Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 11th of August 2020
 
भारत

टेलीकॉम एजीआर मामले में सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- आदेश के बाद भी एक भी पाई जमा नहीं हुई

Friday, February 14, 2020 12:00 PM
सुप्रीम कोर्ट।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने समायोजित सकल राजस्व (एडजस्टेड ग्रॉस रिवेन्यू अर्थात एजीआर के मामले में भारती एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया, रिलायंस कंम्युनिकेशन, टाटा टेली सर्विसेज और अन्य दूरसंचार कंपनियों के प्रबंध निदेशकों (एमडी) को 17 मार्च को व्यक्तिगत तौर पर तलब किया है। न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने इन कंपनियों के प्रबंध निदेशकों को शुक्रवार को अवमानना का नोटिस जारी करते हुए सभी प्रबंध निदेशकों को व्यक्तिगत तौर पर 17 मार्च को पेश होने को कहा है। कोर्ट ने पेश होकर ये बताने को कहा कि उनकी कंपनियों ने अब तक रुपये क्यों नहीं जमा कराए हैं।

न्यायमूर्ति मिश्रा ने सरकार से भी पूछा कि दूरसंचार विभाग ने यह अधिसूचना कैसे जारी की कि अभी भुगतान ना करने पर कंपनियों के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश को कैसे रोका गया। उन्होंने कहा कि किस अधिकारी ने इतनी जुर्रत की कि हमारे आदेश पर रोक लगा दी गई। यदि एक घंटे के भीतर आदेश वापस नहीं लिया गया, तो उस अधिकारी को आज ही जेल भेज दिया जाएगा। कोर्ट ने कहा कि हमारे आदेश के बावजूद ये रकम जमा नहीं हुई, हम अचंभित हैं कि एक पैसा भी जमा नहीं कराया गया। देश में क्या हो रहा है, ये बिल्कुल बकवास है, हमें जो कहना था हम कह चुके है। न्यायमूर्ति मिश्रा ने कहा कि ये याचिकाएं दाखिल नहीं करनी चाहिए थीं, ये सब बकवास है, क्या सरकारी डेस्क अफसर सुप्रीम कोर्ट से बढ़कर है जिसने हमारे आदेश पर रोक लगा दी।

गौरतलब है कि एजीआर के तहत क्या-क्या शामिल होगा, इसकी परिभाषा को लेकर टेलीकॉम कंपनी और सरकार के बीच विवाद चल रहा था। टेलीकॉम कंपनियां सरकार के साथ लाइसेंस फीस और स्पेक्ट्रम यूसेज चार्ज शेयरिंग करती है। सुप्रीम कोर्ट की परिभाषा के अनुसार किराया, संपत्ति की बिक्री पर मुनाफा, ट्रेजरी इनकम, डिविडेंड सभी एजीआर में शामिल होगा। वहीं, डूबे हुए कर्ज, करंसी में फ्लकचुएशन, कैपिटल रिसिप्ट डिस्ट्रीब्यूशन मार्जन एजीआर में शामिल नहीं करने का आदेश दिया गया है।
 

यह भी पढ़ें:

दिल्ली अग्निकांड : राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मांगा जवाब, 14 दिन की पुलिस हिरासत में आरोपी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में रविवार को हुए अग्निकाण्ड में मारे गए 43 लोगों के परिजनों का बुरा हाल है। किसी ने अपना बेटा तो किसी ने भाई खो दिया, वहीं किसी का सुहाग उजड़ गया।

10/12/2019

भारत में कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा पहुंचा 11, तमिलनाडु में 54 वर्षीय मरीज की मौत

कोरोना वायरस की चपेट में आए एक और शख्स की मौत हो गई है। तमिलनाडु में कोरोना से मौत का पहला मामला है। खास बात है कि यह शख्स विदेश गया ही नहीं था। यह 23 मार्च को कोरोना से संक्रमित मिला था, जिसके बाद से उसका इलाज चल रहा था। इस मौत के साथ देशभर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 11 हो गई है।

25/03/2020

कृषि क्षेत्र के लिए ऋण का लक्ष्य हासिल करेंगे : सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि मौजूदा परिस्थितियों में सरकार अगले वित्त वर्ष में कृषि क्षेत्र के लिए 15 लाख करोड़ रुपये का ऋण लक्ष्य हासिल कर लेगी।

15/02/2020

देश में 1.38 लाख के पार कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा, पिछले 24 घंटे में मिले 6977 मरीज

देश में कोरोना वायरस (कोविड-19) महामारी की विकरालता लगातार बढ़ती जा रही है। देश में पिछले 24 घंटों में करीब सात हजार नए मामले सामने आए हैं, जो अब तक की प्रतिदिन के मामलों की रिकॉर्ड संख्या है, हालांकि राहत की बात यह भी है कि इस दौरान 3280 लोग ठीक हुए हैं, जिसके साथ ही इस बीमारी से निजात पाने वालों की संख्या 57,721 हो गई।

25/05/2020

राहुल जी अच्छे लड़के हैं, बार-बार यूपी आएंगे तो दोस्ती हो जाएगी : अखिलेश

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से दोस्ती करने की इच्छा जाहिर की है। एक कार्यक्रम के दौरान मीडिया से बात करते हुए अखिलेश ने कहा कि राहुल जी अच्छे इंसान हैं, अच्छे लड़के हैं, उन्हें उत्तरप्रदेश ज्यादा आना चाहिए और यहां ज्यादा रहना चाहिए।

08/09/2016

अमित शाह ने राज्यसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद और डीएमके नेता कनिमोझी ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया

29/05/2019

जम्मू-कश्मीर में चुनाव से जुड़ी खबरों का आयोग ने किया खंडन, कहा- हमारे पास संवैधानिक अधिकार

चुनाव आयोग ने मंगलवार को एक अंग्रेजी दैनिक में प्रकाशित उस खबर का खंडन किया है जिसमें जम्मू-कश्मीर में चुनाव क्षेत्र के परिसीमन के मद्देनजर चुनाव करने का फैसला वहां के उपराज्यपाल जीसी मुर्मू पर निर्भर करता है। आयोग ने अपने बयान में कहा कि अंग्रेजी अखबार में इस आशय की छपी खबर गलत है क्योंकि चुनाव कराने का अधिकार केवल चुनाव आयोग के पास है।

28/07/2020