Dainik Navajyoti Logo
Friday 18th of June 2021
 
खास खबरें

अजब गजब: रहस्यमयी तरीके से प्रकट हुआ था शहर, प्लेस ऑफ गॉड के नाम से दुनियाभर में मशहूर

Wednesday, February 24, 2021 10:20 AM
प्लेस ऑफ गॉड के नाम से मशहूर शहर।

हमारी पृथ्वी लाखों करोड़ों रहस्यों से भरी पड़ी है। जिनमें से दुनियाभर के वैज्ञानिक कुछ ही रहस्यों के बारे में अब तक जान पाए हैं। अभी भी इतने रहस्य दुनियाभर में मौजूद हैं कि पूरी मानव सभ्यता भी इन्हें जानने की कोशिश करे तो शायद जान नहीं पाएगी। आज हम आपके एक ऐसे ही रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं। जो मानव सभ्यता का सबसे बड़ा रहस्य भी है। हम बात कर रहे हैं मैक्सिको के एक शहर के बारे में। जिसे प्लेस ऑफ गॉड के नाम से जाना जाता है। यह शहर अपने आप में इतने रहस्य समेटे हुए हैं, जिनके बारे में शायद ही कोई जान पाएगा। दरअसल, मेक्सिको का शहर टियाटिहुआकन सैकड़ों रहस्यों से भरा हुआ है। बता दें कि यह शहर पिरामिडों का एक खंडहर है। पिरामिडों के खंडहरों की वजह से ही इस शहर का नाम टियाटिहुआकन रखा गया था। टियाटिहुआकन शहर की खोज 14वीं सदी में एजटेक्स साम्राज्य के लोगों ने की थी और उन्होंने ही इसका नाम टियाटिहुआकन शहर रखा था।

अपने आप ही प्रकट हो गया
उससे पहले इस जगह का न कोई नाम था और ना ही इसके बारे में कोई जानता था। टियाटिहुआकन शहर की खोज करने वाले एजटेक्स का कहना था कि इस शहर को देखने के बाद ऐसा लगता था, जैसे ये अपने आप ही प्रकट हो गया था। क्योंकि इस जगह को किसने, कब और क्यों बनवाया और यहां कौन रहता था इसके बारे में कोई जानकारी आज तक किसी को नहीं मिली। इसलिए ये सब एक रहस्य का विषय बन गया।

किसी भी तरह की जानकारी उपलब्ध नहीं

इस शहर से जुड़ी किसी भी तरह की कोई जानकारी किसी भी किताब या स्थान पर लिखी हुई नहीं मिली। हालांकि, ऐसा अनुमान लगाया जाता है कि इस रहस्यमय शहर में 25 हजार लोग रहते होंगे। क्योंकि यह बहुत बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। जानकारी के मुताबिक, इस शहर का निर्माण शहरी ग्रिड प्रणाली किया गया था। जैसा कि अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर को बसाया गया है। टियाटिहुआकन शहर के बारे में एक और जानकारी मिलती है। वह यह है कि इस शहर में बने एक पिरामिड के अंदर कई इंसानों की हड्डियां मिली हैं। पिरामिड के अंदर मिले कंकालों को लेकर कई तरह की बातें सुनने को मिलती है। कुछ लोगों का ऐसा मानना है कि इस पिरामिड को इंसानों की बलि देने में किया जाता होगा। लेकिन इसका प्रमाण आज तक किसी को नहीं मिला।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

जयपुर के इंजीनियर की तकनीक से बनेंगी गांवों की सड़कें, ग्राउंड वॉटर को रिचार्ज करेगा बारिश का पानी

सड़क बनाने के एक्सपर्ट इंजीनियर 84 वर्षीय पृथ्वी सिंह कांधल की बारिश के जल को बचाने के लिए सुराखदार सड़कों के निर्माण की तकनीक को केन्द्र सरकार ने मंजूरी दी है। इस तकनीक से प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनने वाली 20 फीसदी सड़कों को बनाया जाएगा।

03/02/2020

जयपुर में हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स से लेकर वाइल्ड लाइफ तक सब कुछ

मरुप्रदेश आने पर देशी-विदेशी पर्यटकों को किले, महल देखने के साथ ही वन्यजीवों को देखने का मौका मिलता है। टूरिज्म के लिहाज से बात करें तो प्रदेश में गुलाबी नगरी ऐसी सिटी है, जहां पर्यटकों को लॉयन सफारी और हाथी सवारी का लुत्फ उठाने का मौका मिलता है।

27/09/2019

मदर्स डे विशेष : मां ये जीवन ही तुमसे है

मां एक शब्द ही नहीं है, इस शब्द में पूरा संसार समाया हुआ है। मां की परिभाषा का क्षेत्र सीमित नही है वो तो असीमित है किसी समंदर की तरह।

09/05/2019

अजब गजब: इस झील को माना जाता है दुनिया की सबसे रहस्यमयी झील, रात में नीला हो जाता है इसका पानी

पूरी दुनिया में रहस्यों की कमी नहीं है, दुनियाभर के वैज्ञानिक भी इन रहस्यों के बारे में आज तक पता नहीं लगा पाए। आज हम आपको एक ऐसे ही रहस्य के बारे में बताने जा रहे हैं जो एक झील में छिपा हुआ है। इस झील का रहस्य यह हैं कि यह झील रात के वक्त किसी नीले रंग के पत्थर की तरह चमकने लगती है।

26/02/2021

असम में बाढ़ का कहर, घर के बेड पर आराम फरमाते मिला बंगाल टाइगर

असम में बाढ़ के कहर ने लोगों का जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। बाढ़ से लोग ही नहीं जानवर भी बेहाल हैं।

19/07/2019

आपणी पाठशाला के नन्हे सिंगर अशोक के वीडियो को 11 मिलियन लोगों ने देखा

चूरू की आपणी पाठशाला अब किसी परिचय की मोहताज नहीं है। महिला थाना पुलिस के सिपाही धर्मवीर द्वारा जिला मुख्यालय पर संचालित इस पाठशाला में उन अभावग्रस्त बच्चों को पढ़ाकर समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है, जो शहर में कचरा बीनने और भिक्षावृत्ति में संलिप्त हैं।

31/01/2020

हिंगलाज माता की मुसलमान भी करते हैं उपासना

देवी के 51 शक्तिपीठों में से एक हिंगलाज शक्तिपीठ हिन्दुओं की आस्था का प्रमुख केन्द्र है। हिंगलाज माता का गुफा मंदिर पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में लारी तहसील के दूरस्थ, पहाड़ी इलाके में एक संकीर्ण घाटी में स्थित है।

06/10/2019