Dainik Navajyoti Logo
Friday 14th of May 2021
 
भारत

महिला दिवस पर महिला सांसदों की मांग, आधी आबादी को संसद-विधानसभा में दिया जाए 50 फीसदी आरक्षण

Monday, March 08, 2021 14:10 PM
प्रियंका चतुर्वेदी ने की 50 फीसदी आरक्षण की मांग।

नई दिल्ली। राज्यसभा में सोमवार को सदस्यों ने विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के उल्लेखनीय योगदान की चर्चा करते हुए उन्हें संसद में 33 प्रतिशत या उससे भी अधिक आरक्षण देने की मांग की। शून्यकाल के दौरान अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर चर्चा के दौरान कांग्रेस की छाया वर्मा ने कहा कि ऐसा माना जाता है कि जहां नारी की पूजा की जाती है वहां देवताओं का निवास होता है लेकिन आज महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। महिलाओं ने जमीन से आसमान तक अपना जौहर दिखाया है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने महिलाओं को पंचायती राज संस्थाओं में आरक्षण दिया था। महिलाओं को अब लोकसभा और राज्यसभा में आरक्षण का लाभ दिया जाना चाहिए।

भाजपा की सरोज पांडे ने कहा कि हाल के वर्षों में महिलाएं सशक्त हुई है और उनको लेकर राजनीति नहीं की जानी चाहिए। वे अपने अधिकारों को लेकर संघर्ष करती रही हैं। उन्होंने कहा कि कुछ समय पहले कुछ राज्यों में बच्ची के जन्म लेने से पहले या जन्म लेने के बाद उन्हें मार दिया जाता था, जिससे स्त्री पुरुष अनुपात में असंतुलन पैदा हो गया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' का नारा दिया है, जिसके बाद अनुपात में सुधार आया है। मनोनीत सदस्य सोनल मानसिंह ने कहा कि महिलाएं जनसंख्या में आधे से अधिक हैं फिर भी वे अपने अधिकारों से वंचित हैं। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि कल ही मुंबई से एक मालवाहक जहाज विदेश गया है, जिस पर सभी कर्मचारी महिलाएं हैं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय पुरुष दिवस मनाने की भी मांग की।

शिवसेना की प्रियंका चतुर्वेदी ने लोकसभा और राज्यसभा के साथ ही विधानसभाओं में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग करते हुए कहा कि 24 साल पहले उन्हें 33 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग की गई थी। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण के दौरान महिलाओं पर कामकाज का बोझ बढ़ा है और वे कई अन्य समस्याओं का सामना कर रही हैं, जिस पर सदन में चर्चा की जानी चाहिए। राष्ट्रवादी कांगेस पार्टी की फौजिया खान ने कहा कि संकट के दौरान महिलाएं आगे आती हैं लेकिन कई बार वेतन में असमानता होती है। उन्होंने संसद में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण देने की मांग करते हुए कहा कि मात्र 6 प्रतिशत महिलाएं ही नेतृत्वकारी भूमिका में हैं ।

कांग्रेस की अमी याज्ञिक ने कहा कि ग्राम पंचायतों में महिलाओं को आरक्षण दिये जाने के कारण आज लाखों महिलाएं सरपंच हैं और वे गांवों के विकास में अपना योगदान दे रही हैं। भाजपा की सीमा द्विवेदी ने कहा कि पुरुषों ने महिलाओं को सम्मान दिया है। अंतरिक्ष, रेल, शिक्षा, स्वास्थ्य और खेल के क्षेत्र में महिलाओं ने सम्मान बढ़ाया है। भाजपा की सम्पतिया उइके ने कहा कि महिलाएं समाज की मुख्यधारा में आ रही है और स्वयं सहायता समूह के गठन से उनकी आर्थिक स्थिति भी सुदृढ़ हुई है। कई राज्यों में पंचायत में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। उन्होंने कहा कि लोकसभा में 78 और राज्यसभा में 27 महिला सदस्य हैं।

यह भी पढ़ें:

ग्वालियर में भीषण हादसा, तीन मंजिला मकान में आग लगने से 7 की मौत

मध्यप्रदेश के ग्वालियर के इंदरगंज थाना क्षेत्र में रोशनीघर रोड स्थित गोयल पेंट हाउस में सुबह भीषण आग लग गई। इस हादसे में 7 लोगों की झुलसकर एवं धुंए से दम घुटने से मौत हो गई, जबकि 3 लोग घायल हो गए।

18/05/2020

राहुल गांधी के बैकबेंचर वाले बयान पर सिंधिया ने दी प्रतिक्रिया, कहा- इतनी चिंता तब की होती जब मैं कांग्रेस में था

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की बैकबेंचर वाले बयान पर बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रतिक्रिया दी है।

09/03/2021

यह समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है: नरेन्द्र मोदी

रामभक्ति हो या रहीमभक्ति, यह समय हम सभी के लिए भारतभक्ति की भावना को सशक्त करने का है। देशवासियों से मेरी अपील है कि शांति, सद्भाव और एकता बनाए रखें।

09/11/2019

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों ने किया आईडी ब्लास्ट, 15 जवान शहीद

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में नक्सलियों ने आईडी ब्लास्ट किया है, जिसमें करीब 15 जवानों के शहीद होने की जानकारी मिल रही है।

01/05/2019

किसानों को आयकर के दायरे में किया गया शामिल

सरकार ने किसानों को पर्याप्त ऋण सुविधा उपलब्ध कराने के लिए वित्त वर्ष में कृषि ऋण का लक्ष्य बढ़ाकर 16.5 लाख करोड रुपये कर दिया है और किसानों को पहली बार आयकर के दायरे में लाया गया है।

01/02/2021

दिल्ली में भारी बारिश, जाम के चलते लोगों को करना पड़ा मुश्किलों का सामना

नई दिल्ली में तेज बारिश के चलते कई इलाकों में जाम लग गया और लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

06/08/2019

मायावती ने 1984 के दंगों से की दिल्ली हिंसा की तुलना, संसद में चर्चा नहीं कराने को बताया दुखद

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को कहा कि सरकार को दिल्ली हिंसा पर संसद में खुली चर्चा कराकर सवालों का जवाब देना चाहिए। मायावती ने एक ट्वीट कर दिल्ली हिंसा की तुलना 1984 के सिख विरोधी दंगों से की और कहा कि हिंसा पर चर्चा नहीं कराना दुखद है।

02/03/2020