Dainik Navajyoti Logo
Sunday 1st of August 2021
 
इंडिया गेट

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

बजट की हड़प्पन भाषा

टाइम्स आॅफ इंडिया में ताजा बजट को लेकर एक कार्टून छपा है कि जिसका मजमून है कि इस बार के बजट का प्रीफेस हड़प्पन लिपी में लिखा है, यह समझ से परे हैं।

04/02/2020

एक बेहद खतरनाक स्वीकारोक्ति

सुप्रीम कोर्ट ने किसान आंदोलन के बरक्स 4 सदस्यों की समिति का गठन किया है। मगर कोर्ट में सुनवाई के दौरान सरकार ने आंदोलन की खिलाफ जो बात बात कही, वह किसी भी लोकतांत्रिक सरकार के लिए शर्म का सबब होना चाहिए। मंगलवार को सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा कि दिल्ली में जारी किसानों के मौजूदा आंदोलन में खालिस्तानी घुसपैठ हुई थी।

16/01/2021

इमरान खान का मोदी प्रेम

पिछले दो आम चुनाव से मुल्क की सियासत में पाकिस्तान का भूत आ खड़ा हो रहा है। याद करें 2014 के आम चुनाव से पहले भाजपा के तमाम नेता अपने सियासी विरोधियों को पाकिस्तान भेज दिए जाने की धमकी दिया करते थे।

13/04/2019

पवन वर्मा के पत्र का सबब

जदयू के राज्यसभा सांसद पवन वर्मा ने पार्टी अध्यक्ष नीतीश कुमार को पत्र लिखकर दिल्ली में भाजपा के साथ पार्टी के गठबंधन पर नाराजगी जताई है।

23/01/2020

मनोहर पर्रिकर ने बदल डाली परंपरा

अब तक चली आ रही परंपराओं को बदलते हुए रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर अब थलसेना, नौसेना तथा वायुसेना के प्रमुखों, उपप्रमुखों तथा आर्मी कमांडरों के लिए नियुक्त किए जाने वाले प्रिंसिपल स्टाफ अफसरों (पीएसओ) की नियुक्ति में ज़्यादा रुचि ले रहे हैं. तीनों सेनाओं में इन वरिष्ठतम अधिकारियों की नियुक्ति पीएसओ के रूप में महत्वपूर्ण मसलों पर सेनाप्रमुखों को सुझाव देने के लिए की जाती है.

07/09/2016

तो ऐतिहासिक रहा अबके गणतंत्र दिवस-2

दिल्ली सहित मुल्क भर में किसानों और आम लोगों ने अबके गणतंत्र दिवस पर भारत में जन आंदोलनों के इतिहास का एक नया अध्याय जोड़ दिया है। आज आलम यह है कि यूपी, पंजाब, हरियाणा, कर्नाटक, महराष्ट्र, बिहार, यूपी, आंध्र, तेलंगाना, गुजरात और ओडिशा सहित मुल्क के अधिकतर सूबों में किसान आंदोलन की गूंज सुनाई पड़ने लगी है। लोग अपनी जान की परवाह किए बगैर सड़कों पर उतरकर 3 विवादित कृषि कानूनों के खिलाफ आवाज बुलंद कर रहे हैं।

29/01/2021

गांधी को मिटाने की एक और कवायद

महात्मा गांधी इस मुल्क की भावना है। उनके साथ किसी भी तरह का खिलवाड़ मुल्क को परेशान करता है। पिछले कुछ सालों से गांधी और उनके विचारों पर लगातार हमले जारी हैं।

21/01/2020