Dainik Navajyoti Logo
Saturday 27th of February 2021
 
खास खबरें

अजब गजब: आइलैंड को लेकर दो देशों के बीच है अनोखा समझौता

Wednesday, February 03, 2021 09:00 AM
फैंसेंस आइलैंड के लिए समझौता।

दुनिया का हर देश अपनी जमीन में विस्तार करने के लिए खाली पड़े आइलैंड पर कब्जा करने की कोशिश करता है। कई बार ये बात यहां तक पहुंच जाती है कि दो देश इन स्थानों के लिए लड़ने पर उतारू हो जाते हैं। ऐसा ही एक मामला विवाद हुआ फ्रांस और स्पेन के बीच एक आइलैंड को लेकर। उसके बाद जब इन दोनों देशों ने इसे लेकर समझौता किया तो सब हैरान रह गए। क्योंकि ये आइलैंड हर साल दो देशों के पास बारी बारी से जाता है। दरअसल, फ्रांस और स्पेन के बीच में फैंसेंस नाम का एक खूबसूरत आइलैंड है। इस आइलैंड पर को लेकर दोनों ही देश अपना हक जताते रहे हैं। जिसे लेकर दोनों देशों में कई बार टकराव की स्थिति बन गई। आखिरकार इस आइलैंड के लिए दोनों देशों की लड़ाई खत्म हो गई और दोनों ही देशों ने इस आइलैंड पर अपना हक जमा लिया। दोनों देशों के बीच एक समझौता हुआ जिसके मुताबिक, ये आइलैंड 6 महीने स्पेन और 6 महीने फ्रांस के पास रहता है।

बता दें कि फैंसेंस आइलैंड 3,000 वर्ग मीटर में फैला है। इस आइलैंड को बिदासोआ नदी फ्रांस और स्पेन की सीमा से अलग करती है। दो देशों की सीमा पर स्थित आखिरी शहर हेंडेई है। यहां फ्रांसीसी बास्त बीच रिजॉर्ट पर हजारों सीलें जमा होती हैं। वहीं इसके दूसरे हिस्से पर एक बड़े से डैम के बाद स्पेन का इरुन शहर हैं, जो फ्रांस की सीमा पर स्थित है। बिदासोआ नदी ही इन दोनों शहरों को अगल-अलग करती है। ये आइलैंड लगातार अपना आकार बदलता रहता है क्योंकि यहां पानी का तेज बहाव आसपास जमी मिट्टी को अक्सर काट देता है। जिससे इसके आकार कभी बड़ा तो कभी छोटा हो जाता है। जब जल स्तर घटने लगता है तो कई बार स्पेन या फ्रांस के लिए पैदल ही जाना पड़ता है। इसीलिए इस आइलैंड को टूरिस्ट्स के लिए किसी खास मौके पर ही खोला जाता है।

बता दें कि फैंसेंस आइलैंड फ्रांस और स्पेन की सीमा पर बसे आखिरी दो शहरों के बीच बसा है। इसीलिए इस आइलैंड को न्यूट्रल टेरिटरी भी कहा जाता है। जब 1659 में फ्रांस और स्पेन के बीच जंग खत्म हुई तो बातचीत के लिए इसी आइलैंड को चुना गया। इसलिए इसका ऐतिहासिक महत्व भी कम नहीं है। इस बातचीत में फ्रांस के किंग लुईस ने स्पेन के किंग फिलिप की बेटी से शादी कर ली, जिसे पाइनीस की संधि भी कहते हैं। तभी यह तय किया गया कि इस आइलैंड को दोनों देश मिलकर बांटेगे, जिसके कारण यह आइलैंड 6-6 महीने तक दोनों देशों के पास रहता है। बता दें कि फैंसेंस आइलैंड 1 फरवरी से 31 जुलाई तक स्पेन के पास और बाकी के छह महीने फ्रांस के पास रहता है। ये सिलसिला यूं ही पिछले 350 सालों से चला आ रहा है और यह द्वीप दो देशों के बीच लोगों को आकर्षित करता है।
 

यह भी पढ़ें:

जयपुर की ईशा गुप्ता ने किया SMS मेडिकल कॉलेज टॉप

राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय, जयपुर (आरयूएचएस) के एमबीबीएस फाइनल वर्ष के परिणाम में एसएमएस मेडिकल कॉलेज, जयपुर की छात्रा इशा गुप्ता ने प्रदेश में द्वितीय स्थान प्राप्त किया है तो कॉलेज में प्रथम स्थान प्राप्त करके प्रदेशभर में कॉलेज और अपने परिवार का नाम रोशन किया है।

05/04/2019

जानिए, कितना है इंफोसिस के सीईओ का सैलरी पैकेज

आईटी कंपनी इन्फोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) सलिल पारेख को बीते वित्त वर्ष 2018-19 में 24.67 करोड़ रुपए का सैलरी पैकेज मिला।

21/05/2019

मां की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र, ये हैं कलश स्थापना के शुभ चौघड़िया और अभिजीत मुहूर्त

शक्ति की देवी मां दुर्गा की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्र कल 17 अक्टूबर से पूरे देश में शुरू हो रहा है। कलश स्थापना के साथ ही 9 दिन तक मां की गुणगान शुरू हो जाएगा। नवरात्र की शुरूआत शनिवार को होने की वजह से मां दुर्गा इस बार घोड़े पर सवार होकर आ रही हैं।

16/10/2020

मदर्स डे विशेष : मां ये जीवन ही तुमसे है

मां एक शब्द ही नहीं है, इस शब्द में पूरा संसार समाया हुआ है। मां की परिभाषा का क्षेत्र सीमित नही है वो तो असीमित है किसी समंदर की तरह।

09/05/2019

इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स ने बनाई 12 किलो की फोल्डेबल साइकिल

शहर के इंजीनियरिंग प्रथम वर्ष के स्टूडेंट्स ने फोल्डेबल बाई साईकिल बनाने में सफलता प्राप्त की है। 12 किलोग्राम की यह साईकिल सिर्फ 4 स्क्वायर फीट क्षेत्रफल से भी कम क्षेत्रफल में आसानी से रखी जा सकती है।

27/02/2020

तीन साल की बच्ची बनी सबसे कम उम्र की प्रतिभागी

जयपुर मैराथन में इस साल भाग लेकर वैरोनिका कुमारी चंद्रावत सबसे कम उम्र की प्रतिभागी बन गई है। यह जानकारी देते हुए पिता रिपुदमन सिंह चंद्रावत ने बताया कि वे बेटियों को आगे बढ़ाने और मिसाल के तौर पर स्थापित कर समाज के लिए एक उदाहरण स्थापित करना चाहते हैं।

10/04/2019

पर्यटक उठाएंगे कल्चरल एक्टीविटिज का लुत्फ

आरटीडीसी विभाग की यातायात इकाई की ओर से देशी-विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने एवं जयपुर के हिस्टोरिकल्स मॉन्यूमेंट्स के इतिहास से रूबरू कराने के उद्देश्य से विभिन्न सिटी टूर पैकेज चलाए जा रहे हैं।

08/04/2019