Dainik Navajyoti Logo
Sunday 1st of August 2021
 
खास खबरें

अजब गजब: एक रात में लिखी गई थी ये शैतानी किताब, इसके रहस्य का आज तक नहीं चला पता

Thursday, March 04, 2021 10:40 AM
रहस्यमयी किताब।

हर धर्म का अपना एक ग्रन्थ होता है। जिसकी शिक्षाओं को उस धर्म के मानने वाले ताउम्र अनुसरण करते हैं। ईसाई धर्म का भी ग्रन्थ है। जिसे बाइबिल कहा जाता है। ईसाई धर्म के इस ग्रन्थ को पवित्र माना जाता है, लेकिन दुनिया में एक ऐसी भी किताब है जिसे शैतानों की किताब कहा जाता है। जिसका नाम डेविल्स बाइबिल है। यह एक रहस्यमयी किताब है। कहा जाता है कि इस किसाब को महज एक रात में पूरा लिख दिया गया था। शैतानों के चित्रों वाली ये कितान शैतानी बाइबिल भी कही जाती है। इस किताब के हर पन्ने पर शैतानों की तस्वीरें बनी हुई हैं।

किताब स्वीडन के पुस्तकालय में सुरक्षित रखी हुई
इस रहस्यमय शैतानी किताब को कोडेक्स गिगास के नाम से भी जाना जाता है। इस किताब को दुनिया की सबसे खतरनाक किताब भी माना जाता है, क्योंकि इसके बारे में आज तक ये पता नहीं चल पाया है कि इसे किसने लिखा है और क्यों लिखा है। फिलहाल यह किताब स्वीडन के पुस्तकालय में सुरक्षित रखी हुई है। जिसे देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग यहां पहुंचते हैं। यह किताब इंसानों के मन में इसलिए भी कौतूहल पैदा करती है, क्योंकि इसे कागज के पन्नों पर नहीं बल्कि चमड़े से बने पन्नों पर लिखा गया है।

किताब का वजन 85 किलो
इस किताब में कुल 160 पन्ने हैं जो इसे भारी-भरकम बना देते हैं। इस किताब का वजन 85 किलो के आसपास बताया जाता है। इसे उठाने में कम से कम दो लोगों की जरूरत तो पड़ती ही है। इसके पीछे यह कहानी प्रचलित है कि 13वीं सदी में एक संन्यासी ने अपनी मठवासी प्रतिज्ञाओं को तोड़ दिया था, जिसके बाद उसे दीवार में जिंदा चुनवा देने की सजा सुनाई गई थी। इस कठोर दंड से बचने के लिए उसने महज एक रात में एक ऐसी किताब लिखने का वादा किया जो सभी मानव ज्ञान सहित मठ को हमेशा के लिए गौरवान्वित करे। उसे इसकी इजाजत दे दी गई, लेकिन कहा जाता है कि आधी रात को जब उसने देखा कि वह अकेले पूरी किताब को नहीं लिख सकता है तो उसने एक विशेष प्रार्थना की और शैतान को बुलाया. उस शैतान से उसने अपनी आत्मा के बदले किताब को पूरा करवाने के लिए मदद मांगी। शैतान इसके लिए तैयार हो गया और उसने एक रात में ही पूरी किताब लिख दी।

कम से कम 20 साल का समय
हालांकि वैज्ञानिक मानते हैं कि प्राचीन समय में चमड़े के पन्नों पर ऐसी किताब को महज एक दिन में लिखना नामुमकिन है। अगर दिन-रात एक करके लगातार लिखा जाए, तो भी इसे पूरा करने में कम से कम 20 साल का समय लगेगा। हालांकि कुछ शोधकतार्ओं ने इस तर्क को गलत भी ठहराया है। उनका मानना है कि जिस तरह पूरी किताब को एक ही लिखावट में लिखा गया है, उससे इतना तो साफ है कि इसे 20 या 25 साल में नहीं लिखा गया होगा।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

ग्रह-नक्षत्रों के दुर्लभ योग में मनाई जाएगी दीपावली, 1521 में बना था गुरु, शुक्र और शनि का ऐसा संयोग

कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को दीपावली का त्योहार मनाया जाता है। यह तिथि सर्वार्थसिद्धि देने वाली मानी गई है। इस वर्ष दीपावली का त्योहार 14 नवंबर को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। दीपावली पर धन की देवी मां लक्ष्मी का पूजन होता है। माना जाता है कि इस दिन मां लक्ष्मी स्वयं पधारती हैं। इस दिन पूरे विधि-विधान के साथ पूजन करने पर सुख-समृद्धि बनी रहती है।

13/11/2020

माइक्रोचिप में दर्ज हुई रुद्र और रिद्धि की कुंडली

लोगों को आधार कार्ड के माध्यम से एक यूनिक आईडी मिली, जिसमें उनकी पूरी जानकारी दर्ज है। उसी तरह नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में रखे गए कई वन्यजीवों को भी यूनिक आईडी दी गई है।

22/04/2019

मंगल ग्रह 24 दिसंबर को मेष राशि में करेगा गोचर, प्राकृतिक आपदा की संभावना

मंगल ग्रह का 24 दिसंबर को सुबह 11 बजे राशि परिवर्तन होगा। मंगल ग्रह मीन राशि से निकलकर अपनी स्वराशि मेष राशि में प्रवेश करेंगे। मंगल ग्रह मेष राशि में करीब 60 दिन रहेंगे यानी 22 फरवरी तक मेष राशि में रहने के बाद शुक्र की वृषभ राशि में चले जाएंगे। मेष राशि में मंगल का यह गोचर ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से काफी महत्वपूर्ण है।

21/12/2020

छात्रों के लिए दुनिया का सर्वश्रेष्ठ शहर बना लंदन

वैश्विक शिक्षा कंसल्टेंसी क्यूएस क्वॉक्यूरेली सायमंडस ने नई वैश्विक रैंकिंग सूची जारी की है। इस रैंकिंग में लंदन को छात्रों के लिए लगातार दूसरे साल सर्वश्रेष्ठ शहर का खिताब मिला है।

01/08/2019

नवी मुंबई में इकट्ठा हुए हजारों प्रवासी राजहंस पक्षियों के झुंड, तस्वीरें आई सामने

कोरोना वायरस की वजह से पूरे देश को लॉकडाउन किया गया है। ऐसे में इंसान खुद को प्रकृति के नजदीक महसूस कर रहा है और नेचर भी लोगों को प्रभावित करने से पीछे नहीं हट रही है। कुछ ऐसा ही नजारा मुंबई में देखा गया, जहां माइग्रेंट (प्रवासी) फ्लेमिंगो (राजहंस) को देखकर ऐसा लग रहा है मानों धरती पर गुलाबी-सफेद चादर बिछ गई है।

20/04/2020

घट स्थापना के साथ चैत्र नवरात्र की शुरुआत, पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा

धर्म के अनुसार हर संप्रदाय का अपना अलग-अलग नववर्ष मनाया जाता है। हिंदू धर्म के अनुसार विक्रम संवत का शुभारंभ चैत्र मास की शुक्ल पक्ष प्रतिपदा को होता है। इसी दिन से नवरात्र की शुरुआत होती है। आदि शक्ति की आराधना का पावन पर्व चैत्र नवरात्र इस वर्ष 25 मार्च (बुधवार) से शुरू होगा। इसे वासंतिक नवरात्र भी कहते हैं। इसी दिन हिन्दू नववर्ष यानी नवसंवत्सर 2077 का शुभारम्भ होगा।

24/03/2020

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई बढ़ी, 8848 की जगह 8848.86 मीटर हुई हाइट

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई को पहले से ज्यादा पाया गया है। पहले इसकी ऊंचाई 8848 मीटर थी, जिसे अब 8848.86 मीटर नापा गया है। चीन और नेपाल ने इसका मंगलवार को ऐलान किया। नेपाल और चीन के बीच 13 अक्टूबर 2019 को माउंट एवरेस्‍ट की ऊंचाई नापने पर समझौता हुआ था।

08/12/2020