Dainik Navajyoti Logo
Sunday 17th of January 2021
 
खास खबरें

मेघालय में दिखे 'इलेक्ट्रिक मशरूम', रात में छोड़ते हैं रोशनी

Tuesday, November 24, 2020 08:00 AM
रात के अंधेरे में चमकने वाला मशरूम।

नई दिल्ली। भारत में एक नई प्रजाति का मशरूम मिला है। इसकी खासियत ये है कि ये रात में चमकता है। वैज्ञानिकों ने रोरिडोमाइसेस फाइलोस्टैचिडिस नाम दिया है। इसे सबसे पहले मेघालय के ईस्ट खाली हिल्स जिले के मॉवलीनॉन्ग में एक जलस्रोत के पास देखा गया। इसके बाद यह वेस्ट जंतिया हिल्स के क्रांग सुरी में भी दिखाई दिया।

भारतीय-चीनी वैज्ञानिकों के समूह ने खोजा
मेघालय के जंगलों में मिली मशरूम की यह प्रजाति दुनिया के 97 चमकने वाले मशरूमों की सूची में शामिल हो चुकी है। इसे भारतीय और चीनी वैज्ञानिकों के एक समूह ने खोजा है। ये लोग असम में मॉनसून के बाद जंगलों में फंगस की प्रजातियों पर शोध कर रहे थे। स्थानीय लोगों के मुंह से इलेक्ट्रिक मशरूम के बारे में सुनने के बाद वैज्ञानिक मेघालय पहुंचे।

दिन में साधारण से दिखाई देते हैं
ऐसे मशरूम को बायो-ल्यूमिनिसेंट मशरूम कहते हैं। रात के अंधेरे में यह हल्के नीले-हरे और बैंगनी रंग में चमकता दिखाई देता है। हालांकि दिन में ये साधारण मशरूम की तरह ही दिख्खई देते हैं। यह मशरूम रात में रोशनी इसलिए छोड़ता है ताकि इसपर मौजूद बीजाणु कीड़ों के जरिए जंगल में अन्य जगहों पर फैल जाएं और इस मशरूम की तादात बढ़े। मेघालय में ये मशरूम बांस के जंगलों में बांस की जड़ों के पास उगते हैं।

पनपने के लिए पर्याप्त नमी की जरूरत
इन्हें पनपने के लिए पर्याप्त नमी की जरूरत होती है। साथ ही तापमान 21 डिग्री सेल्सियस से 27 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए। मेघालय, केरल और गोवा में इनकी तादाद बारिश के मौसम में काफी ज्यादा बढ़ जाती है। 

यह भी पढ़ें:

चांद बावडी में की जाएगी लाइटिंग

दौसा जिले के बांदीकुई में स्थित आठवीं सदी की चांद बावडी का दृश्य है। यहां पर्यटन विभाग की ओर से आभानेरी उत्सव का आयोजन होगा।

26/09/2019

जयपुर के ये 50 कलाकार यूरोप में करेंगे ढोल वादन

अन्तरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त धोद गु्रप के निर्देशक रहीस भारती ने पहली बार परकशन का एक अनूठा कंसेप्ट बेस्ड शो तैयार किया है, जिसके लिए प्रदेश के विभिन्न शहरों में शादी-पार्टी में ढोल बजाकर जीवन यापन करने वाले पचास कलाकारों को प्रशिक्षित कर उनकी प्रतिभा का निखारा है।

22/05/2019

दो बर्ड्स राजस्थान से पहुंच गए ओमान, मंगोलिया से उड़ा पंछी पहुंचा इथोपिया

मौसम में परिवर्तन के चलते कई विदेशी पक्षी अन्य देशों की ओर रुख करते हैं। ज्यादातर बर्ड्स ठंड के चलते प्रजनन और भोजन-पानी की तलाश के चलते भारत के विभिन्न राज्यों में प्रवास करते हैं। एक ऐसी ही प्रजाति कॉमन कुक्कू (ओनो) मंगोलिया से सितम्बर माह के अंतिम सप्ताह के दौरान भारत के विभिन्न राज्यों से होता हुआ राजस्थान पहुंचा। इसके बाद जयपुर, चाकसू, अजमेर, जोधपुर को पार करता हुआ पड़ौसी मुल्क पाकिस्तान से होता हुआ ओमान और फिर इथोपिया पहुंचा।

03/10/2019

'बच्चों को ढाल बनाते हैं उपद्रवी, 95 प्रतिशत कश्मीरी शांति से चाहते हैं हल'

गृहमंत्री राजनाथ सिंह और जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में जम्मू-कश्मीर के हालात पर बात की। राजनाथ ने कांफ्रेंस में कहा कि कश्मीर में छोटे बच्चों को बरगलाया जाता है, कुछ लोग बच्चों को पत्थर मारने के लिए तैयार करते हैं। सभी कश्मीर में शांति चाहते हैं, घाटी के हालात को लेकर बहुत दुखी हूं।

25/08/2016

मैसूरु जहां आज भी सजता है 'राजदरबार', विजयादशमी पर निकलती है भव्य सवारी

आजादी के बाद भले ही देशभर की विभिन्न रियासतों का विलय हो गया हो, लेकिन कर्नाटक से करीब 150 किलोमीटर दूर स्थित मैसूरु शहर में आज भी भव्य ‘राजदरबार’ सजता है। बाकायदा, राजपरिवार का वंशज यानी राजा का स्वर्ण निर्मित राज सिंहासन पर बैठना, राजसी वस्त्र और गहने धारण करना।

30/09/2019

अलविदा 2019 : प्रदेश के होनहारों ने दिखाया दम, देशभर में रहे अव्वल

बीत रहे 2019 में देश की प्रतिष्ठित परीक्षाओं में राजस्थान के कई होनहारों ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। पिछले सालों के मुकाबले प्रदेश से टॉप आने वाले विद्यार्थियों के आंकड़े भी काफी बढ़े हैं। ऐसे में आने वाला समय प्रदेश के स्टूडेंट्स के लिए और भी बेहतर होने वाला है।

27/12/2019

फिल्म इंडस्ट्री में फ्लॉप मयूरी कांगो बनीं गूगल इंडिया की इंडस्ट्री हेड

बॉलीवुड में फ्लॉप होने के बाद दक्षिण की फिल्मों में नजर आई मयूरी कांगो का वहां भी सिक्का नहीं चला। अब वे गूगल इंडिया के इंडस्ट्री हेड का पद संभाल रही हैं।

05/04/2019