Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 22nd of September 2021
 
भारत

गुपकार अलायंस पर शिवराज का निशाना, कहा- चीन-पाकिस्तान के लिए गुप्तचरी का काम करने वाला संगठन

Friday, November 20, 2020 18:45 PM
शिवराज सिंह चौहान ने गुपकार अलायंस पर साधा निशाना।

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जम्मू-कश्मीर से जुड़े 'गुपकार घोषणा' के मामले में शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमले बोलते हुए कहा कि उन्हें जम्मू-कश्मीर से जुड़े अनुच्छेद 370 को लेकर अपना दृष्टिकोण स्पष्ट करना चाहिए। चौहान ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वे 'मेडम सोनिया' से पूछना चाहते हैं कि कांग्रेस का अनुच्छेद 370 और 35 (ए) को लेकर वास्तव में क्या दृष्टिकोण है। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की नीतियों की भी आलोचना की और कहा कि कांग्रेस जम्मू कश्मीर मामले में दोगली और दोमुंही बातें करती आ रही है।

चौहान ने कहा कि सोनिया गांधी ने चर्चित बाटला हाउस मुठभेड़ मामले में आंसू बहाए थे। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी आतंकवादियों के साथ खड़े हुए नजर आए थे। उन्होंने कहा कि दरअसल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू कश्मीर में लूट की दुकानें बंद हो गई हैं, इसलिए अब्दुल्ला, मुफ्ती और गांधी परिवार एकजुट हो रहे हैं। शिवराज ने कहा कि राहुल गांधी ने भी अनुच्छेद 370 हटाने का विरोध किया था और केंद्र सरकार के इस कदम को असंवैधानिक बताया था। साथ ही इसे देश की सुरक्षा के लिए खतरा तक बता दिया गया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देशद्रोहियों का साथ इस तरह पहली बार नहीं दिया है। आजादी के समय पंडित जवाहरलाल नेहरू ने सत्ता शीघ्र प्राप्त करने की चाह में देश के विभाजन को भी स्वीकार किया था।

शिवराज सिंह ने कहा कि नेहरू ने ही जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 लागू करवाया था। एक देश में दो निशान, दो विधान और दो प्रधान की व्यवस्था कर कश्मीर को भारत से अलग करने का प्रयास किया गया। नेहरू ही भारत के आंतरिक मामले कश्मीर को संयुक्त राष्ट्र ले गए और जनमत संग्रह तक की बात करवाई थी। उऩ्होंने कहा कि दरअसल कांग्रेस अलगाववादी मानसिकता से आज भी ऊपर नहीं उठ पाई है। उन्होंने 'गुपकार घोषणा' का जिक्र करते हुए कहा कि यह 'गुप्तचर संगठन' है और चीन और पाकिस्तान के लिए गुप्तचरी का कार्य करते हुए दिखाई देते हैं। ये जासूसी करने वाले लोग हैं। ये गठबंधन नहीं है।

