।

19/05/2019

घटस्थापना और पूजा विधि

वर्ष में चार नवरात्रि आती है। चैत्र माह में बड़ी नवरात्रि और आषाढ़ और आश्विन माह में शारदीय नवरात्रि जिसे छोटी नवरात्रि कहते हैं। पहले साधना की और दूसरी साधना और उत्सव दोनों की होती है।

07/10/2021

साल बदला, कुछ नियम भी बदले, आज से 5000 रुपए तक का कॉन्टैक्टलेस कार्ड पेमेंट

नव वर्ष के आगमन के साथ ही कुछ बदलाव और नियम देश में लागू हो जाएंगे। इन नियमों का आपके पैसों के लेनदेन, बीमा, चैटिंग, कार खरीदारी और कारोबार तक पर असर पड़ेगा। कुछ नियम ऐसे भी हैं जो जनवरी माह से तो अमल में आएंगे लेकिन 1 जनवरी से ही प्रभावी नहीं होंगे।

01/01/2021

अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव में हैरिटेज वॉक ने मोह लिया सबका मन

अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव के दौरान हेरिटेज वॉक का आयोजन किया गया, जिसमें सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं देशी विदेशी पर्यटकों सहित मेहमानों की आदर, सत्कार एवं सद्भावना के साथ मीठी मनुहार ने सबका मन मोह लिया।

13/01/2020

ग्रह-नक्षत्रों के दुर्लभ योग में मनाई जाएगी दीपावली, 1521 में बना था गुरु, शुक्र और शनि का ऐसा संयोग

कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को दीपावली का त्योहार मनाया जाता है। यह तिथि सर्वार्थसिद्धि देने वाली मानी गई है। इस वर्ष दीपावली का त्योहार 14 नवंबर को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। दीपावली पर धन की देवी मां लक्ष्मी का पूजन होता है। माना जाता है कि इस दिन मां लक्ष्मी स्वयं पधारती हैं। इस दिन पूरे विधि-विधान के साथ पूजन करने पर सुख-समृद्धि बनी रहती है।

13/11/2020

एक कॉल पर मोबाइल वैन घर पहुंचाएगी पौधे, जयपुर से शुरुआत

प्रदेश में पहली बार मोबाइल वैन की शुरूआत जयपुर से की गई है। इसके तहत अगर किसी व्यक्ति को पौधों की आवश्यकता है तो वे डिविजनल ऑफिस के फोन नम्बर पर कॉल कर पौधे मंगवा सकते हैं।

08/08/2019

अजब गजब: रहस्यमयी तरीके से प्रकट हुआ था शहर, प्लेस ऑफ गॉड के नाम से दुनियाभर में मशहूर

हमारी पृथ्वी लाखों करोड़ों रहस्यों से भरी पड़ी है। जिनमें से दुनियाभर के वैज्ञानिक कुछ ही रहस्यों के बारे में अब तक जान पाए हैं। अभी भी इतने रहस्य दुनियाभर में मौजूद हैं कि पूरी मानव सभ्यता भी इन्हें जानने की कोशिश करे तो शायद जान नहीं पाएगी। आज हम आपके एक ऐसे ही रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं। जो मानव सभ्यता का सबसे बड़ा रहस्य भी है। हम बात कर रहे हैं मैक्सिको के एक शहर के बारे में। जिसे प्लेस ऑफ गॉड के नाम से जाना जाता है।

24/02/2021