Dainik Navajyoti Logo
Monday 1st of June 2020
 
खास खबरें

अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस: इस बार पर्यटन स्थलों पर ना पर्यटक और ना कद्रदान

Monday, May 18, 2020 13:35 PM
अल्बर्ट संग्रहालय में रखी ममी और झालावाड़ संग्रहालय में रामायण पर बनी पेंटिंग्स।

जयपुर। पर्यटन स्थलों पर आने वाले पर्यटकों का माला पहनाकर स्वागत करना, उनके मनोरंजन के लिए कालबेलिया नृत्य और शहनाई वादन करना। अन्तरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर पुरातत्व विभाग के अधीन आने वाले किलों, महलों और संग्रहालयों में ऐसे ही दृश्य देखने को मिलते हैं। इस दिन प्रदेश में विभाग के अधीन आने वाले सभी हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स पर पर्यटकों को नि:शुल्क प्रवेश दिया जाता है, लेकिन इस बार ना कोई पर्यटक हैं और ना ही उनके स्वागत के लिए पलक बिछाए बैठे कर्मचारी। पर्यटकों की आवाजाही से गुलजार रहने वाले पर्यटन स्थल इस समय विरान पड़े हैं। पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग के इतिहास में पहली बार इतने लम्बे समय तक राजा महाराजाओं के शौर्य की गाथा समेटे ऐतिहासिक इमारतें बंद हैं। आज भी विभिन्न संग्रहालयों में ऐसी कई पुरावस्तुएं हैं, जिनके बारे में लोग इंटरनेट पर सर्च कर उसकी जानकारी एकत्रित करते हैं।

हजारों सालों से सहेजे है अपना दिल
अल्बर्ट संग्रहालय सालों पुरानी पुरावस्तुओं के इतिहास को समेटे हुए है। यहां आकर पर्यटक उनके इतिहास से रूबरू होते हैं। संग्रहालय में करीब दो हजार तीन सौ साल से ज्यादा पुरानी ममी भी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है। रोचक बात यह है कि किलों महलों से पुराना ममी का दिल है। संग्रहालय अधीक्षक डॉ. राकेश छोलक ने बताया कि इजिप्ट में जब ममी बनाया करते थे तो शरीर के बाहर और शरीर के अंदर आंतरिक अंगों जैसे दिल, किडनी और लीवर को कपड़े में लपेट रासायनिक लेप लगाकर उन्हें उसी जगह पर रखा जाता था। कुछ साल पूर्व ममी का एक्स रे कराया गया तो उसकी बॉडी में एक भी क्रेक नहीं था। साथ ही कपड़े में लिपटे ममी के ये अंग एक्स-रे में उसी जगह दिखाई दिए।

रामायण और कृष्ण लीलाओं को समेटे भित्ति चित्र
राजकीय संग्रहालय गढ़ पैलेस झालावाड़ में राम के जन्म, बाल्य अवस्था, वनवास, सीता हरण सहित रामायण के विभिन्न दृश्यों को संग्रहालय की चित्रशाला में भित्ती चित्रों के माध्यम से दर्शाया गया है। संग्राहालयाध्यक्ष महेन्द्र निम्हल ने बताया कि ये भित्ती चित्र उन्नीसवीं शताब्दी के बने हैं। जिन्हें चित्रकार घासीराम और उनकी टीम ने नाथद्वारा शैली में बनाया था। इन भित्ती चित्रों में रामसेतु का दृश्य, वानरों द्वारा समुंद्र में सेतु बनाए जाने का दृश्य, राम द्वारा रावण का वध, वनवास के बाद राम के अयोध्या जाने और उनके राज्याभिषेक का चित्र भी चित्रित है। नाथद्वारा शैली में शरद पूर्णिमा पर निकुंज में कृष्ण और राधा की रासलीलाओं को दर्शाया गया है।

यह भी पढ़ें:

भगवान राम नाम की लगन से रची अनमोल रामायण

ईश्वर के प्रति पूरी आस्था हो तो उम्र किसी भी पड़ाव पर रुकावट पैदा नहीं कर सकती है। कुछ ऐसा ही साबित कर दिखाया है चित्तौड़गढ़ निवासी 83 वर्षीय उद्धव दास रोगानी।

15/12/2019

हिंगलाज माता की मुसलमान भी करते हैं उपासना

देवी के 51 शक्तिपीठों में से एक हिंगलाज शक्तिपीठ हिन्दुओं की आस्था का प्रमुख केन्द्र है। हिंगलाज माता का गुफा मंदिर पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में लारी तहसील के दूरस्थ, पहाड़ी इलाके में एक संकीर्ण घाटी में स्थित है।

06/10/2019

आपणी पाठशाला के नन्हे सिंगर अशोक के वीडियो को 11 मिलियन लोगों ने देखा

चूरू की आपणी पाठशाला अब किसी परिचय की मोहताज नहीं है। महिला थाना पुलिस के सिपाही धर्मवीर द्वारा जिला मुख्यालय पर संचालित इस पाठशाला में उन अभावग्रस्त बच्चों को पढ़ाकर समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है, जो शहर में कचरा बीनने और भिक्षावृत्ति में संलिप्त हैं।

31/01/2020

डोनाल्ड ट्रंप की भारत में है मूर्ति, ये प्रशंसक रोजाना करता है पूजा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर आने वाले हैं। इससे पहले ट्रंप के प्रशंसक बुसा कृष्णा ने केंद्र सरकार से ट्रंप से मिलवाने की अपील की है।

19/02/2020

पढ़िए, अयोध्या मामले का पूरा घटनाक्रम, कब-क्या हुआ?

अयोध्या के राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद जमीन विवाद में उच्चतम न्यायालय का फैसला आ गया है। सदियों पुराने इस विवाद के महत्वपूर्ण घटनाक्रम इस प्रकार हैं।

09/11/2019

राजस्थान में 805 किलर प्वॉइंट, हमेशा रहता है हादसे का खतरा

लापरवाही या यातायात नियमों की अनदेखी की वजह से प्रदेश में हर रोज कोई न कोई सड़क हादसा होता है। हादसे के पीछे वाहनों की तेज रफ्तार, बिना हेलमेट और सीट बेल्ट ना लगाना प्रमुख कारण हैं।

18/10/2019

जयपुर में मकान खरीदना हुआ महंगा, डीएलसी दरों में बढ़ोतरी

जयपुर जिले में अब मकान खरीदना और महंगा हो जाएगा। कलेक्टर जगरूप सिंह यादव की अध्यक्षता में हुई जिला स्तरीय कमेटी की बैठक में आवासीय पर 10 से 15 प्रतिशत की डीएलसी दरों में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

31/08/2019