Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 22nd of January 2020
 
जयपुर

मकर संक्रांति : जलमहल की पाल पर दिखी राजस्थानी संस्कृति, सिटी पैलेस में मनाया काइट फेस्टिवल

Wednesday, January 15, 2020 12:20 PM
पतंग के साथ विदेश पर्यटक, सांसद दीयाकुमारी और मंत्री विश्वेंद्र सिंह।

जयपुर। आमेर रोड स्थित जलमहल की पाल पर पर्यटन विभाग की ओर से वार्षिक पतंग महोत्सव (काइट फेस्टिवल) आयोजित किया गया। पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने आसमान में गुब्बारे छोड़कर फेस्टिवल का उद्घाटन किया। कार्यक्रम में मंत्री ने पतंग उड़ाई और पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रमों को भी देखा। इस दौरान पर्यटन विभाग के निदेशक भंवर लाल भी मौजूद रहे। कार्यक्रम में पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि पर्यटन एक ऐसा क्षेत्र है, जिसमें सभी को पार्टियों की सीमा को समाप्त कर एकजुट होकर काम करना चाहिए। विभाग द्वारा नए सर्किट बनाए जा रहे हैं और राज्य में आने वाले पर्यटकों के लिए नए स्थलों को शामिल किया जा रहा है। महोत्सव के दौरान लोक कलाकारों ने कच्छी घोड़ी, कठपुतली, अलगोजा, मयूर नृत्य, हरियाणवी घूमर, लंगा गायन, बहरूपिया व भपंग वादन को प्रस्तुत किया। इस अवसर पर प्रदर्शनी में रखी बड़ी चरखी भी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र रही।

सिटी पैलेस में मनाया गया काइट फेस्टिवल
सिटी पैलेस में सर्वतोभद्र चौक की छत पर उत्साह व उमंग के साथ वार्षिक काइट फेस्टिवल मनाया गया। इस अवसर पर विदेशी व स्थानीय पर्यटकों ने पतंगें उड़ाई और पारंपरिक व्यंजनों का आनंद लिया। इस मौके पर सांसद दीया कुमारी और पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने पर्यटकों के साथ बातचीत की और पतंगबाजी में भी हाथ आजमाया। कार्यक्रम में दीया कुमारी ने कहा कि पर्यटकों में इस हैरिटेज फेस्टिवल के बारे में जागरुकता लाने के लिए महाराजा सवाई मानसिंह द्वितीय संग्रहालय ट्रस्ट द्वारा यह फेस्टिवल आयोजित किया जाता है। पतंगबाजी जयपुर की ऐतिहासिक परंपरा व संस्कृति का एक प्रमुख हिस्सा है। इस दौरान राजस्थानी लोक गायकों द्वारा पारंपरिक लोक गीत प्रस्तुत किए गए। साथ ही पर्यटकों को स्वर्गीय सवाई राम सिंह द्वितीय (1835-1880) की प्रदर्शित की गई पतंगों व चरखी देखने का अवसर भी मिला।

यह भी पढ़ें:

रोजाना खराब होती है 350 बसें, कैसे मिले यात्रियों को सुविधा

रोडवेज की बसें आए दिन खराब रहती हैं। इससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। साथ ही रोडवेज को राजस्व का नुकसान भी होता है। इसके बावजूद रोडवेज प्रशासन नई बसों की खरीद करने में तत्परता नहीं दिखा रहा है। वहीं इलेक्ट्रिक बसों को चलाने में कंपनियों ने रूचि नहीं दिखाई है।

25/11/2019

हितेश को मिले 99.33 प्रतिशत अंक, अंग्रेजी और संस्कृत में कटे दो अंक

दौसा जिला के गीजगढ़ कस्बे के हितेश कुमार शर्मा ने राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड दसवीं के परिणाम में 99.33 प्रतिशत अंक प्राप्त करके प्रदेशभर में नाम रोशन किया है।

04/06/2019

गहलोत ने दी और दो उप तहसील को मंजूरी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अलवर जिले में एक उप तहसील को तहसील में क्रमोन्नत करने और दो नए उप तहसील कार्यालय खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

12/11/2019

विवाहिता से दोस्ती कर किया दुष्कर्म, एफआईआर दर्ज

आमेर थाने में विवाहिता से दोस्ती कर उसके साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। इस संबंध में पुलिस ने जीरो नम्बरी एफआईआर दर्ज कर गलता गेट थाने भेज दी है।

26/12/2019

अशोक चांदना ने एसएमएस स्टेडियम में चल रहे निर्माण कार्यो का लिया जायजा

खेल मंत्री अशोक चांदना ने एसएमएस स्टेडियम का निरीक्षण किया। उन्होंने स्टेडियम में चल रहे स्पोर्ट्स हॉस्टल के निर्माण कार्यो का जायजा लिया।

26/09/2019

नई नीलामी नीति जारी, भूखंड का तीन किश्तों में करना होगा भुगतान

राज्य सरकार ने प्रदेश में नगरीय विकास विभाग के अधीन भूखंडों की नीलामी की नई नीति जारी कर दी है। अब नीलामी में आवंटित होने वाले भूखंडों की कीमतों का भुगतान तीन किश्तों में करना होगा।

17/09/2019

राजस्थान के 175 बड़े बांधों में आया पानी, 97 को बारिश का इंतजार

प्रदेश में एक बार फिर से मानसून की अच्छी बारिश के चलते कई बांधों में पानी की आवक हो रही है। गत दो सप्ताह में विभिन्न इलाकों में हुई बरसात से कई बांधों में पानी आवक का आंकड़ा ओवरफ्लो की स्थिति में पहुंच गया है, लेकिन कुछ बांधों को अभी पानी का इंतजार है।

03/08/2019