Dainik Navajyoti Logo
Saturday 22nd of February 2020
 
भारत

टेलीकॉम एजीआर मामले में सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- आदेश के बाद भी एक भी पाई जमा नहीं हुई

Friday, February 14, 2020 12:00 PM
सुप्रीम कोर्ट।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने समायोजित सकल राजस्व (एडजस्टेड ग्रॉस रिवेन्यू अर्थात एजीआर के मामले में भारती एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया, रिलायंस कंम्युनिकेशन, टाटा टेली सर्विसेज और अन्य दूरसंचार कंपनियों के प्रबंध निदेशकों (एमडी) को 17 मार्च को व्यक्तिगत तौर पर तलब किया है। न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने इन कंपनियों के प्रबंध निदेशकों को शुक्रवार को अवमानना का नोटिस जारी करते हुए सभी प्रबंध निदेशकों को व्यक्तिगत तौर पर 17 मार्च को पेश होने को कहा है। कोर्ट ने पेश होकर ये बताने को कहा कि उनकी कंपनियों ने अब तक रुपये क्यों नहीं जमा कराए हैं।

न्यायमूर्ति मिश्रा ने सरकार से भी पूछा कि दूरसंचार विभाग ने यह अधिसूचना कैसे जारी की कि अभी भुगतान ना करने पर कंपनियों के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश को कैसे रोका गया। उन्होंने कहा कि किस अधिकारी ने इतनी जुर्रत की कि हमारे आदेश पर रोक लगा दी गई। यदि एक घंटे के भीतर आदेश वापस नहीं लिया गया, तो उस अधिकारी को आज ही जेल भेज दिया जाएगा। कोर्ट ने कहा कि हमारे आदेश के बावजूद ये रकम जमा नहीं हुई, हम अचंभित हैं कि एक पैसा भी जमा नहीं कराया गया। देश में क्या हो रहा है, ये बिल्कुल बकवास है, हमें जो कहना था हम कह चुके है। न्यायमूर्ति मिश्रा ने कहा कि ये याचिकाएं दाखिल नहीं करनी चाहिए थीं, ये सब बकवास है, क्या सरकारी डेस्क अफसर सुप्रीम कोर्ट से बढ़कर है जिसने हमारे आदेश पर रोक लगा दी।

गौरतलब है कि एजीआर के तहत क्या-क्या शामिल होगा, इसकी परिभाषा को लेकर टेलीकॉम कंपनी और सरकार के बीच विवाद चल रहा था। टेलीकॉम कंपनियां सरकार के साथ लाइसेंस फीस और स्पेक्ट्रम यूसेज चार्ज शेयरिंग करती है। सुप्रीम कोर्ट की परिभाषा के अनुसार किराया, संपत्ति की बिक्री पर मुनाफा, ट्रेजरी इनकम, डिविडेंड सभी एजीआर में शामिल होगा। वहीं, डूबे हुए कर्ज, करंसी में फ्लकचुएशन, कैपिटल रिसिप्ट डिस्ट्रीब्यूशन मार्जन एजीआर में शामिल नहीं करने का आदेश दिया गया है।
 

यह भी पढ़ें:

ऑस्ट्रेलिया में 10 हजार ऊंटों को मारने के आदेश जारी

ऑस्ट्रेलिया में 10 हजार ऊंटों को मारने के आदेश जारी किए गए है। ऑस्ट्रेलिया में आग की वजह से पानी की भारी कमी हो गई है। ऐसे में ये ऊंट काफी पानी पी रहे हैं।

08/01/2020

अमित शाह ने लॉन्च किया निजी सुरक्षा एजेंसी लाइसेंसिंग पोर्टल

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में निजी सुरक्षा एजेंसी लाइसेंसिंग पोर्टल लॉन्च किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह पोर्टल निजी सुरक्षा एजेंसियों के लिए बहुत मददगार साबित होगा।

24/09/2019

जरूरत से अधिक योग्यता होने पर महिला को नहीं मिली नौकरी, हाईकोर्ट ने फैसला रखा बरकरार

चेन्नई मेट्रो ने नौकरी के लिए एक महिला का आवेदन जरूरत से अधिक योग्यता होने पर खारिज कर दिया। महिला ने चेन्नई मेट्रो के इस फैसले को मद्रास हाईकोर्ट में चुनौती दी, लेकिन हाईकोर्ट ने भी इस फैसले को बरकरार रखा।

12/07/2019

सरकार के विकास रहित 100 दिन, ठोस नीति के अभाव में अर्थव्यवस्था चौपट : राहुल गांधी

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी तथा महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पहले 100 दिन के कार्यकाल को लेकर मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि पूर्ण बहुमत वाली सरकार विकास की ठोस नीति बनाने में असफल रही है और उसने अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है।

08/09/2019

महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनाव के लिए छिटपुट घटनाओं को छोड़ शांतिपूर्ण मतदान

महाराष्ट्र की 288 और हरियाणा की 90 विधानसभा सीटों पर शाम 6 बजे मतदान खत्म हो गया। छह बजे मतदान का समय समाप्त होने पर मतदान केंद्र परिसरों के प्रवेश द्वार बंद कर दिए गए। ऐसे में जो मतदाता 6 बजे तक लाईन में लग चुके थे केवल वे ही अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। ऐसे में मतदान का अंतिम आंकड़ा बढ़ सकता है।

21/10/2019

कांग्रेस को जल्द मिल सकता है नया अध्यक्ष, दौड़ में कई नेताओं के नाम

राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने को लेकर अड़ हुए है। पार्टी के बड़े नेताओं ने उन्हें इस्तीफा नहीं देने के लिए कहा है।

20/06/2019

जेएनयू ने आंदोलनकारी छात्रों के खिलाफ खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा

जेएनयू ने प्रशासनिक ब्लॉक के 100 मीटर के दायरे में धरना नहीं देने के कोर्ट के आदेश का उल्लंघन करने के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर कर छात्रों और दिल्ली पुलिस के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई की मांग की है।

20/11/2019