Dainik Navajyoti Logo
Friday 28th of January 2022
 
खास खबरें

80 साल पहले बापू का दैनिक नवज्योति में लिखा यह लेख राजस्थान की पत्रकारिता की निधि है

Saturday, October 02, 2021 12:05 PM
फाइल फोटो

मुझे डर था कि कहीं जोधपुर का सत्याग्रह गंभीर और विरूप में बन जाय। मैं देखता हूं कि आखिर वहीं हुआ। मेरे पास ढेरों पत्र आये है। जिनमें मालूम होता है कि गिरफ्तारियां बढ़ रही है और लाठीचार्ज रोजमर्रा की चीज बन गया है। सरकारी तौर पर यह हुक्म जारी किया गया है कि कोई सत्याग्रहियों को अपने घरों में न रहने दे। ब्रिटिश भारत में सत्याग्रह  आन्दोलन के समय जो बुरी से बुरी कार्रवाइयां हुई थी, वे सब आज जोधपुर में दोहराई जा रही हें। फर्क इतना ही है कि जोधपुर में सर्वसाधारण जनता की नजरों से बहुत दूर, एकान्त में हो रही है। हो सकता है कि वहां जनता के बिना जाने ही कोई अत्यन्त रूग्ण दुर्घटना घट जाय और वह वहीं दबा दी जाय, जिस तरह ऐसी दुर्घटनायें अब तक दबाई गई हैं और आज भी दबाई जा रही है। इन सब मुसीबतों का एक ही कारण है और इलाज भी एक ही। जब तक वह इलाज कामयाबी के साथ नही किया जाता, यह दु:खद नाटक किसी न किसी रूप मे होता ही रहेगा। ऐसी गावों में होने वाली ऐसी हर एक घटना के लिये ब्रिटिश सरकार भी दोषी है। वह अपने इस दोष की जिम्मेदारी से बच नहीं सकती। आज जोधपुर में शान्ति और सुव्यवस्था के नाम पर जिस तरह की अमानुष कार्रवाइयां हो रही है उनमें देशी राज्यों की  जनता की रक्षा करने के लिए भारत सरकार अपनी संधि की शर्तो के अनुसार बंधी हुई है। सत्याग्रही  कैदियों को जेल के अन्दर भी कोई आराम  नहीं मिल रहा है उन्हें खराब खाना मिलताहै और मामूली सहुलियते भी नहीं दी जाती। उसके विरोध में भी जयनारायण व्यास ने भूख हडताल शुरू की है, यह हडताल या तो  शिकायतें दूर होने पर खुलेगी या मरने पर । अगर इन्हे मरना ही पडा तो इनकी मौत के लिये खास   तौर पर वे लोग जिम्मेदार होंगे, जिनकी दी हुई तकलीफों के कारण कैदियों को आमरण अनशन करने के लिये विवश होना पडा है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

पति-पत्नी एक साथ बने अधिकारी, हासिल किया पहला और दूसरा स्थान

छत्तीसगढ़ लोकसेवा आयोग की परीक्षा में अनुभव सिंह और पत्नी विभा सिंह टॉपर रहे है। यह दोनों पति अनुभव सिंह टॉपर और पत्नी है।

27/07/2019

साल बदला, कुछ नियम भी बदले, आज से 5000 रुपए तक का कॉन्टैक्टलेस कार्ड पेमेंट

नव वर्ष के आगमन के साथ ही कुछ बदलाव और नियम देश में लागू हो जाएंगे। इन नियमों का आपके पैसों के लेनदेन, बीमा, चैटिंग, कार खरीदारी और कारोबार तक पर असर पड़ेगा। कुछ नियम ऐसे भी हैं जो जनवरी माह से तो अमल में आएंगे लेकिन 1 जनवरी से ही प्रभावी नहीं होंगे।

01/01/2021

कोरोना में देश के अमीर हुए और अमीर, अरबपतियों की संख्या 102 से बढ़कर 142 हुई

ऑक्सफैम की रिपोर्ट : 84% परिवारों की आय में गिरावट

18/01/2022

पंजशीर घाटी में तालिबान की बड़ी बाधाएं

काबुल से 125 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है पंजशीर

25/08/2021

आसमान से खेत में गिरा रहस्यमयी पत्थर, देखने आ रहे लोग

बिहार के मधुबनी जिले के लौकही प्रखंड के कोरियाही गांव के एक खेत में आसमान से एक रहस्यमयी पत्थर गिरने का मामला चर्चाओं में है।

23/07/2019