Dainik Navajyoti Logo
Thursday 13th of May 2021
 
खास खबरें

अजब गजब: दुनिया की सबसे महंगी कॉफी की कीमत जान उड़ जाएंगे होश

Tuesday, February 09, 2021 10:30 AM
जाकू बर्ड कॉफी दुनिया की सबसे दुर्लभ और महंगी कॉफियों में से एक है।

कॉफी के शौकीनों के लिए ये खबर शॉकिंग हो सकती है क्योंकि आज हम आपको ऐसी कॉफी के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपकी नॉर्मल कॉफी से बहुत महंगी है। जाकू बर्ड कॉफी दुनिया की सबसे दुर्लभ और महंगी कॉफियों में से एक है। ब्राजील का कैमोसिम एस्टेट, ब्राजील का सबसे छोटा कॉफी प्लांटेशन है मगर इस कॉफी प्लांटेशन की आमदनी काफी ज्यादा है। वो इसलिए क्योंकि यहां जाकू बर्ड कॉफी होती है। ये कॉफी एक हजार डॉलर प्रति किलो की मिलती है। यानी 72 हजार रुपए प्रति किलो।

जाकू चिड़िया ने कॉफी बीन्स को खा लिया
यहां इस कॉफी को बनाने की शुरूआत 2000 के दशक में हुई। हेनरीक स्लोपर डी अराउजो नाम के व्यक्ति कॉफी प्लांटेशन था कैमोसिम एस्टेट। एक सुबह उसने देखा कि उसके कॉफी प्लांटेशन में जाकू चिड़िया ने तांडव मचा रखा है। चिड़िया ने कॉफी के प्लांटेशन को नष्ट कर दिया और सारे प्लांटेशन से कॉफी बीन्स को खा लिया। जाकू चिड़िया कॉफी की बहुत शौकीन नहीं थीं मगर हेनरीक की ऑरगैनिक कॉफी उनको शायद बहुत पसंद आई। जाकू चिड़िया ब्राजील में विलुप्त होने वाली प्रजाति है इसलिए वहां कानून के जरिए इस चिड़िया को सुरक्षित रखा जाता है। हेनरीक ने पहले तो सारी चिड़िया को अपने कॉफी प्लांटेशन से भगाने की योजना बनाई। उसने पर्यावरण संरक्षकों को भी बुलाया मगर कानून के चलते कोई भी चिड़ियाओं को किसी भी तरह से नुकसान नहीं पहुंचा पाया। मगर फिर हेनरीक को खयाल आया कि वो इंडोनेशिया के लोगों से एक आइडिया लें। दरअसल जब वो कम उम्र के थे तो सर्फिंग करने इंडोनेशिया गए थे। वहां उन्होंने देखा कि वहां दुनिया की सबसे महंगी कॉफी कोपी लुवाक को सिवेट जानवर के मल से निकाल कर बनाया जाता है। उन्होंने सोचा कि अगर इंडोनेशिया में जानवर के मल से कॉफी बीन निकालकर, प्रोसेक कर के बनाई जा सकती है तो ब्राजिल में क्यों नहीं।

कॉफी चेरी चुनने का काम मुश्किल
हेनरीक ने कहा कि आइडिया आने के बाद कॉफी बीन चुनने वालों को मल से कॉफी बीन चुनने के लिए मनाना काफी मुश्किल कार्य था। इसके लिए उन्होंने कॉफी चुनने वालों को ज्यादा रुपए दिया। उनके दिमाग को बदलना मुश्किल कार्य था मगर वो धीरे-धीरे कॉफी बीन मल से चुनने लगे। मल से कॉफी चेरी चुनने का काम मुश्किल तो था मगर उसे भी मुश्किल था चेरी को मल से अलग करना, उसे साफ करना, और गंदगी से अलग करना. ये सब काम हाथ से किया जाता है. इसलिए ये कॉफी इतनी महंगी है।

