Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 20th of October 2020
 
खास खबरें

घोंसलों में नहीं, फ्लैट्स में परिंदों का बसेरा, रोज करते हैं मुंह मीठा

Monday, July 29, 2019 12:35 PM
जयपुर के मुरलीपुरा निवासी अशोक कुमार ने परिंदों के लिए लकड़ी, मिट्टी और हार्डबोर्ड से बनाए घरौंदों को फ्लैट्स का नाम दिया है।

जयपुर।  आपको पढ़कर कुछ अजीब सा लगे, लेकिन यह सच है कि राजधानी जयपुर के मुरलीपुरा निवासी अशोक कुमार ने परिंदों के लिए लकड़ी, मिट्टी और हार्डबोर्ड से बनाए घरौंदों को फ्लैट्स का नाम दिया है। जिसमें 1-2-3-4 और 5 बीएचके के फ्लेट्स में पक्षी रहते हैं। पक्षियों के प्रति इनकी दीवानगी देखने को मिलती है कि उन्होंने पक्षियों के खाने-पीने के लिए घर की छत पर एक आकर्षक रेस्टोरेंट बनाया है, जहां विभिन्न प्रजातियों के पक्षी बिना की भेदभाव के ज्वार, बाजरा, मक्का, दालें और बिस्किट्स का लुत्फ उठा रहे हैं।

‘अपना संस्थान’ एनजीओ संचालित करने वाले 49 वर्षीय अशोक कुमार शिक्षा की अलख जलाकर बच्चों को भी पक्षियों और पर्यावरण के प्रति प्रेम की भावना जगा रहे हैं, ताकि वे भी आगे बढ़कर पक्षियों के लिए कुछ कर सकें।

27 हजार से अधिक घरौंदे बनाए
अशोक कुमार ने एक साल के भीतर पक्षियों के लिए करीब 27 हजार से अधिक घरौंदें बनाए हैं। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में उन्हें जब भी समय मिलता है, तो वह उस समय को पक्षियों के घरौंदे बनाने या फिर उनके खान-पान की व्यवस्था को देखने में बीताते हैं। अशोक कुमार ने अपने घर में पक्षियों के घरौंदों के नाम फ्लेट्स के नाम पर रखे हैं, जिसमें पक्षी अपने बच्चों के साथ रह रहे हैं।


मीठे से सुबह की शुरूआत
अशोक कुमार ने घर की छत पर बनाए रेस्टोरेंट पर पक्षियों के लिए ज्वार, बाजरा, दाल की व्यवस्था तो कर ही रखी हैं। वहीं दूसरी ओर सुबह-सुबह वे रेस्टोरेंट में पक्षियों के लिए बूंदी का लड्डू रखते हैं, ताकि उनकी सुबह की शुरूआत मीठे से हो। घर की छत पर लोहे के एंगल के सहारे छायादार जगह बनाई है। जिसमें एक साथ कई परिंदे दाना चूग सकते हैं। उन्होंने बताया कि पक्षियों की चहचहाट से घर में आनन्द की अनुभूति होती है। ऐसा लगता है जैसे घर में एक परिवार नहीं बल्कि कई परिवारों का बसेरा हो। मन को इस इस बात की तसल्ली मिलती है कि इन बेसहारा पक्षियों को घर दे पाया हूं। लोगों से भी अपनी करना चाहता हूं कि वे भी पक्षियों के लिए घर की बालकनी, छतों आदि पर घरौंदे लगाए, ताकि इन्हें भी एक अपना घर मिल सके।


जन्मदिन पर बनवाते हैं घरौंदे
अशोक कुमार ने बताया कि वे इससे पहले कॉलेज में पढ़ाया करते थे। वहां के स्टूडेंट्स आज भी मेरे सम्पर्क में रहते हैं। जब भी किसी स्टूडेंट का जन्मदिन आता है तो वे इस दिन दोस्तों, रेस्टोरेंट, मॉल आदि में पैसे खर्च करने के बजाए पक्षियों के लिए घरौंदे बनाने के लिए पैसे खर्च करते हैं। उनकी यह सोच देखकर लगता है कि स्टूडेंट्स स्वयं की बजाए प्रकृति के इन अनमोल रत्न कहे जाने वाले पक्षियों के लिए भी सोचते हैं। इसके अतिरिक्त अशोक कुमार जल संरक्षण के लिए भी कार्य करने के साथ ही दूसरों को भी जागरूक कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें:

ऑक्शन पॉलिसी में बदलाव किया है, जेडीए की आय बढ़ी है: आयुक्त टी रविकांत

जयपुर विकास प्राधिकरण के आयुक्त टी रविकांत ने कहा कि जेडीए में आने वाले हर व्यक्ति की समस्याओं का समाधान करना उनकी पहली प्राथमिकता है।

22/12/2019

रणथम्भौर किले में पर्यटकों के लिए बनाया बेबी फिडिंग कक्ष

प्रदेश के किले-महल पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। इसी का नतीजा है कि हर साल लाखों की संख्या में देशी-विदेशी पर्यटक मरु प्रदेश की ओर रूख करते हैं।

05/02/2020

जयपुर के सबसे प्रसिद्ध MI रोड पर ट्रैफिक जाम और पार्किंग की समस्या से बिगड़ते जा रहे हालात

मिर्जा स्माइल (MI Road) पर रोड पर अजमेरी गेट ट्रैफिक पॉइंट पर भारी जाम से राहगीरों को रेंग-रेंग कर चलना पड़ता है।

03/09/2019

शारीरिक दुर्बलता को पीछे छोड़ MBBS की सीढ़ियां चढ़े साजन

साजन कुमार ने अपनी शारीरिक दुर्बलता को पीछे छोड़ते हुए कड़ी मेहनत से खुद को साबित किया और मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट क्रक की।

25/07/2019

अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव में हैरिटेज वॉक ने मोह लिया सबका मन

अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव के दौरान हेरिटेज वॉक का आयोजन किया गया, जिसमें सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं देशी विदेशी पर्यटकों सहित मेहमानों की आदर, सत्कार एवं सद्भावना के साथ मीठी मनुहार ने सबका मन मोह लिया।

13/01/2020

मॉन्यूमेंट में टूरिस्ट बढ़ोतरी के मामले में सबसे आगे जंतर मंतर

पर्यटन सीजन की शुरूआत हो चुकी है। जिसके चलते जयपुर के हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स पर पर्यटकों की आवाजाही शुरू हो गई है।

12/11/2019

जयपुर की ईशा गुप्ता ने किया SMS मेडिकल कॉलेज टॉप

राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय, जयपुर (आरयूएचएस) के एमबीबीएस फाइनल वर्ष के परिणाम में एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर की छात्रा इशा गुप्ता ने प्रदेश में द्वितीय स्थान प्राप्त किया है तो कॉलेज में प्रथम स्थान प्राप्त करके प्रदेशभर में कॉलेज और अपने परिवार का नाम रोशन किया है।

05/04/2019