Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 22nd of January 2020
 
खास खबरें

सक्सेस स्टोरी : अखबार बांटने वाले की बेटी बनी अफसर, पहले प्रयास में पास की HCS की परीक्षा

Wednesday, January 15, 2020 10:15 AM
शिवजीत भारती ने पहले प्रयास में पास की हरियाणा सिविल सेवा परीक्षा।

हरियाणा। हरियाणा सिविल सेवा परीक्षा (एचसीएस) का परिणाम जारी हो गया है और इसमें 48 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। इनमें 26 साल की शिवजीत भारती का नाम भी शामिल है। शिवजीत भारती और उनका परिवार हरियाणा के जयसिंहपुरा गांव में रहते हैं। भारती के पिता अखबार विक्रेता की हैं, जबकि मां आंगनबाड़ी में काम करती है। पढ़ाई के दौरान पड़ोस के लोग और रिश्तेदार भारती के माता-पिता पर बेटी की शादी का दबाव बनाते थे, लेकिन भारती ने ऐसा नहीं करने दिया और कड़ी मेहनत एवं दृढ़ इच्छाशक्ति से सिविल सेवा परीक्षा पास की।  

शिवजीत भारती ने बताया कि उनके पिता गुरनाम सैनी सूरज निकलने से पहले जगते हैं और अखबार बांटने का काम करते हैं। उन्‍हें साल में सिर्फ 4 छुट्ट‍ियां ही मिलती हैं। उनकी मां शारदा सैनी आंगनबाड़ी में काम करती हैं। भारती ने बताया कि आज के दौर में कम आय में अच्‍छी शिक्षा प्राप्‍त करना चुनौतीपूर्ण होता है, लेकिन कड़ी मेहनत कर पढ़ाई करना और सरकारी नौकरी हासिल करना उनकी प्राथमिकता थी। भारती ने बताया कि वह यूपीएससी की तैयारी कर रही थी। इसी बीच उन्‍हें हरियाणा सिविल सेवा (एग्‍ज‍िक्‍यूटिव) परीक्षा देने का मौका मिला और पहली ही कोशिश में उन्‍होंने क्‍वालिफाई कर लिया। भारती कहती हैं कि अब उन्‍हें पूरा यकीन है कि वह यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा भी पास कर सकती हैं। उनका अगला लक्ष्‍य यूपीएससी क्‍ल‍ियर करना है।

भारती की छोटी बहन पब्‍ल‍िक एडमिनिस्‍ट्रेशन में पोस्‍ट ग्रेजुएशन कर रही हैं और उनका छोटा भाई स्‍पेशल चाइल्‍ड है। ऐसे में भाई-बहनों की पढ़ाई पर भी खर्च होता है। साल 2015 में पंजाब यूनिवर्सिटी (चंडीगढ़) से मैथ्‍स ऑनर्स से पोस्‍ट ग्रेजुएशन करने वाली भारती अपना खर्च चलाने के लिए घर पर ट्यूशन पढ़ाती हैं। भारती के अनुसार सफलता के लिए कड़ी मेहनत जरूरी है और इसका दूसरा कोई विकल्‍प नहीं है। उन्‍हें किताबों से प्‍यार है और इसी मोहब्‍बत ने उन्‍हें यह सफलता दिलाई। भारती को किताबें, अखबार, मैग्‍जीन पढ़ना और यूट्यूब पर जानकारी से भरे वीडियोज देखना पसंद है। भारती ने बताया कि परीक्षा की तैयारी में ये सभी चीजें खूब काम आईं।

शिवजीत भारती ने बताया कि पढ़ाई के दौरान ही पड़ोसी और रिश्‍तेदार उनके माता-पिता को सुझाव देते थे कि बेटी की जल्‍दी शादी कर दो, लेकिन उनके लिए शिक्षा सबसे ज्यादा जरूरी थी, इसलिए उन्‍होंने सबकी बातों को अनसुना कर पढ़ाई जारी रखी और आज सिविल सेवा परीक्षा पास की। भारती ने कहा कि अगर इच्‍छाशक्‍त‍ि हो तो छोटे से गांव में रहकर भी काफी कुछ हासिल किया जा सकता है। भारती ने कहा कि वह अपने पूरे करियर के दौरान विनम्र बनी रहेंगी और अपनी कामयाबी को सिर पर चढ़ने नहीं देंगी। अपनी बेटी की कामयाबी पर गुरनाम सैनी ने कहा कि मुझे अपनी बेटियों पर गर्व है और उनकी कामयाबी देखकर मैं नौवें आसमान पर हूं।

यह भी पढ़ें:

एक कॉल पर मोबाइल वैन घर पहुंचाएगी पौधे, जयपुर से शुरुआत

प्रदेश में पहली बार मोबाइल वैन की शुरूआत जयपुर से की गई है। इसके तहत अगर किसी व्यक्ति को पौधों की आवश्यकता है तो वे डिविजनल ऑफिस के फोन नम्बर पर कॉल कर पौधे मंगवा सकते हैं।

08/08/2019

तीन साल की बच्ची बनी सबसे कम उम्र की प्रतिभागी

जयपुर मैराथन में इस साल भाग लेकर वैरोनिका कुमारी चंद्रावत सबसे कम उम्र की प्रतिभागी बन गई है। यह जानकारी देते हुए पिता रिपुदमन सिंह चंद्रावत ने बताया कि वे बेटियों को आगे बढ़ाने और मिसाल के तौर पर स्थापित कर समाज के लिए एक उदाहरण स्थापित करना चाहते हैं।

10/04/2019

जयपुर के यूथ को लेनी चाहिए इन दोस्तों से सीख, जो घायलों को बचाने में जुट गए

त्रिमूर्ति सर्किल पर हादसे का शिकार हुए युवकों को बचाने के लिए राहुल और पूजा के साथ उसके दो दोस्तों ने पूरी कोशिश की। उन्होंने घायलों को इलाज के लिए सही समय पर एसएमएस अस्पताल पहुंचाया।

13/08/2019

'बच्चों को ढाल बनाते हैं उपद्रवी, 95 प्रतिशत कश्मीरी शांति से चाहते हैं हल'

गृहमंत्री राजनाथ सिंह और जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में जम्मू-कश्मीर के हालात पर बात की। राजनाथ ने कांफ्रेंस में कहा कि कश्मीर में छोटे बच्चों को बरगलाया जाता है, कुछ लोग बच्चों को पत्थर मारने के लिए तैयार करते हैं। सभी कश्मीर में शांति चाहते हैं, घाटी के हालात को लेकर बहुत दुखी हूं।

25/08/2016

ताजमहल को पछाड़कर धारावी की झुग्गियां बनीं विदेशी सैलानियों की पहली पसंद

जब ट्रिपएडवाइजस ने टॉप 10 ट्रेवलर्स एक्सपीरियंस 2019 इन एशिया सूची में धारावी स्लम टूर को शामिल किया तो सबकों हैरानी हुई, क्योंकि इसने दुनिया के सात अजूबों में शामिल ताजमहल तक को पीछे छोड़ दिया है।

04/07/2019

एक्सीडेंट के बाद कार में फंसी महिला, 6 दिन तक पीया बारिश का पानी

महिला की कार का घने जंगलों में एक्सीडेंट हो गया और वह छह दिन तक कार में ही फंसी रही। इस दौरान उसके फोन पर लगातार फोन आ रहे थे, लेकिन वह फोन रिसीव नहीं कर पा रही थी।

03/08/2019