Dainik Navajyoti Logo
Monday 20th of September 2021
 
खास खबरें

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

महिलाएं ले रहीं मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग

महिलाओं को गलत तरीके से देखने वाली निगाहों पर ऐसा वार होगा कि वो दोबारा ये गंदा काम करने की हिमाकत नहीं कर पाएंगी।

08/03/2020

पंजशीर घाटी में तालिबान की बड़ी बाधाएं

काबुल से 125 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है पंजशीर

25/08/2021

आपणी पाठशाला के नन्हे सिंगर अशोक के वीडियो को 11 मिलियन लोगों ने देखा

चूरू की आपणी पाठशाला अब किसी परिचय की मोहताज नहीं है। महिला थाना पुलिस के सिपाही धर्मवीर द्वारा जिला मुख्यालय पर संचालित इस पाठशाला में उन अभावग्रस्त बच्चों को पढ़ाकर समाज की मुख्यधारा से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है, जो शहर में कचरा बीनने और भिक्षावृत्ति में संलिप्त हैं।

31/01/2020

भारतीय रेल ने पुराने डिब्बों का किया रचनात्मक इस्तेमाल, मैसूर में खोले क्लास रूम

भारतीय रेल ने पुराने और बेकार पड़े डिब्बों का रचनात्मक तरीके से इस्तेमाल किया है। भारतीय रेल ने शिक्षा को बढ़ावा देने और स्कूल के प्रति बच्चों की रुचि बढ़ाने के लिए रेलवे के पुराने डिब्बों को कचरा बनाने की बजाय उसमें नए क्लासरूम खोले हैं।

21/02/2020

इसरो ने लिखा कामयाबी का नया इतिहास, इनसेट 3डीआर का प्रक्षेपण सफल

श्रीहरिकोटा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगन (इसरो) ने अपनी कामयाबी की एक और दास्तान लिखते हुए गुरुवार को मौसम संबंधी जानकारी देने वाले उपग्रह इनसेट 3डीआर का सफल प्रक्षेपण किया। साथ ही पहली बार किसी आॅपरेशनल फ्लाइट में स्वदेश निर्मित क्रायोजेनिक अपर स्टेज (सीयूएस) का इस्तेमाल किया गया।

08/09/2016

उत्तरप्रदेश के इस शहर में रावण को देखा जाता है संकट मोचक की भूमिका में

देश भर में आयोजित रामलीलाओं में खलनायक की भूमिका में नजर आने वाला रावण उत्तर प्रदेश के इटावा के जसवंतनगर में संकट मोचक की भूमिका में पूजा जाता है। यहां रामलीला के समापन में रावण के पुतले को दहन करने के बजाय उसकी लकड़ियों को घर ले जा कर रखा जाता है ताकि साल भर उनके घर में विघ्न या कोई बाधा उत्पन्न न हो सके।

05/10/2019

किसानों के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए IAS अफसर 10 KM पैदल चलकर जाता है सब्जी खरीदने

वेस्ट गारो हिल्स में तैनात आईएएस अफसर रामसिंह ने हाल ही में अपने फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट से कुछ तस्वीरें पोस्ट की है। जिसमें उन्होंने बताया कि स्थानीय किसानों और उनके उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए हर दिन अपने दफ्तर से 10 किलोमीटर पैदल चलकर घर जाते हैं। इस दौरान रास्ते में वे सब्जियां और जरूरत के सामान खरीदते हैं।

26/09/2019