Dainik Navajyoti Logo
Friday 22nd of January 2021
 
जोधपुर

जोधपुर को प्रतिदिन 15 एमसीएफटी पानी की जरूरत

Monday, June 08, 2020 01:10 AM
शहर में 11 व 4 एमसीएफटी ग्रामीण क्षेत्र की मांग कायलाना, तख्तसागर व सूरपुरा के सेरेज से होती है पूरी

जोधपुर । जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग ने शहर में पेजयल लाइनों, रिजर्वायर के रखरखाव को लेकर 5 जून रात से 6 जून रात तक 24 घंटे का शटडाउन लिया था। दैनिक नवज्योति टीम ने पानी की मांग, आपूर्ति और रिजर्वायर की क्षमता व केनाल से आवक को लेकर पड़ताल की। जलदाय विभाग के अफसरों का दावा हैं, कि इस गर्मी में जोधपुर को पेयजल के लिहाज से टेंशन नहीं है। क्योंकि शहर में 11 एमसीएफटी की मांग के अनुरूप पानी मिल रहा है, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में 4 एमसीएफटी पानी सप्लाई हो रहा है।


अभी केनाल से औसत 13.6 एमसीएफटी पानी प्रतिदिन जोधपुर में आता है तथा शहर में 3 रिजर्वायर है। कायलाना व तख्तसागर में 8 जून को 215 एमसीएफटी पानी स्टोर था, जो कि मांग के हिसाब से शहर के लिए 11 दिन का पानी है। जबकि केनाल से पानी की आवक रोज हो रही है, इसलिए स्टोरेज बढ़ेगा। जबकि 70 एमसीएफटी पानी सूरपुरा रिजर्वायर में हैं। ऐसे में पेयजल को लेकर कोई दिक्त नहीं रहेगी।


जानिए, जोधपुर में केनाल से पानी की आवक, सप्लाई और स्टोरेज की पूरी जानकारी
मांग और सप्लाई
शहर की मांग 11 एमसीएफटी प्रतिदिन है और सप्लाई पूरी हो रही है। जबकि 4 एमसीएफ पानी ग्रामीण क्षेत्रों में और 2 एमसीएफटी पानी सूरपुरा फिल्टर प्लांट को मिल रहा है, जो कि 11 एमसीएफटी में शामिल हैं।


केनाल से रोजाना औसत पानी की आवक
अभी केनाल से डेली औसतन 13.6 एमसीएफटी पानी की आवक हो रही है।


कितने रिजर्वायर है और उनकी क्षमता
जोधपुर में 3 रिजर्वायर हैं- कायलाना, तख्तसागर और सूरपुरा। ग्रामीण क्षेत्रों में जो 4 एमसीएफटी पानी सप्लाई होता है वो सीधे कायलाना, तख्तसागर से लेते हैं। जो कि उम्मेद सागर,धवा, कुड़ी व चौखा जाता है। इस हिसाब से 13 एमसएफटी कुल पानी कायलाना व तख्तसागर से उठता है।


अभी कितना पानी स्टोरेज हैं
जोधपुर के कायलाना, तख्तसागर व सूरपुरा में अभी 8 जून को 215 एमसीएफटी पानी बचा है। 


केनाल से पानी बंद हो जाए तो क्या होता है
केनाल से पानी बंद होने पर मुख्य केनाल में 25 दनि का पानी स्टोर हो सकता है। इसके अलावा रिजर्वायर भी है हमारे पास। ऐसे में मानसून तक कोई टेंशन नहीं होगी।


इस गर्मी में पानी को लेकर कोई कमी नहीं आएगी : एसई
शहर में वर्तमान पेयजल मांग के अनुरूप जलापूर्ति की जा रही है तथा पेयजल वितरण की स्थिति सामान्य है। राजीव गांधी लिफ्ट नहर से हो रही पानी की आवक तथा कायलाना व तखत सागर में संचित 215 एमसीएफटी तथा सुरपुरा में संचित 70 एमसीएफटी के साथ ग्रीष्म काल मे शहर की जलापूर्ति सामान्य रहेगी। -जेसी व्यास, एसई, सिटी