सिर्फ पकी हुई चेरी ही खाने के लिए
हेनरीक ने बताया कि जाकू चिड़िया सिर्फ सबसे अच्छी और पकी हुई कॉफी चेरी ही खाती है। वो कच्ची चेरी नहीं खाती। उन्होंने कहा कि मैंने एक बार इस बात को गौर किया कि जाकू चिड़िया सिर्फ पकी हुई चेरी ही खाने के लिए चुनती है। वो कच्ची चेरी के गुच्छे छोड़ देती है। यहां तक की वो उन चेरी को भी छोड़ देती है जो अमूमन इंसान द्वारा चेरी तोड़ने के वक्त चुन लिए जाते हैं। कोपी लुवाक कॉफी, जो सिवेट के मल से बनती है, वो ज्यादा वक्त हजम होकर जानवर के शरीर से बाहर आने में लेती है। वहीं जाकू चिड़िया का खाना जल्द हजम हो जाता है जिससे बीन जल्दी मिल जाती है। बीन हासिल करने के बाद कई तरह से उसे प्रोसेस किया जाता है। जिसके बाद उसमें नटी और हल्का मीठा सा स्वाद आता है।

यह भी पढ़ें:

जयपुर में मकान खरीदना हुआ महंगा, डीएलसी दरों में बढ़ोतरी

जयपुर जिले में अब मकान खरीदना और महंगा हो जाएगा। कलेक्टर जगरूप सिंह यादव की अध्यक्षता में हुई जिला स्तरीय कमेटी की बैठक में आवासीय पर 10 से 15 प्रतिशत की डीएलसी दरों में बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया गया है।

31/08/2019

करवाचौथ के व्रत का सावित्री और द्रौपदी से है खास जुड़ाव

करवा चौथ हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। यह भारत के पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, मध्य प्रदेश और राजस्थान का पर्व है। यह कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। यह पर्व सुहागिन स्त्रियां मनाती हैं।

13/10/2019

जयपुर के सबसे प्रसिद्ध MI रोड पर ट्रैफिक जाम और पार्किंग की समस्या से बिगड़ते जा रहे हालात

मिर्जा स्माइल (MI Road) पर रोड पर अजमेरी गेट ट्रैफिक पॉइंट पर भारी जाम से राहगीरों को रेंग-रेंग कर चलना पड़ता है।

03/09/2019

परदेसी बाबू पर आया राजस्थानी लड़की का दिल, लिए सात फेरे

चित्तौड़गढ़। चित्तौड़गढ़ की एक बेटी परदेसी बाबू को दिल दे बैठी, लेकिन परदेसी बाबू को बेटी के साथ-साथ भारत की सभ्यता एवं संस्कृति इतनी अधिक अच्छी लगी कि वह भारतीय परम्परा के अनुसार, चित्तौड़गढ़ की इस बेटी के साथ सात फेरे लेने के लिए अपने परिवार के अन्य सदस्यों एवं दोस्तों के साथ चित्तौड़गढ़ आ पहुंचा।

31/01/2020

Happy New Year 2020: नये साल में लें कुछ सकंल्प, जिससे आपका व्यक्तित्व और करियर हो बेहतर

नववर्ष 2020 का आगाज होने चुका है। 2019 हमारे लिए खट्टे-मीठे अनुभवों से भरा रहा। अब समय है पिछले साल की अपनी उपलब्धियों और गलतियों का आंकलन करके नए साल के लिए नए संकल्प और लक्ष्य निर्धारित करने का।

01/01/2020

शारीरिक दुर्बलता को पीछे छोड़ MBBS की सीढ़ियां चढ़े साजन

साजन कुमार ने अपनी शारीरिक दुर्बलता को पीछे छोड़ते हुए कड़ी मेहनत से खुद को साबित किया और मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट क्रक की।

25/07/2019

भारत रत्न सचिन तेंदुलकर के नाम हैं कई रिकॉर्ड

सचिन तेंदुलकर ने अपना 46वां जन्मदिन मना रहे है। इस दिन उन्होंने अपने फैंस से मुलाकात की। उनका जन्म 1973 में हुआ था।

24/04/2019