Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 3rd of March 2021
 
जोधपुर

जेल से फरार हिस्ट्रीशीटर का नहीं लगा सुराग

Thursday, August 13, 2020 01:10 AM
कॉन्सेप्ट फोटो ।
जोधपुर। केन्द्रीय कारागार के महिला जेल में बनी क्वॉरंटीन सेंटर की दीवार फांदकर फरार हुआ हिस्ट्रीशीटर बंदी गुरुवार को दूसरे दिन भी पुलिस के हाथ नहीं लगा। उसकी सरगर्मी से तलाश की जा रही है लेकिन अभी तक कोई सुराग नहीं लग सका है। रातानाडा पुलिस ने बताया, कि मूलत: जालोर जिले में भाद्राजून थानान्तर्गत ऊकली गांव हाल दल्ले खां की चक्की के पास झुग्गी झोपड़ी निवासी कैलाश उर्फ डोडिया बावरी बुधवार को जेल से फरार हुआ था। हत्या के मामले में उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया था। वह महिला जेल में बने अस्थाई क्वॉरंटीन सेंटर में बंद था।
 
बुधवार सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे जेल बंद करने लगे तो कैलाश उर्फ डोडिया नजर नहीं आया। जेल प्रहरियों ने क्वॉरंटीन सेंटर में तलाश किया लेकिन वह नहीं मिला। इस पर पूरे जेल परिसर की तलाश की गई। तब उसके भाग निकलने की पुष्टि हुई। इसके बाद जेल अधीक्षक की तरफ से रातानाडा थाने में बंदी कैलाश उर्फ डोडिया के खिलाफ फरार होने का मामला दर्ज किया गया। जेल प्रशासन का कहना हैं, कि महिला जेल की क्वॉरंटीन जेल में सुबह 10.40 बजे बंदियों को खाना खिलाया गया था। कैलाश उर्फ डोडिया ने भी खाना लिया था। इसके बाद जेल बंद करने के दौरान बंदियों की गिनती व हाजिरी ली तो वह नजर नहीं आया। जांच के बाद जेल प्रशासन को अंदेशा है कि जेल के पिछले हिस्से में दो दीवारें बनी हुई हैं। 
 
दोनों के बीच खुली जगह है, जहां पौधे लगे हुए हैं। इन दीवार को फांदकर बंदी के भागने का अंदेशा है। आरोपी डोडिया ने चौपासनी हाउसिंग बोर्ड थानान्तर्गत पाल बालाजी मंदिर के पीछे स्थित मार्बल कटिंग फैक्ट्री व निर्माणाधीन मकान में गत 25 जुलाई की मध्यरात्रि जानलेवा हमला किया गया था। फैक्ट्री में चौकीदार व मकान में चौकीदार दंपती घायल हो गए थे। अगले दिन 26 जुलाई को घायल गार्ड रोहिचा कला निवासी नरेश राणेजा की मृत्यु हो गई थी जबकि राजेश व पत्नी सुनीता घायल हो गए थे। पुलिस ने हमलावर कैलाश उर्फ डोडिया पुत्र बंशीलाल बावरी को गिरफ्तार कर 29 जुलाई को न्यायिक अभिरक्षा में भिजवाया था। वह शास्त्रीनगर थाने का हिस्ट्रीशीटर है।
यह भी पढ़ें:

क्रिकेटर हार्दिक पांड्या से जुडे मामले में अनुसंधान अधिकारी को दिए निर्देश

राजस्थान उच्च न्यायालय में क्रिकेटर हार्दिक पांड्या की ओर से पेश एक याचिका की सुनवाई करते हुए अनुसंधान अधिकारी जांच कर अगली सुनवाई पर तथ्यात्मक रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं।

09/12/2020

निर्यातकों के लिए जीएसपी डिजिटल सर्टिफिकेट शुरू

निर्यात को आसान बनाने के लिए भारत सरकार के एक्सपोर्ट इंस्पेशन काउंसिल ऑफ इंडिया डिपार्टमेंट ऑफ कॉमर्स एवं डायरेक्टर जनरल ऑफ फॉरन ट्रेड की ओर से जारी होने वाले जनरलाइड सिस्टम ऑफ प्रेफ रेंसेंज जीएसपी सर्टिफिकेट को डिजिटल बनाने के लिए सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है।

10/11/2019

त्रिपोलिया बाजार में बदमाश का डेरा : महिला का पहले पर्स छीना, फिर फेंक कर भाग निकला

शहर के अतिव्यस्ततम त्रिपोलिया बाजार में खरीदारी करने पहुंची महिला के हाथ से एक बदमाश पर्स छीनकर भाग छूटा। महिला व उसकी साथी महिला पीछे दौड़ी और चिगाई लेकिन चोर तंग गलियों से भागने में कामयाब हो गया। बदमाश युवक भागते समय पर्स को कुछ दूरी पर फेंक कर भाग निकला।

27/08/2020

बलिया जाने वाले श्रमिकों ने कहा, थैंक्यू राजस्थान धन्यवाद जोधपुर

लॉकडाउन में देश के अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को उन्हें घर भेजने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार ने प्रवासी श्रमिकों के प्रति आत्मीयता दिखाते हुए निशुल्क रेल यात्रा की व्यवस्था की जा रही है।

14/05/2020

रेलकर्मी के आश्रित किसी भी उम्र में करवा सकेंगे रेलवे अस्पताल में उपचार

रेलवे कर्मचारियों व सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों के आश्रितो के लिये राहत भरी खबर है अब रेलवे कर्मचारी के आश्रित किसी भी उम्र में रेलवे के किसी भी अस्पताल में उपचार करवा सकेंगे। रेलवे बोर्ड ने अपने पुराने नियमों में बदलाव करते हुये उम्र की बाध्यता को हटा दिया है।

13/03/2020

बाइक सवार पांच लोगों को ट्रक ने लिया चपेट में, पांच साल के मासूम की दर्दनाक मौत

शहर के निकटतर्वी सांगरिया बाइपास रोड पर ट्रक चालक ने सामने से आ रही एक बाइक पर सवार पांच लोगों को चपेट में ले लिया। हादसे में पांच साल के मासूम की दर्दनाक मौत हो गई। उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई। दुर्घटना में बच्चे के माता पिता, भाई व धर्म के मामा घायल हो गए।

06/09/2020

एमडीएम अस्पताल में शुरु हुई कॉर्डियक ओपीडी, कल से शुरु होगी कॉर्डियक सर्जरी की सुविधा

शहर में बढ़ते कोरोना संक्रमितों के चलते मथुरादास माथुर अस्पताल में संक्रमितों का प्राथमिकता के साथ उपचार शुरु करने के लिए सभी विभाग के डॉक्टरों की टीम जुटी रही। ऐसे में अन्य बीमारियों को लेकर लगने वाली ओपीडी को अस्थाई तौर पर बंद कर दिया था।

12/05/2020