Dainik Navajyoti Logo
Monday 19th of April 2021
 
भारत

एंबुलेंस के लिए मनमाना किराया नहीं वसूल सकते, राज्य उचित रेट तय करें: सुप्रीम कोर्ट

Saturday, September 12, 2020 11:15 AM
सुप्रीम कोर्ट।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि राज्यों को कोविड-19 के विभिन्न पहलुओं को लेकर केंद्र की तरफ से जारी एसओपी को मानना होगा। कोर्ट ने कहा कि राज्यों को संदिग्ध या कन्फर्म मरीज को एंबुलेंस से लाने, ले जाने के लिए किराए की दर भी केंद्र की एसओपी के मुताबिक ही तय होनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि कोरोना मरीजों से एंबुलेंस सर्विस के लिए मनमाना किराया नहीं वसूला जा सकता है। कोर्ट ने निर्देश दिया है कि एंबुलेंस सर्विस के लिए राज्य सरकारें उचित रेट तय करें। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोरोना मरीजों से एंबुलेंस सर्विस के लिए उचित चार्ज किया जाए।

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस अशोक भूषण की अगुवाई वाली बेंच ने कहा कि एंबुलेंस सर्विस के लिए उचित रेट लिया जाए और यह भी सुनिश्चित किया जाए कि हर जिले में एंबुलेंस सर्विस हो। कोर्ट ने कहा कि देशभर के जिले में एंबुलेंस सर्विस उपलब्ध कराया जाए और राज्य सरकारें ये सुनिश्चित करें।

सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर कहा गया था कि कोविड-19 के मरीजों के लिए उचित कीमत पर पर्याप्त संख्या में एंबुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित कराया जाना चाहिए। सुप्रीम कोर्ट में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता की ओर से कहा गया कि राज्यों को इसके लिए पहले से ही मानक संचालन प्रक्रिया जारी की जा चुकी है। सुप्रीम कोर्ट राज्यों को इस मामले में एसओपी का पालन करने के लिए निर्देश जारी कर सकती है।

यह भी पढ़ें:

लॉकडाउन में रेलवे कर रहा उपयोगी वस्तुओं का वितरण, 1150 टन चिकित्सा वस्तुओं का परिवहन

कोविड-19 के कारण हुए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन में भारतीय रेलवे की प्राथमिकता के आधार पर चिकित्सा वस्तुओं का निर्बाध परिवहन सुनिश्चित किया जा रहा है।

22/04/2020

इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस रंगनाथ पांडेय ने मोदी को लिखा खत

इलाहाबाद हाईकोर्ट के जस्टिस रंगनाथ पांडेय ने पीएम नरेंद्र मोदी को खत लिखा है, जिसमें उन्होंने जजों की नियुक्तियों पर गंभीर सवाल खड़े करते हुए लिखा कि नियुक्ति में कोई निश्चित मापदंड नहीं है और प्रचलित कसौटी सिर्फ परिवारवाद और जातिवाद है। उन्होंने न्यायपालिका की गरिमा फिर से बहाल करने की मांग की है।

03/07/2019

39 साल मुकदमा लड़ने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने दिया रिहा करने का आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने बिहार के गया निवासी एक व्यक्ति को 39 साल मुकदमा लड़ने के बाद उसे रिहा करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि अपराध के समय आरोपी नाबालिग था इसलिए उसे रिहा किया जाए।

18/07/2019

अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़, तीन आतंकवादी ढेर

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षाबलों की ओर शुरू किए गए घेराबंदी एवं तलाश अभियान के दौरान हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए।

16/10/2019

मोदी से मिले केजरीवाल, लोकसभा चुनाव में जीत की दी बधाई

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को संसद भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर उनको लोकसभा चुनाव में जीत की बधाई दी और राजधानी के विकास के लिए केंद्र और राज्य सरकार के मिलकर काम करने की जरुरत बताई।

21/06/2019

भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 50 हजार से अधिक

देश में कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी से संक्रमण के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है और पिछले 24 घंटों के दौरान 3591 नए मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 50 हजार से अधिक हो चुकी है और इसी अवधि में 89 मरीजों की मौत के बाद अब तक कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 1683 हो गयी है।

07/05/2020

कर्नाटक में मंत्रिमंडल विस्तार, दो स्वतंत्र विधायक शामिल

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कांग्रेस-जनता दल गठबंधन मंत्रिमंडल में शुक्रवार को दो स्वतंत्र मंत्रियों को शामिल कर उसका विस्तार किया।

14/06/2019