Dainik Navajyoti Logo
Friday 23rd of October 2020
 
खास खबरें

मंत्रमुग्ध कर देने वाला वन्यजीव अभ्यारण्य पोबितोरा, एक सींग के गेंडे के लिए प्रसिद्ध है यह अभ्यारण्य

Wednesday, October 07, 2020 11:40 AM
मंत्रमुग्ध कर देने वाला वन्यजीव अभ्यारण्य।

गुवाहाटी। भ्रमण और अन्वेषण करने के इच्छुक लोग वनस्पति और जीव-जंतुओं से भरपूर खूबसूरत पूर्वोत्तेर भारत का रुख कर सकते हैं। ऐसा ही एक स्थान असम के मोरीगांव जिले में ब्रह्मपुत्र नदी के दक्षिणी तट पर स्थित पोबितोरा वन्यजीव अभ्यारण्य है। यह मंत्रमुग्ध कर देने वाला वन्यजीव अभ्यारण्य है। निम्नर हिमालय की ताजगी से भरी हवा, अभ्यारण्य की हरियाली और शांति, साथ ही साथ प्रकृति के साथ एकाकार होने का अपूर्व अनुभव किसी भी व्यक्ति को इस अद्भुत स्थल की ओर आकृष्ट  करने के लिए पर्याप्त है। यहां गेंडों की घनी आबादी इन विलुप्त प्राय जीवों को देखने की व्या पक संभावना प्रस्तुत करती है। पोबितोरा वन्यजीव अभ्यारण्य में एलिफेंट और जीप सफारी, नौका विहार और स्थानीय लोक संस्कृति के नजारे विदेशी पर्यटकों को बेहद लुभाते हैं। यहां गेंडों की बड़ी तादाद को देखकर कोई भी दांतों तले उंगलियां दबा सकते हैं।

पोबितोरा वन्य जीव अभ्यारण्य का कुल 38.80 वर्ग किलोमीटर अधिसूचित क्षेत्र भारतीय गेंडों को घास के मैदानों और दलदली भूमि से भरपूर पर्यावास उपलब्ध कराता है। पोबितोरा को 1971 में आरक्षित वन घोषित किया गया था और बाद में 1987 में इसे वन्यजीव अभ्यारण्य घोषित कर दिया गया। यह समतल जलोढ़ घास के मैदानों और एक पहाड़ी को कवर करता है, जिसे जादुई गांव मेयोंग के नाम से जाना जाता है। पोबितोरा वन्य जीव अभ्यारण्य पर्वतीय स्थल है और ऊंचाइयों में अंतर होने के कारण यहां व्यापक वनस्पतियां पाई जाती हैं। अभ्यारण्य में सभी जगहों पर बड़ी संख्या में नारियल के पेड़ मौजूद हैं। दुनिया में एक सींग वाले गैंडों का सबसे अधिक घनत्व यहीं पाया जाता है और काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के बाद असम में यह दूसरा सबसे अधिक सघनता वाला स्थान है। समान परिदृश्य और वनस्पति के कारण इसे अक्सर मिनी काजीरंगा कहा जाता है। यह वन्यजीव अभ्यारण्य विलुप्त प्राय एक सींग वाले गैंडों और तेंदुआ बिल्ली, फिशिंगकैट, जंगली बिल्ली, जंगली भैंस, जंगली सुअर, चीनी पैंगोलिन आदि जैसे अन्य स्तन धारियों का भी आशियाना है।

पोबितोरा में अद्भुत प्रवासी पक्षियों और विभिन्न सरीसृपों का भी वास है। गणना के अनुसार इनकी संख्या 2000 से अधिक है। यहां एक सफल गेंडा प्रजनन कार्यक्रम का भी संचालन कर रहा है। 2005 में प्रारंभ किया गया इंडियन राइनोविजन 2020, असम में सात संरक्षित क्षेत्रों में फैले एक सींग वाले गैंडों की तादाद को वर्ष 2020 तक कम से कम 3,000 तक ले जाने का एक महत्वाकांक्षी प्रयास है। पोबितोरा वन्यजीव अभ्यारण्य जाने का सबसे अच्छा समय नवम्बर से फरवरी है, क्योंकि इस समय वहां दिन भर मौसम सुहावना रहता है और रात सर्द रहती हैं। यहां सर्दी बहुत ज्यादा पड़ती है, इसलिए दिसम्बर-जनवरी के दौरान वहां जाने वालों को अपने साथ ढेर सारे ऊनी वस्त्र ले जाने पड़ते हैं। गुवाहाटी से पोवितोरा एक संकरी सड़क के रास्ते 2 घंटे में पहुंचा जा सकता है और गुवाहाटी में अनेक होटल मौजूद हैं, जिनमें लक्जरी से लेकर आर्थिक रूप से किफायती होटल शामिल हैं। पोबितोरा में आलीशान रिजॉट्स में भी ठहरा जा सकता है। वहां के नजारे और प्रभात की वेला में सफारी पर्यटकों के आकर्षण का एक और केंद्र है।

