Dainik Navajyoti Logo
Monday 13th of July 2020
 
भारत

प्रतिबंध के आदेश पर टिकटॉक कंपनी का बयान, कहा- आदेश पर अमल की प्रक्रिया शुरू

Tuesday, June 30, 2020 13:25 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

नई दिल्ली। गलवान घाटी में चीन और भारत के सैनिकों के बीच संघर्ष के मद्देनजर केंद्र सरकार की तरफ से टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद कंपनी की ओर से मंगलवार को पहला बयान आया जिसमें कहा गया कि वह आदेश का पालन करने की प्रक्रिया में हैं। सरकार ने सोमवार रात 59 चीनी पर प्रतिबंध लगाया है।

टिकटॉक इंडिया प्रमुख निखिल गांधी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि हमने किसी भी भारतीय टिकटॉक यूजर की कोई भी जानकारी विदेशी सरकार या फिर चीन की सरकार को नहीं दी है। उन्होंने कहा कि हमें स्पष्टीकरण और जवाब देने के लिए संबंधित सरकारी पक्षों से मिलने के लिए आमंत्रित किया गया है। टिकटॉक ने अपने प्लेटफॉर्म को भारत में 14 भाषाओं में उपलब्ध कराकर इंटरनेट का लोकतांत्रिकरण किया है। इस ऐप का इस्तेमाल लाखों लोग करते हैं। इनमें कुछ कलाकार, कहानीकार और शिक्षक हैं और अपनी जिंदगी के अनुसार वीडियो बनाते हैं। वहीं कई उपयोगकर्ता ऐसे भी हैं, जिन्होंने पहली बार टिकटॉक के जरिए इंटरनेट की दुनिया को देखा है। चीनी ऐप में टिकटॉक भारत में बहुत प्रचलित है। सरकार के प्रतिबंध के बाद गूगल प्ले स्टोर और आईफोन से टिकटॉक को हटा दिया है।

गौरतलब है कि बढ़ते तनाव के बीच सरकार ने चीन से संचालित टिकटॉक, शेयर इट, हेलो, यू सी न्यूज, यू सी ब्राउजर, क्लब फैक्ट्री सहित 59 ऐप को प्रतिबंधित कर दिया है। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने सूचना प्रौद्योगिकी कानून के तहत उन ऐप पर प्रतिबंध लगाया है जो देश की संप्रभुता और अखंडता, देश की रक्षा तथा राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जोखिम वाले हैं। मंत्रालय ने कहा कि एंड्रॉयड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप को लेकर विभिन्न माध्यमों से मिली शिकायतों के साथ ही कई रिपोर्ट में इन ऐप के देश के बाहर स्थित सर्वर से अवैध तरीके से उपयोगकर्ताओं के डाटा की चोरी करने या गलत उपयोग करने की जानकारी मिली थी जिसके बाद उन पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें:

बुलंदशहर के डीएम के आवास पर सीबीआई की छापेमारी, नोट गिनने के लिए मंगाई मशीन

सीबीआई ने डीएम आईएएस अभय सिंह के आवास और कार्यालय पर खनन घोटाले को लेकर छापेमारी की। छापेमारी में उनके आवास पर नोट गिनने के लिए मशीन मंगवानी पड़ी।

10/07/2019

बंगाल में बम हमला, दो की मौत और तीन घायल

पश्चिम बंगाल के उत्तरी 24 परगना जिले के जगद्दल में कुछ अज्ञात बदमाशों ने देशी बमों से हमला कर दिया जिसमें कम से कम दो लोगों की मौत हो गयी और तीन अन्य लोग घायल हो गए।

11/06/2019

राहुल के साथ चर्चा में बोले रघुराम राजन, गरीबों की मदद के लिए 65 हजार करोड़ की जरूरत

आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने लॉकडाउन के बाद देश में आर्थिक गतिविधियां जल्द खोलने की पैरवी की है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ संवाद में राजन ने कहा कि देश के गरीबों, मजदूरों और किसानों की सीधे उनके बैंक खातों में पैसा डालकर वित्तीय मदद करनी होगी, जिसमें करीब 65 हजार करोड़ रुपए की जरुरत होगी।

30/04/2020

माल्या के खिलाफ दिवालिया कार्रवाई रोकने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या के खिलाफ चल रही दिवालिया कार्रवाई रोकने से इनकार कर दिया है। शीर्ष अदालत ने सोमवार को कहा कि माल्या अपनी याचिका लंबित होने का आधार बनाकर अन्य न्यायाधिकार क्षेत्रों में अपने खिलाफ शुरू की गई दिवालिया कार्रवाई पर रोक का अनुरोध नहीं कर सकते है।

06/01/2020

नीतीश ने राजग के साथ जताई एकजुटता, जदयू और भाजपा मिलकर लड़ेगी विधानसभा चुनाव

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को एक बार फिर कहा कि मोदी सरकार में शामिल नहीं होने के बावजूद राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन पूरी तरह से एकजुट है और 2020 का राज्य विधानसभा चुनाव उनकी पार्टी जदयू और भारतीय जनता पार्टी मिलकर लड़ेगी।

09/06/2019

भारत में कोरोना मरीजों की संख्या हुई 60 हजार से अधिक

भारत में कोरोना वायरस (कोविड-19) का संक्रमण तेजी से फैल रहा है और पिछले 24 घंटों में देश के विभिन्न हिस्सों में इसके 3277 नये मामले सामने आने के बाद इससे संक्रमितों की संख्या 60 हजार से अधिक हो गयी।

10/05/2020

स्थानीय प्रशासन वाहनों की आवाजाही न रोकें: गृह मंत्रालय

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने देशभर में जहां-तहां फंसे बड़ी संख्या में प्रवासिय मजदूरों, छात्रों एवं पर्यटकों के लिए उनके घरों तक पहुंचने के लिए लॉकडाउन हटाने से पहले ढील दी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अब मालवाहक वाहनों, ट्रकों एवं खाद्य सामग्री ढोने वाले अन्य महत्वपूर्ण वाहनों के भी निर्बाध आवागमन के लिए सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि वह ट्रकों और मालवाहकों को आने-जाने की निर्बाध अनुमति दें।

30/04/2020