Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 28th of October 2020
 
खास खबरें

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से जुड़ी कई योजनाएं आज भी अधूरी

Wednesday, October 02, 2019 12:05 PM
महात्मा गांधी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जीवन भर हिंदी के लिए लड़ते रहे, लेकिन पिछले 10 वर्षों से 'गांधी वांग्मय' हिंदी में उपलब्ध नहीं है और उनके 150वें जयंती वर्ष में यह फिर से प्रकाशित नहीं हो पाया है। इस बीच 100 खंडों में अंग्रेजी में प्रकाशित 'गांधी वांग्मय' की डीवीडी भी आ गया है और सम्पूर्ण सेट पेन ड्राइव में भी उपलब्ध हो गया है, लेकिन हिंदी में यह आज तक उपलब्ध नहीं हो पाया है। इतना ही नहीं साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष विश्वनाथ तिवारी के संपादन में गांधी पर भारतीय भाषाओं में लिखे गए प्रमुख लोगों के संस्मरण और कविताओं का एक संग्रह भी 150वें जयंती वर्ष में प्रकाशित होने वाला था, लेकिन वह आज तक नहीं निकल सका है, क्योंकि कॉपीराइट की अनुमति आज तक उन्हें नहीं मिल पाई और वह योजना खटाई में पड़ गई।   

ललित कला अकादमी ने संस्कृति मंत्रालय को गांधी जी से सम्बंधित कई प्रस्ताव भेजे, लेकिन 150वां जयंती वर्ष बीत जाने तक कोई स्वीकृति नहीं मिल पाई। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार 'गांधी वांग्मय' का संपूर्ण सेट 1998 में प्रकाशित हुआ था, लेकिन करीब 10 वर्षों से वह अनुपलब्ध है। उसे दोबारा छापने का काम चल रहा है और उम्मीद है कि इस वर्ष के अंत तक आ जाएगा। सूत्रों का कहना है कि प्रकाशन विभाग ने गांधी जी की 150वीं जयंती के मौके पर उन पर 21  किताबें फिर से प्रकाशित की हैं। जिनमें 16 हिंदी में हैं। इनमें 'चंपारण पुराण', 'गांधी शतदल', गांधी की प्रार्थना सभा के भाषण और गांधी के संस्मरण प्रमुख हैं।

'गांधी वांग्मय' प्रकाशित करने की योजना नेहरू जी के कार्यकाल में बनी थी और 1956 में इस पर काम शुरू हुआ और 1994 तक आते आते इसके सौ खण्ड छपे। इसके बाद 1998 में इसके हिंदी अनुवाद के सभी खण्ड आए। 'गांधी वांग्मय' के मुख्य संपादक प्रो. के स्वामीनाथन ने इस काम में अपने जीवन के 30 वर्ष दिए। सूत्रों के अनुसार 'गांधी वांग्मय' का सम्पूर्ण डीवीडी सेट मात्र 800 रुपए, जबकि पेन ड्राइव सेट 1800 रुपए में उपलब्ध है।

यह भी पढ़ें:

अब बायोलॉजिकल पार्क में भी हाथी सफारी

गुलाबी नगरी आने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों को में हाथी सफारी का क्रेज देखा जा सकता है। आमेर महल में पर्यटक लाइन में लगकर हाथी सफारी में अपने नम्बर आने का इंतजार करते देखे जा सकते हैं।

04/07/2019

यह है AAP का सबसे छोटा 'मफलरमैन', जो पहुंचा अरविंद केजरीवाल से मिलने

आप के कार्यकर्ता पार्टी मुख्यालय में जश्न मना रहे हैं तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर भी समर्थक खुशी से झूम रहे हैं।

11/02/2020

गुजरात के इस माता के मंदिर में नवरात्री के नौवें दिन बहती है घी की नदी

गुजरात में गांधीनगर जिले के रूपाल गांव में वरदायिनी माता की पल्ली पर सोमवार को करीब चार लाख किलोग्राम शुद्ध घी का अभिषेक किया जाएगा।

07/10/2019

साइकिल वाले ने बनाई महादानियों की सेना, जो हमेशा रक्तदान के लिए रहती है तैयार

मैं अकेला ही चला था जानिब-ए-मंजिल, लोग मिलते गए और कारवां बनता गया। एक शायर का यह शेर चूरू में साइकिल की दुकान चलाने वाले अमजद तुगलक पर सटीक चरितार्थ होता नजर आ रहा है।

30/08/2019

बैंकिंग और रेलवे सहित इन नियमों में हुए बदलाव

अप्रैल में कई नए नियम लागू हुए और कुछ नियमों में बदलाव भी किया गया। नए नियमों के तहत एसबीआई बैंक की डिपॉजिट और लोन की ब्याज दरें आरबीआई की बेंचमार्क दर से जुड़ गई हैं।

02/05/2019

दिल्ली से जयपुर और अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन चलाने की तैयारी

रेलवे ने बुलेट ट्रेन के लिए दिल्ली-जयपुर-उदयपुर-अहमदाबाद समेत 6 नए कॉरिडोर चिन्हित किए हैं। इसकी डीपीआर एक साल में तैयार हो जाएगी। इनमें हाई स्पीड कॉरिडोर पर ट्रेन की रफ्तार 300 किलोमीटर प्रति घंटे होगी, जबकि सेमी हाई स्पीड कॉरिडोर पर ट्रेन 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी।

30/01/2020

क्रिएटिविटी से डाक टिकट कलेक्शन को बनाया स्पेशल

डाक टिकट संग्रहणकर्ता यानि स्टैम्प संग्रहकर्ता जब इन टिकटों को अपने कलेक्शन में रखने का शौक शुरू करते हैं तो अपनी थीम को लेकर उनमें एक जूनून देखने को मिलता है।

14/06/2019