मॉनसून के दौरान यहां जाने से बचना चाहिए क्योंकि यह क्षेत्र बाढ़ की दृष्टि से अतिसंवेदनशील है और सड़कों की हालत सफर को लगभग असम्भव बना देती है। हमें यह स्वीकार करना होगा कि लॉकडाउन के दौरान दुनिया भर में प्रदूषण की मात्रा में कमी आई है और प्रकृति मां स्वयं का उपचार कर रही है। आइए हम बेहतर दिनों की आस और प्रार्थना करें। यह वक्ती भी जल्दीर ही गुजर जाएगा।
-शंख सुब्रा देवबर्मन, क्षेत्रीय निदेशक, पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार

यह भी पढ़ें:

जयपुर के सबसे प्रसिद्ध MI रोड पर ट्रैफिक जाम और पार्किंग की समस्या से बिगड़ते जा रहे हालात

मिर्जा स्माइल (MI Road) पर रोड पर अजमेरी गेट ट्रैफिक पॉइंट पर भारी जाम से राहगीरों को रेंग-रेंग कर चलना पड़ता है।

03/09/2019

आंखों की रोशनी जाने के बाद संघर्ष से रोशन की जिंदगी, दुनियाभर में कमाया नाम

फिर भी जीवन में कभी हार नहीं मानी और हर मोर्चे पर डटकर सामना कर मुकाम पाया है।

07/11/2019

स्कूलों में बढ़ रही है काउंसलिंग की जरूरत

बदलते शिक्षा व्यवस्था के चलते बच्चों की सोच को और अधिक विकसित करने की जरूरत है। इसके लिए बच्चों को स्कूलों में पढ़ाई के साथ ही बेहतर परामर्श की आश्यकता पड़ती है, लेकिन अधिकांश निजी स्कूल प्रशासन इस तरफ कोई ध्यान नहीं देते है और स्कूलस्तर पर खानापूर्ति करते रहे है।

11/06/2019

संघ पर फिर बरसे राहुल गांधी

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के बारे में दिए गए अपने बयान पर वे अडिग हैं।

25/08/2016

ये है मैक्सिको का 700 साल पुराना सिक्का

शौकिया तौर पर शुरू किए गए संग्रह से पहचान मिली है। सिक्कों का संग्रह केवल संग्रह ही नहीं बल्कि भारत के विभिन्न राज्यों के पुराने समय की कला, सभ्यता और इतिहास की जानकारी भी देते हैं।

06/04/2019

मॉन्यूमेंट्स के ऑनलाइन टिकट की व्यवस्था, अब रेलवे की तर्ज पर फोन पर आएगा ई-टिकट का मैसेज

प्रदेश में पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के अधीन आने वाले मॉन्यूमेंट्स के ऑनलाइन टिकट की व्यवस्था कर दी गई है। अब पर्यटक कहीं से भी और कभी भी मॉन्यूमेंट्स के टिकट ऑनलाइन खरीद सकते हैं। अब रेलवे की तर्ज पर पर्यटकों के मोबाइल नम्बर पर भी मॉन्यूमेंट्स की ई-टिकट की जानकारी का मैसेज आएगा।

09/10/2020

14वें ‘दिव्यांग टैलेंट एंड फैशन शो’ में दिव्य हीरोज ने दिखाई प्रतिभा

नारायण सेवा संस्थान की ओर से मुंबई के जेवीपीडी ग्राउंड में आयेाजित 14वें ‘दिव्यांग टैलेंट एंड फैशन शो’ में दिव्य हीरोज ने व्हीलचेयर, बैसाखी, कैलीपर्स और कृत्रिम अंगों पर अपने वजन को संभाले हुए आश्चर्यजनक स्टंट और नृत्य करते हुए अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

13/11/2019