केनाल से अधिकतम क्षमता अनुसार जीरो आारडी से 23 एमसीएफटी रोज प्राप्त कर जोधपुर तक के 200 किमी तक के रास्ते में विभिन्न ग्रामीण व शहरी योजनाओं को आपूर्ति की जा रही है। -दिनेश पेडीवाल, एडिशनल चीफ इंजीनियर, लिफ्ट केनाल परियोजना

यह भी पढ़ें:

जिला प्रशासन, जनसम्पर्क कार्यालय व नगर निगम का जागरूकता कार्यक्रम आज

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आह्वान पर कोविड-19 महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए चलाए जा रहे मास्क लगाने के जन आंदोलन के तहत जिला प्रशासन, सूचना एवं जन संपर्क कार्यालय तथा नगर निगम की ओर से शनिवार को जिला स्तर पर विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

02/10/2020

विवि की लेटलतीफी में आधे से अधिक छात्रों पर पड़ा बोझ

व्यास विश्वविद्यालय प्रशासन के आदेशों को लागू करने में लेटलतीफी के चलते पंचवर्षीय विधि पाठ्यक्रमों और स्रातकोत्तर सेमेस्टर कक्षाओं के आधे से अधिक छात्रों पर बोझ पड़ा।

03/10/2020

मौसम ने ली अंगड़ाई : कई इलाकों में मेघ बरसे, फिजां में घुली ठंडक

पश्चिमी विक्षोभ के असर से बने परिसंचार तंत्र से प्रदेश में प्री मानूसन की दस्तक सी लगने लगी है। चार दिनों से प्रदेश पर विक्षोभ से मेघ मेहरबान बने हुए हैं। आंधी बारिश व मेघ गर्जना बनी हुई है। शहर में रविवार को थमा बारिश का दौर सोमवार को फिर शुरू हो गया। सुबह दस बजे तक धूप खिली हुई थी।

01/06/2020

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शराबबंदी की तैयारी में

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गांधीवादी विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। गांधीजी के 150वें जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में गहलोत राजस्थान में शराबबंदी करने पर विचार कर रहे हैं। सरकार के करीबी सूत्रों से पता चला है कि सीएम गहलोत शराबबंदी की तैयारी में है, लेकिन वे इससे पहले हर पहलू पर गौर करेंगे।

08/12/2019

बोनस की मांग को लेकर विरोध पर उतरे रेलकर्मी

रेलमंत्रालय द्वारा बोनस की घोषणा नहीं करने के विरोध में नार्थ वेस्टर्न रेलवे एम्पलाइज यूनियन ने आॅल इंडिया रेलवे मैंस फेडरेशन के आह्वान पर सोमवार से आर पार की लडाई छेड़ दी है।

19/10/2020

सांसद ने किसानों की समस्याओं के निराकरण को सीएम को लिखा पत्र

पाली सांसद एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री पीपी चौधरी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को किसानों की समस्याओं के निवारण हेतु पत्र लिखा। जिसमें चौधरी ने बताया कि किसान वर्तमान परिस्थिति में कोराना महामारी के साथ-साथ मजदूरों की उपलब्धता, सुगम आवागमन के साथ-साथ अपनी स्वास्थ्य सम्बन्धी सुरक्षा से भी जुझ रहा है...

24/05/2020

एसी कोच बनने से पहले भी ट्रेनों के कोच रहते थे कूल

आज भले ही हम ट्रेनों के एसी कोच में सफर कर सुखद यात्रा का अनुभव करते है,लेकिन आजादी से पहले भी ट्रेनों के कोच को ठंडा रखने की देशी तकनीक विकसित कर ली गई थी।भारत में एयर कंडीशंड कोच का चलन रेलवे की शुरूआत से ही नहीं था। यह भारत में 1930 के दशक में आना शुरू हुआ था, जबकि यहां पहली ट्रेन 16 अप्रैल 1853 को चली थी।

04/06/2020