उन्होंने गुपकार घोषणा से जुड़े संगठन नेशनल कांफ्रेंस और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के नेताओं पर जमकर हमले करते हुए कहा कि उनके बच्चे विदेश में पढ़ते हैं। वे स्वयं विलासितापूर्ण जीवन जीते हैं और कश्मीर के लोगों के हाथों में पत्थर थमा देते हैं। इन लोगों ने जम्मू-कश्मीर को अंधेरे में धकेलने का प्रयास किया है और देशविरोधी भाषा बोल रहे हैं। कांग्रेस के नेता इनका साथ दे रहे हैं। चौहान ने कहा कि कश्मीर के ही एक कांग्रेस नेता ने विवादित बयान देते हुए कहा कि वे अमरीका के नए राष्ट्रपति से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 बहाल कराने का प्रयास करेंगे। फारुख अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती भी लगातार इसी तरह राष्ट्रविरोधी भाषा बोल रहे हैं। इन लोगों के आतंकवादियों से संबंध भी छिपे हुए नहीं हैं। चौहान ने दोहराया कि अनुच्छेद 370 को लेकर कांग्रेस को अपना दृष्टिकोण साफ करना चाहिए, क्योंकि कांग्रेस भी 'गुपकार घोषणा' का हिस्सा थी और है। यह बात कश्मीर और कांग्रेस नेताओं के समय-समय पर आ रहे बयानों से स्पष्ट है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले माह महबूबा मुफ्ती और इसके पहले फारुख अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला रिहा हुए हैं और अब ये लोग खुलकर देश के खिलाफ 'विषवमन' कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर के लोग खुली हवा में सांस ले रहे हैं। लेकिन अब गुपकार गठबंधन से जुड़े नेता फिर से आतंकवाद को बढ़ाना चाहते हैं। कांग्रेस का दृष्टिकोण भी गुपकार गठबंधन के साथ खड़ा हुआ दिखाई दे रहा है, इसलिए उनकी नेता को स्थिति स्पष्ट करना चाहिए। चौहान ने एक सवाल के जवाब में कहा कि भाजपा राष्ट्रविरोधी दृष्टिकोण रखने वालों के साथ कभी नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हजारों करोड़ रुपयों के जमीन घोटाले हुए हैं। इनकी जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) कर रही है। जांच की आंच जब गुपकार नेताओं के पास जाने लगी तो वे बचने के लिए हथकंडे अपना रहे हैं।

बता दें कि गुपकार घोषणा जम्मू-कश्मीर में विपक्षी दलों का एक गठबंधन है, जो वहां पर अनुच्छेद 370 हटाने के बाद जारी किया गया था। इसे 'पीपुल्स एलायंस फॉर गुपकार डिक्लेयरेशन' नाम दिया गया है। गुपकार श्रीनगर में उस मार्ग का नाम है, जहां पर नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारुख अब्दुल्ला का निवास है। इसी स्थान पर विभिन्न दलों के नेताओं की बैठक में डिक्लेयरेशन जारी हुआ था, इसलिए इसे 'गुपकार डिक्लेयरेशन' के नाम से जाना जाता है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

दिल्ली: CM अरविंद केजरीवाल की CBSE की परीक्षा रद्द करने की मांग, कहा- वैकल्पिक तरीकों पर करें विचार

कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों के कारण कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं को रद्द करने की मांग की है।

13/04/2021

तमिलनाडु में नीट से संबधी विधेयक को किया पारित

तमिलनाडु के मेत्तुर में राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (नीट) के अभ्यर्थी छात्र के आत्मदाह करने के बाद नीट से स्थाई छूट देने के आधार पर मेडिकल में प्रवेश की अनुमति देने संबंधी विधेयक को सर्वसम्मति से पारित किया।

13/09/2021

देश में उपद्रव के लिए टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोग जिम्मेदार : रविशंकर

केंद्र सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर देश भर में जारी उपद्रव एवं प्रदर्शनों के लिए टुकड़े-टुकड़े गैंग तथा शहरी नक्सलियों को जिम्मेदार ठहराया है।

19/12/2019

मोदी ने हरी झंडी दिखाकर काशी महाकाल एक्सप्रेस को किया रवाना

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तीन ज्योर्तिलिंग और धार्मिक स्थल को जोडऩे वाली काशी महाकाल एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया।

16/02/2020

जम्मू-कश्मीर: राजौरी में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर के 3 आतंकवादी गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सुरक्षा एजेंसियों की मदद से शनिवार को एक बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए राजौरी जिले से हथियारों से लैस लश्कर-ए-तैयबा के 3 आतंकवादियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

19/09/2020

एक महीने तक न्यूज चैनल्स की डिबेट में नहीं जाएंगे कांग्रेस प्रवक्ता: सुरजेवाला

कांग्रेस अगले एक महीने तक चैनल डीबेट में अपने प्रवक्ता नहीं भेजेगी। इस बात की जानकारी रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर दी है।

30/05/2019

किसान नेताओं ने की धरना स्थलों पर ध्वजारोहण करने की घोषणा

स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली में किसान आंदोलन से संबंधित कोई भी कार्यक्रम नहीं करने के किसान नेताओं की घोषणा के बावजूद दिल्ली की सीमा पर सुरक्षा की व्यवस्था की गई है।

14/08/2021