Dainik Navajyoti Logo
Saturday 18th of September 2021
 
खास खबरें

पल्स ऑक्सीमीटर में पीआई को न करें नजरअंदाज, यह ऑक्सीजन लेवल जितना ही महत्वपूर्ण

Saturday, May 15, 2021 10:00 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

जयपुर। कोरोना की दूसरी लहर अपने पीक पर है और आमजन अपने शरीर में ऑक्सीजन लेवल को चेक करने के लिए पल्स ऑक्सीमीटर का इस्तेमाल करना बखूबी जान गए हैं। शरीर में ऑक्सीजन लेवल और पल्स रेट कितना होना चाहिए। इसे ऑक्सीमीटर में हर कोई जांच लेता है, लेकिन इसके अलावा डिवाइस में छोटे शब्दों में पीआई भी लिखा होता है जोकि उतना ही महत्वपूर्ण होता है जितना कि ऑक्सीजन लेवल। लेकिन जानकारी के अभाव में लोगों को एक आवश्यक जानकारी मालूम नहीं चल पाती। ऑक्सीमीटर में पीआई प्रतिशत छोटे अक्षरों में लिखा होता है।

क्या होता है पीआई
शहर के सीनियर कार्डियक इलेक्ट्रॉफि जियोलॉजिस्ट डॉ. राहुल सिंघल ने बताया कि पीआई यानि कि परफ्यूजन इंडेक्स से हमें यह मालूम चलता है कि हमारा हृदय, शरीर के आखिरी छोर तक कितना रक्त पहुंचा पा रहा है। जिस तरह ऑक्सीजन लेवल 94 प्रतिशत से ऊपर, पल्स रेट 60 से 100 के बीच होनी चाहिए। वैसे ही हमारा पीआई भी 0.02 से 20 प्रतिशत तक होना चाहिए। अगर व्यक्ति का पीआई 0 से 0.02 प्रतिशत हो तो इसका मतलब हमारी उंगलियों तक रक्त संचार कम हो पा रहा है और इसके लिए उन्हें तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिए। पीआई के 0.02 से 20 प्रतिशत के बीच होने का मतलब है कि हमारे शरीर के हर टिश्यू तक रक्त संचार हो पा रहा है। चिकित्सकों के अनुसार पीआई लेवल कम होने पर शरीर में खून गाढ़ा होने का अंदेशा हो सकता है और चिकित्सकों की सलाह से खून पतला करने की दवाईयां ली जा सकती है।

क्लीनिकल मैनेजमेंट से नियंत्रित होता पीआई
अनियंत्रित पीआई को क्लीनिकल मैनेजमेंट से नियंत्रित किया जाता है। डॉ. राहुल ने बताया कि पीआई कम होने से मरीज को त्वचा का नीला होना, सुन्न होना, हाथ-पैर ठंडे होना, कमजोरी रहना, मांसपेशियों में ऐंठन, जोड़ों में दर्द रहने जैसे लक्षण सामने आते हैं। मरीज को डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर ईको, ईसीजी जैसी जांच कर हृदय की कार्यक्षमता और कुछ अन्य जांच कर मरीज को कुछ समय तक दवाएं देते हैं। अगर मरीज को हृदय संबंधित बीमारी, डायबिटीज और मोटापा होता है तो इससे भी उसका पीआई कम हो सकता है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

अलविदा 2019: कमजोर रहा खेती-किसानी के लिए बीता साल, राजस्थान कल्याण कोष का शुभारम्भ

प्रदेश की खेती-किसानी के लिए गुजरा हुआ साल कमजोर ही रहा। प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद सरकार के वादे के अनुसार किसानों में उम्मीद जगी थी कि सरकार किसानों के सभी तरह के कर्जे माफ कर देगी, लेकिन मात्र सहकारी बैंकों के ही कर्जे माफ हो पाए।

30/12/2019

सीतारमण 49 वर्ष बाद बनी बजट पेश करने वाली दूसरी महिला वित्त मंत्री

निर्मला सीतारमण को 49 साल बाद बजट पेश करने वाली देश की दूसरी महिला वित्त मंत्री का गौरव हासिल हुआ है।

05/07/2019

अलविदा 2019 : पंचायत पुनर्गठन से बदला ढांचा, नरेगा में केन्द्र ने थपथपाई पीठ

प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के लिहाज से यह साल काफी बदलाव भरा रहा। ग्राम पंचायत और पंचायत समितियों के पुनर्गठन और पुनर्सीमांकन प्रक्रिया से ग्रामीण क्षेत्र के ढांचे में बड़ा बदलाव आया तो शैक्षणिक योग्यता की बाधा हटाकर भी राज्य सरकार ने बड़ा परिवर्तन कर दिखाया।

09/12/2019

मंत्रमुग्ध कर देने वाला वन्यजीव अभ्यारण्य पोबितोरा, एक सींग के गेंडे के लिए प्रसिद्ध है यह अभ्यारण्य

भ्रमण और अन्वेषण करने के इच्छुक लोग वनस्पति और जीव-जंतुओं से भरपूर खूबसूरत पूर्वोत्तेर भारत का रुख कर सकते हैं। ऐसा ही एक स्थान असम के मोरीगांव जिले में ब्रह्मपुत्र नदी के दक्षिणी तट पर स्थित पोबितोरा वन्यजीव अभ्यारण्य है। यह मंत्रमुग्ध कर देने वाला वन्यजीव अभ्यारण्य है।

07/10/2020

नवी मुंबई में इकट्ठा हुए हजारों प्रवासी राजहंस पक्षियों के झुंड, तस्वीरें आई सामने

कोरोना वायरस की वजह से पूरे देश को लॉकडाउन किया गया है। ऐसे में इंसान खुद को प्रकृति के नजदीक महसूस कर रहा है और नेचर भी लोगों को प्रभावित करने से पीछे नहीं हट रही है। कुछ ऐसा ही नजारा मुंबई में देखा गया, जहां माइग्रेंट (प्रवासी) फ्लेमिंगो (राजहंस) को देखकर ऐसा लग रहा है मानों धरती पर गुलाबी-सफेद चादर बिछ गई है।

20/04/2020

रणथम्भौर टाइगर रिजर्व की 'मछली' पर बनी फिल्म को बेस्ट एनवायरनमेंटल अवॉर्ड

रणथम्भौर टाइगर रिजर्व की फेमस बाघिन रही मछली को मैंने करीब आठ साल तक फॉलो किया था। तब जाकर एक बेस्ट वाइल्ड लाइफ फिल्म बनी। यह कहना है वाइल्ड लाइफ फिल्म मेकर नल्ला मुत्थु का।

10/08/2019

सक्सेस स्टोरी : अखबार बांटने वाले की बेटी बनी अफसर, पहले प्रयास में पास की HCS की परीक्षा

हरियाणा सिविल सेवा परीक्षा का परिणाम जारी हो गया है और इसमें 48 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। इनमें 26 साल की शिवजीत भारती का नाम भी शामिल है।

15/01/2020