Dainik Navajyoti Logo
Thursday 22nd of April 2021
 
खास खबरें

अजब गजब: इस झील को माना जाता है दुनिया की सबसे रहस्यमयी झील, रात में नीला हो जाता है इसका पानी

Friday, February 26, 2021 10:45 AM
इंडोनेशिया की कावाह इजेन झील।

पूरी दुनिया में रहस्यों की कमी नहीं है, दुनियाभर के वैज्ञानिक भी इन रहस्यों के बारे में आज तक पता नहीं लगा पाए। आज हम आपको एक ऐसे ही रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं जो एक झील में छिपा हुआ है। इस झील का रहस्य यह हैं कि यह झील रात के वक्त किसी नीले रंग के पत्थर की तरह चमकने लगती है। इसीलिए इस झील को दुनिया की सबसे रहस्यमयी झील के नाम से जाना जाता है। दरअसल, हम बात कर रहे हैं इंडोनेशिया की कावाह इजेन नाम की झील के बारे में।

झील के पानी का तापमान हमेशा 200 डिग्री सेल्सियस
यह झील इंडोनेशिया की सबसे अधिक अम्लीय यानी खारे पानी की झील भी है। इस झील की सबसे बड़ी खासियत यह है कि दिन में तो ये बिल्कुल अन्य झीलों की तरह ही दिखाई देती है लेकिन रात के वक्त इसका पानी बिल्कुल नीले रंग का हो जाता है। तब ऐसा महसूस होता है कि ये कोई नीले रंग का पत्थर हो। इस झील के पानी का तापमान हमेशा 200 डिग्री सेल्सियस तब गर्म रहता है। यानी इसमें अगर कोई जीव गिर जाए तो कुछ ही सेकंड में भाप बन गए उड़ जाएगा।

रिसर्च के बाद भी वैज्ञानिक खाली हाथ
झील का पानी हमेशा खौलता रहता है। जैसे इसके नीचे किसी ने भट्टी जला रखी हो। इस वजह से झील के आसपास कोई आबादी नहीं रहती है। हालांकि, इस झील की कई बार सैटेलाइट इमेज जारी हो चुकी है, जिसमें रात के समय झील के पानी से नीली-हरी रोशनी निकलती दिखती है। सालों के रिसर्च के बाद वैज्ञानिकों ने इस झील से निकलने वाली रंगीन रोशनी की वजहों का पता नहीं लगाया जा सका।

आसपास कई सक्रिय ज्वालामुखी
झील के आसपास कई सक्रिय ज्वालामुखी मौजूद हैं, जिसके कारण झील से हाइड्रोजन क्लोराइड, सल्फ्यूरिक डाइऑक्साइड जैसी कई तरह की गैसें भी निकलती रहती हैं। ये सभी गैसें आपस में मिलकर प्रतिक्रिया करती हैं, जिससे नीला रंग पैदा होता है। कावाह इजेन झील इतनी खतरनाक है कि इसके आसपास वैज्ञानिक भी लंबे समय तक रहने की हिम्मत नहीं कर सकते हैं। एक बार झील की अम्लीयता जांचने के लिए अमेरिकी वैज्ञानिकों की एक टीम ने तेजाब से भरे इस पानी में एलुमीनियम की मोटी चादर को लगभग 20 मिनट के लिए डाला था। इस चादर को निकालने के बाद देखा गया कि चादर की मोटाई पारदर्शी कपड़े जितनी रह गई थी।
 

यह भी पढ़ें:

राजस्थान में 805 किलर प्वॉइंट, हमेशा रहता है हादसे का खतरा

लापरवाही या यातायात नियमों की अनदेखी की वजह से प्रदेश में हर रोज कोई न कोई सड़क हादसा होता है। हादसे के पीछे वाहनों की तेज रफ्तार, बिना हेलमेट और सीट बेल्ट ना लगाना प्रमुख कारण हैं।

18/10/2019

अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस: इस बार पर्यटन स्थलों पर ना पर्यटक और ना कद्रदान

अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस पर प्रदेश में पुरातत्व विभाग के अधीन आने वाले सभी हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स पर पर्यटकों को नि:शुल्क प्रवेश दिया जाता है, लेकिन इस बार ना कोई पर्यटक हैं और ना ही उनके स्वागत के लिए पलक बिछाए बैठे कर्मचारी।

18/05/2020

अजब गजब: दुनिया की सबसे महंगी कॉफी की कीमत जान उड़ जाएंगे होश

ब्राजील का कैमोसिम एस्टेट, ब्राजील का सबसे छोटा कॉफी प्लांटेशन है मगर इस कॉफी प्लांटेशन की आमदनी काफी ज्यादा है। वो इसलिए क्योंकि यहां जाकू बर्ड कॉफी होती है। ये कॉफी एक हजार डॉलर प्रति किलो की मिलती है। यानी 72 हजार रुपए प्रति किलो।

09/02/2021

अलविदा-2019: चिकित्सा के क्षेत्र में बीता साल मील का पत्थर, 15 नए मेडिकल कॉलेज खुलने का काम शुरू

राजस्थान में बीता एक साल मेडिकल क्षेत्र के लिए आगामी दिनों में मील का पत्थर साबित होगा। प्रदेश में जो युवा डॉक्टर बनने का सपना संजोए बैठे हैं, उनकी राह आसान होने जा रही है। सरकार ने 11 माह में 15 नए मेडिकल कॉलेज प्रदेश में मंजूर कराए हैं।

10/12/2019

गहलोत सरकार कर रही अच्छा काम, वसुंधरा की भाजपा में हो रही अनदेखी: महेश जोशी

सरकारी मुख्य सचेतक डॉ. महेश जोशी ने भाजपा नेताओं की राज्य सरकार के खिलाफ बयानों को खारिज करते हुए कहा है कि भाजपा नेता नॉन इश्यू को इश्यू बना रहे हैं।

08/01/2020

मां की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र, ये हैं कलश स्थापना के शुभ चौघड़िया और अभिजीत मुहूर्त

शक्ति की देवी मां दुर्गा की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र कल 17 अक्टूबर से पूरे देश में शुरू हो रहा है। कलश स्थापना के साथ ही 9 दिन तक मां की गुणगान शुरू हो जाएगा। नवरात्र की शुरूआत शनिवार को होने की वजह से मां दुर्गा इस बार घोड़े पर सवार होकर आ रही हैं।

16/10/2020

बाघ ने दी भालू को चेतावनी

रणथम्भौर टाइगर रिजर्व में विभिन्न प्रजातियों के वन्यजीवों का संसार बसता है। जहां पर्यटकों को बाघ, पैंथर, नील गाय, भालू आदि वन्यजीवों को देखने का मौका मिलता है।

21/05/2019