Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 20th of October 2020
 
खास खबरें

चांद पर इंसान के कदम रखने की 50वीं वर्षगांठ पर गूगल ने बनाया वीडियो डूडल

Friday, July 19, 2019 12:40 PM

कोलकाता। इंटरनेट सर्च इंजन गूगल ने चांद पर इंसान का पहला कदम पडऩे की 50वीं वर्षगांठ का जश्न मनाते हुए एक एनिमेटेड वीडियो डूडल लांच किया। अमेरिका के नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) के अपोलो 11 मिशन  तहत 50 वर्ष पहले 20 जुलाई 1969 को इंसान ने पहली बार चांद पर कदम रखा था। नासा के अपोलो 11 मिशन ने इतिहास में पहली बार इंसान को चांद तक सफलतार्पूवक पहुंचाकर और उन्हें वापस लाकर यह साबित कर दिया था कि इस दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है।

गूगल ने अपने वीडियो डूडल के माध्यम से इस एतिहासिक उपलब्धि का जश्न मनाते हुए हमें चंद्रमा तक इंसान के पहुंचने की यात्रा वृतांत सुनाया हैं। पूर्व अंतरिक्ष यात्री एवं अपोलो 11 मिशन के कमांड मॉड्यूल पॉयलट माइकल कोलिन्स ने अपनी आवाज में इस यात्रा का वृतांत सुनाने के साथ-साथ इस दौरान के अपने अनुभव भी साझा किये। इस मिशन के लिए पूरी दुनिया के करीब चार लाख लोगों ने अपना योगदान दिया जिनमें फैक्ट्री के कर्मचारी, वैज्ञानिक और इंजीनियर भी शामिल थे। उन चार लाख लोगों में मिशन के अंतरिक्ष यात्री नील आर्मस्ट्रांग, एडविन बज एल्ड्रिन और माइकल कोलिन्स शामिल थे। चांद पर पहुंचने की उनकी यात्रा 16 जुलाई 1069 को फ्लोरिडा के केनेडी स्पेस सेंटर से सैटर्न वी रॉकेट के साथ शुरू हुई थी। 

द ईगल के नाम से पहचाने जाने वाले लूनर माड्यूल चांद का चक्कर लगाने के बाद चांद की सतह पर पहुंचने के लिए कमांड माड्यूल से अलग हो गया था। इस बीच, अंतरिक्ष यात्री माइकल कोलिन्स कमांड माड्यूल में पीछे रह गये थे क्योंकि इसी से सभी तीन अंतरिक्ष यात्रियों को पृथ्वी पर वापस आना था। आर्मस्ट्रांग और एल्ड्रिन ने 20 जुलाई को लूनर माड्यूल को सफलतापूर्वक चांद की सतह पर उतारा। इसके बाद आर्मस्ट्रांग चांद पर कदम रखने वाले पहले मानव बन गये। उस समय उन्होंने कहा था कि यह एक इंसान के लिए एक छोटा कदम है लेकिन पूरी मानव जाति के लिए एक लंबी छलांग है। अंतरिक्ष यात्री 25 जुलाई 1969 को चांद से धरती पर सुरक्षित वापस आ गये थे। नासा की अगली योजना 2024 तक चांद पर पहली महिला और आर्मस्ट्रांग के बाद अगले व्यक्ति को उतारने की है।
 

यह भी पढ़ें:

'डांसिंग क्वीन' के नाम से मशहूर हरीश के जापान में हैं हजारों शिष्य

जिले के बिलाड़ा थाना क्षेत्र में कापरड़ा गांव के समीप रविवार सुबह एक टवेरा कार और खड़े ट्रक में भीषण भिड़ंत हो गई। इस हादसे में विश्व प्रसिद्ध लोक कलाकार हरीश सहित चार लोगों की मौत हो गई

03/06/2019

वन्यजीव बिता रहे हैं एकाकी जीवन

गर्मी के मौसम ने अपने तेवर दिखाने शुरू कर दिए हैं। इंसानों के साथ ही वन्यजीवों में भी इसका असर देखने को मिल रहा है।

02/05/2019

नासा ने अगली पीढ़ी के स्पेस सूट का किया अनावरण

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अगली पीढ़ी के स्पेस सूट का अनावरण किया। नासा इसे पहली बार अपने 2024 के चंद्र दक्षिण ध्रुव मिशन में इस्तेमाल करेगा।

16/10/2019

जयपुर यातायात पुलिस की अनूठी पहल, हाइवे पर वाहन चालकों से की 'चाय पर चर्चा'

यातायात पुलिस ने अनूठी पहल की शुरूआत की है। सुबह के समय चालक को झपकी आने के कारण हो रही दुर्घटनाओं से बचाव एवं यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए कार्यक्रम किया गया, जिसमें पुलिस ने सुबह 4 बजे अजमेर-दिल्ली एक्सप्रेस हाईवे पर वाहन चालकों को चाय पिलाई गई। इससे उनकी थकान दूर हो गई।

09/02/2020

कोरोना योद्धाओं के सम्मान के लिए अनूठी पहल, यहां 2 रुपए सस्ता मिल रहा पेट्रोल-डीजल

जब पूरे देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से सुर्खियां बन रही हैं, ऐसे समय में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में एक व्यवसायी ने कोरोना महामारी से लड़ाई में लगे अग्रिम पंक्ति के कोरोना योद्धाओं के सम्मान के लिए अनूठा कदम उठाया है और उन्हें अहमदाबाद स्थित अपने दो पेट्रोल पंप के जरिए सामान्य लोगों की तुलना में 2 रुपए प्रति लीटर की रियायत पर पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति कर रहे हैं।

02/07/2020

अलविदा 2019: कमजोर रहा खेती-किसानी के लिए बीता साल, राजस्थान कल्याण कोष का शुभारम्भ

प्रदेश की खेती-किसानी के लिए गुजरा हुआ साल कमजोर ही रहा। प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद सरकार के वादे के अनुसार किसानों में उम्मीद जगी थी कि सरकार किसानों के सभी तरह के कर्जे माफ कर देगी, लेकिन मात्र सहकारी बैंकों के ही कर्जे माफ हो पाए।

30/12/2019

मदर्स डे विशेष : मां ये जीवन ही तुमसे है

मां एक शब्द ही नहीं है, इस शब्द में पूरा संसार समाया हुआ है। मां की परिभाषा का क्षेत्र सीमित नही है वो तो असीमित है किसी समंदर की तरह।

09/05/2019