Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 4th of August 2021
 
जोधपुर

खुशखबर ! इंटीग्रेटेड बीएड द्वितीय व तृतीय वर्ष के साथ ड्यू पेपर के भी विद्यार्थी होंगे प्रमोट

Sunday, January 03, 2021 01:15 AM
जद्दोजहद के बाद आखिर विवि ने किया निर्णय, अब परिणाम जारी की कवायद, सामान्य संकायों के विद्यार्थी अब भी ऊहापोह में

जोधपुर । व्यास विश्वविद्यालय ने लंबे समय तक कश्मकश के बाद आखिरकार अब इंटीग्रेटेड बीए बीएड -बीएससी बीएड द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों के साथ ही अब ड्यू पेपर के भी विद्यार्थियों को प्रमोट करने का निर्णय लिया है। जिसके संबंध में संशोधित अधिसूचना जारी होने के बाद में परिणाम जारी करने की तैयारी की जा रही है।


दूसरी तरफ सामान्य संकायों के बीए, बीएससी, बीकॉम और बीसीए के ड्यू पेपर्स के विद्यार्थी अब भी ऊहापोह में है। विवि की परीक्षा नियंत्रक समिति सदस्यों ने 18 दिसम्बर को बैठक की थी। जिसमें एनसीटीई के निर्णय का हवाला देकर इंटीग्रेटेड बीएड द्वितीय व तृतीय वर्ष के विद्यार्थियों को भी प्रमोट करने का निर्णय लिया था। मगर इसमें ड्यू पेपर के संबंध में ऊहापोह बना रहा। जिसके संबंध में नवज्योति ने समाचार प्रकाशित किया था।


औसत अंकों से करेंगे प्रमोट
विवि के निर्णय के अनुसार ड्यू पेपर के विद्यार्थियों को अन्य उत्तीर्ण पेपरों के औसत अंकों के आधार पर या अनुत्तीर्ण होने की दशा में उत्तीर्ण अंक प्रदान कर प्रमोट किया जाएगा। बीए बीएड व बीएससी बीएड द्वितीय व तृतीय वर्ष का परीक्षा परिणाम जारी करने का भी निर्णय लिया गया। ऐसे में जल्दी ही परीक्षा परिणाम भी जारी हो जाएगा।


सामान्य संकाय में संशय
उधर, विवि ने सामान्य संकाय में भी ड्यू पेपरों के विद्यार्थियों में संशय बना हुआ है। विवि प्रशासन ने अब तक प्रमोट कर उत्तीर्ण करने का स्पष्ट आदेश जारी नहीं किया है। जिसके कारण से बी.कॉम, बीएससी, बीए के साथ ही बीसीए के विद्यार्थियों में ऊहापोह बना हुआ है। कई बीसीए के विद्यार्थी जो पूर्व में फाइनल इयर उत्तीर्ण कर चुके हैं, मगर पूर्व के वर्षों की एटीकेटी अटकी हुई है। उनके संबंध में भी अब तक निर्णय का इंतजार है। विवि प्रशासन के निर्णय लेने में देरी से विद्यार्थियों का भविष्य अधर झूल में बना हुआ है।


इंटीग्रेटेड व ड्यू पेपर वाले प्रमोट
अब विवि ने 2 जनवरी को संशोधित अधिसूचना जारी की है। जिसमें अब बीए बीएड व बीएससी बीएड द्वितीय वर्ष के साथ प्रथम वर्ष के ड्यू पेपर में उनके प्रथम वर्ष के उत्तीर्ण पेपरों के औसत अंकों के आधार पर तथा बीए बीएड व बीएससी बीएड तृतीय वर्ष के साथ प्रथम व द्वितीय वर्ष के ड्यू पेपरों में भी प्रमोट किया जाएगा ।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

यह दृश्य क्या दिल दहलाने के लिए काफी नहीं हैं ?

कोरोना वायरस के लगातार बढ़ रहे खतरे के बीच हालात गंभीर से भी अति गंभीर होते जा रहे हैं। सरकारी अस्पतालों से लेकर निजी अस्पतालों तक में बेड उपलब्ध नहीं है ऐसे में जब जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल से लेकर महात्मा गांधी अस्पताल का जायजा लिया गया तो हालात काफी भयावह नजर आए।

29/04/2021

सूर्यनगरी के बाशिन्दों ने पेश की मानवता की मिसाल

कोरोना महामारी संक्रमण काल में केन्द्र व राज्य सरकारे सभी प्रवासी व अप्रवासियों को अपने घर भेजने के लिए रेल व रोडवेज बस की सुविधा उपलब्ध करा रही है। लेकिन कुछ शहर ऐसे भी है, जहां कोई बस या रेल की सुविधा हाल-फिलहाल शुरू नहीं हो पाई है।

15/05/2020

भाजपा जिला कार्यसमिति बैठक : घर से लाए टिफिन साथ बैठ चाव से खाए कडी सोगरा, राबड़ी व गट्टे की सब्जी

भाजपा शहर की सेमी वर्चुअल जिला कार्यसमिति की बैठक जोधपुर इण्डस्ट्रीज एसोसिएशन सभागार में आयोजित की गई। चार सत्रों में आयोजित बैठक में द्वितीय सत्र के बाद विशेष तौर पर वरिष्ठ नेताओं से लेकर जिला व मंडल स्तर के कार्यकर्ता घर से टिफिन में भोजन साथ लेकर आए।

11/07/2021

जोधपुर संभाग को दी कई सौगातें

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट में जोधपुर को कई सौगाते दी है। अपने गृह शहर का पूरा ध्यान रखते हुए यहां पर लिफ्ट कैनाल का तीसरा चरण शुरू करने की राह उन्होंने आसान कर दी है। वहीं सोलर, एलिवेटेड रोड़ की सौगातों के साथ ही पशु मेडिकल कॉलेज यहां खोलने की घोषणा की है। 765 केवी का जीएसएस भी जोधपुर को दिया है।

10/07/2019

बैंकों के निजीकरण के विरोध में दस लाख से ज्यादा कर्मचारी दो दिन हड़ताल पर

आम बजट में सरकार द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र की दो बैंकों के निजीकरण के प्रस्ताव के विरोध में युनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर 15 व 16 मार्च को देश के 10 लाख बैंक कर्मचारी व अधिकारी हड़ताल पर रहेंगे।

14/03/2021

ना नियम ना कायदा ना ही है कोई गाइड लाइन... लगा दो बेरिकट्स

कोरोना के कहर के बीच जोधपुर इन दिनों पुलिस की ओर से बनाए जा रहे मनमर्जी के नियमों से ज्यादा परेशान हैं। ना कोई है नियम कायदा है ना ही कोई स्पष्ट गाइड लाइन। बस पता नहीं कहां से कोई खबर उठती है कि फलां एरिया में पॉजिटिव आया है। बस पुलिस लग जाती है बेरिकेट्स देखकर मनमाफिक गलियों को सील करने में।

12/05/2020

कमला नेहरू वक्ष चिकित्सालय: समय पर आईसीयू सुविधा नहीं मिलने से पिछले तीन महीने में 114 मरीजों की हो चुकी मौत

महात्मा गांधी अस्पताल के अधीन कमला नेहरू वक्ष चिकित्सालय में टीबी या सिलिकोसिस के मरीजों को भर्ती किया जाता है। फेफड़ों में संक्रमण को लेकर कई बार समस्या इतनी विकराल हो जाती है कि मरीज को तुरंत आईसीयू में शिफ्ट कर वेंटिलेटर पर रखा जाता हैं।

30/01/2020