Dainik Navajyoti Logo
Monday 25th of January 2021
 
खास खबरें

'पैड वुमन ऑफ राजस्थान', 7 साल में एक लाख से अधिक सेनेटरी पैड किए वितरित

Monday, May 25, 2020 11:00 AM
भारती सिंह।

जयपुर। पूरे विश्व में 28 मई को मासिक धर्म स्वच्छता दिवस मनाया जाता है। देश-विदेश में इसी महीने सैकड़ों चर्चाएं और संगोष्ठियां आयोजित की जाती हैं, जहां महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर बात होती है। फिर भी कई ऐसे मुद्दे हैं जो आज भी महिलाओं से कोसो दूर हैं या यो कहें कि वो आज भी अनसुने, अनकहे व पूरी तरह से नजरअंदाज हैं। यह कहना है 'पैड वुमन ऑफ राजस्थान' कही जाने वाली भारती सिंह चौहान का। उनका कहना है कि अब समाज और प्रबुद्धजनों को महिलाओं के इस एक बेहद संवेदनशील मुद्दें मासिक धर्म या माहवारी को पहली प्राथमिकता दी जाए और इस पर खुल कर विभिन्न मंचों पर बातचीत की जाए। इसी विषय को लेकर पिछले 7 साल से राज्यभर के अलग-अलग जिलों में इसके लिए काम कर रही हूं। भारती का कहना है कि माहवारी पर बात ये आज की बात नहीं ये हमारे पुराने जमाने से चली आ रही सामाजिक पारम्परिक समस्या है।

14 हजार से अधिक को दे चुकी हैं ट्रेनिंग
भारती सिंह चौहान पिछले 7 सालों से राजस्थान के 9 जिलों के 30 गावों में 135 कार्यशालाओं के माध्यम से शहरी और ग्रामीण परिवेश की जरूरतमंद किशोरियों और महिलाओं को सुरक्षित माहवारी प्रबंधन के लिए शिक्षित और जागरूक कर चुकी हैं। साथ ही उन्हें नि:शुल्क सेनेटरी पैड भी उपलब्ध करवाएं हैं। क्लॉथ रियूसेबल सैनिटरी पैड पर आने से पहले भारती सिंह चौहान की संस्था ने महिलाओं और किशोरियों को अब तक करीब एक लाख 36 हजार डिस्पोजेबल सेनेटरी पैड नि:शुल्क बांटे हैं। इसके अतिरिक्त भारती अपनी संस्था के माध्यम से शहरी और ग्रामीण जरूरतमंद 14,073 किशोरियों और महिलाओं को पर्सनल हाइजीन और मेंस्टरेशन हाइजीन पर ट्रेनिंग दे चुकी हैं।

36 राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित
'पैड वुमन ऑफ राजस्थान' भारती सिंह सोशल एक्टिविस्ट और सोशल इंटरप्रेन्योर, पर्यावरणविद् के साथ एक मोटिवेशनल स्पीकर भी है। भारती का उद्देश्य महिला शिक्षा, सुरक्षा, स्वास्थ्य और सतत आजीविक के साथ इनका सर्वांगीण विकास करना और महिलाओं में आत्मनिर्भरता और जागरुकता पैदा करना हैं। उन्हें अपने सामाजिक कार्यों के लिए 36 राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कारों के साथ पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी सम्मानित कर चुके हैं। हाल ही में भारती सिंह चौहान को अमेरिका के सेनफ्रांसिस्को में फेसबुक मुख्यालय में ‘टेल हर स्टोरी’ कांटेस्ट में साउथ एशिया से अकेली भारतीय महिला होने पर सम्मान मिला। फेसबुक जल्दी ही उनकी कहानी पर एक फिल्म बनाएगा।

यह भी पढ़ें:

पहली आदिवासी कमर्शियल पायलट बनी अनुप्रिया लाकड़ा, सीएम ने दी बधाई

माओवादी प्रभावित मल्कानगिरी की रहने वाली एक आदिवासी लड़की व्यावसायिक विमान उड़ाने वाली राज्य की पहली महिला बन गई है।

09/09/2019

उत्तरप्रदेश के इस शहर में रावण को देखा जाता है संकट मोचक की भूमिका में

देश भर में आयोजित रामलीलाओं में खलनायक की भूमिका में नजर आने वाला रावण उत्तर प्रदेश के इटावा के जसवंतनगर में संकट मोचक की भूमिका में पूजा जाता है। यहां रामलीला के समापन में रावण के पुतले को दहन करने के बजाय उसकी लकड़ियों को घर ले जा कर रखा जाता है ताकि साल भर उनके घर में विघ्न या कोई बाधा उत्पन्न न हो सके।

05/10/2019

ग्रह-नक्षत्रों के दुर्लभ योग में मनाई जाएगी दीपावली, 1521 में बना था गुरु, शुक्र और शनि का ऐसा संयोग

कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को दीपावली का त्योहार मनाया जाता है। यह तिथि सर्वार्थसिद्धि देने वाली मानी गई है। इस वर्ष दीपावली का त्योहार 14 नवंबर को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। दीपावली पर धन की देवी मां लक्ष्मी का पूजन होता है। माना जाता है कि इस दिन मां लक्ष्मी स्वयं पधारती हैं। इस दिन पूरे विधि-विधान के साथ पूजन करने पर सुख-समृद्धि बनी रहती है।

13/11/2020

मंगल ग्रह 24 दिसंबर को मेष राशि में करेगा गोचर, प्राकृतिक आपदा की संभावना

मंगल ग्रह का 24 दिसंबर को सुबह 11 बजे राशि परिवर्तन होगा। मंगल ग्रह मीन राशि से निकलकर अपनी स्वराशि मेष राशि में प्रवेश करेंगे। मंगल ग्रह मेष राशि में करीब 60 दिन रहेंगे यानी 22 फरवरी तक मेष राशि में रहने के बाद शुक्र की वृषभ राशि में चले जाएंगे। मेष राशि में मंगल का यह गोचर ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से काफी महत्वपूर्ण है।

21/12/2020

दिल्ली से जयपुर और अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन चलाने की तैयारी

रेलवे ने बुलेट ट्रेन के लिए दिल्ली-जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद समेत 6 नए कॉरिडोर चिन्हित किए हैं। इसकी डीपीआर एक साल में तैयार हो जाएगी। इनमें हाई स्पीड कॉरिडोर पर ट्रेन की रफ्तार 300 किलोमीटर प्रति घंटे होगी, जबकि सेमी हाई स्पीड कॉरिडोर पर ट्रेन 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी।

30/01/2020

स्पेशल बच्चों की ख्वाहिशें देख भावुक हुए लोग

अच्छी शिक्षा और कौशल प्रशिक्षण हासिल करने के बाद हमें रोजगार के बराबर अवसर मिलें, हमारी काबलियत को इंडस्ट्री के लोग समझकर अपना हिस्सा मानें तभी सही मायने में समावेशी समाज बन पाएगा।

03/12/2019

परदेसी बाबू पर आया राजस्थानी लड़की का दिल, लिए सात फेरे

चित्तौड़गढ़। चित्तौड़गढ़ की एक बेटी परदेसी बाबू को दिल दे बैठी, लेकिन परदेसी बाबू को बेटी के साथ-साथ भारत की सभ्यता एवं संस्कृति इतनी अधिक अच्छी लगी कि वह भारतीय परम्परा के अनुसार, चित्तौड़गढ़ की इस बेटी के साथ सात फेरे लेने के लिए अपने परिवार के अन्य सदस्यों एवं दोस्तों के साथ चित्तौड़गढ़ आ पहुंचा।

31/01/2020