Dainik Navajyoti Logo
Monday 19th of April 2021
 
भारत

राजस्थान की सियासी उठापटक: स्पीकर सीपी जोशी ने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका ली वापस

Monday, July 27, 2020 14:05 PM
सुप्रीम कोर्ट।

नई दिल्ली। विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने हाईकोर्ट के 21 जुलाई के अंतरिम आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर अपनी याचिका सोमवार को वापस ले ली। राजस्थान हाईकोर्ट ने गत 21 जून को अंतरिम आदेश सुनाते हुए विधानसभा अध्यक्ष को सचिन पायलट और उनके खेमे के 18 विधायकों के खिलाफ कार्रवाई करने से 24 जुलाई तक के लिए रोक लगा दी थी, जिसे स्पीकर ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। याचिका में कहा गया था कि हाईकोर्ट विधानसभा अध्यक्ष को सचिन गुट पर कार्रवाई करने से नहीं रोक सकता। कोर्ट का गत 21 जुलाई का आदेश न्यायपालिका और विधायिका में टकराव पैदा करता है।

विधानसभा अध्यक्ष की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने न्यायमूर्ति अरुण कुमार मिश्रा की अध्यक्षता वाली खंडपीठ के समक्ष दलील दी कि हाईकोर्ट के गत शु्क्रवार के आदेश के बाद पहले के आदेश के खिलाफ याचिका जारी रखने का कोई मतलब नहीं रह जाता, इसलिए उन्हें इसे वापस लेने की अनुमति प्रदान की जाए। सिब्बल ने कहा कि गत 24 जुलाई को 32 पन्नों का आदेश सुनाया था, जिसमें संविधान की 10वीं अनुसूची की व्याख्या सहित कई सवाल खड़े किए गए हैं। उन्होंने कहा कि हमें कानूनी विकल्प पर विचार करना है कि आगे क्या करना है। कोर्ट ने उन्हें याचिका वापस लेने की अनुमति प्रदान कर दी। कोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष को न केवल याचिका वापस लेने की अनुमति दी, बल्कि नई विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) दायर करने और सभी विकल्प खुला रखने की स्वतंत्रता प्रदान की। इस बीच सिब्बल ने हाईकोर्ट के 24 जुलाई के आदेश के खिलाफ अपील के संकेत दिए।

गौरतलब है कि गत 23 जुलाई को न्यायमूर्ति मिश्रा, न्यायमूर्ति बीआर गवई और न्यायमूर्ति कृष्ण मुरारी की खंडपीठ ने विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल तथा पायलट खेमे की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे और मुकुल रोहतगी की दलीलें सुनने के बाद कहा था कि वह इस मामले में सोमवार को विस्तृत सुनवाई करेगी। इस बीच उसने हाईकोर्ट के मंगलवार के आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि वह इस बाबत सुनवाई करेगी कि क्या हाईकोर्ट सदन के अध्यक्ष के नोटिस के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई कर सकता है या नहीं? खंडपीठ अध्यक्ष के अधिकार बनाम कोर्ट के क्षेत्राधिकार जैसे महत्वपूर्ण सवाल पर विचार करेगी। कोर्ट ने हालांकि यह भी स्पष्ट कर दिया था कि हाईकोर्ट का 24 जुलाई का कोई भी फैसला इस मामले में सुप्रीम कोर्ट के अंतिम फैसले पर निर्भर करेगा।

यह भी पढ़ें:

कोरोना को देखते हुए जेईई मेन परीक्षा को कर दिया स्थगित

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए जेईई (मेन) की परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है। यह परीक्षा 27, 28 और 30 अप्रैल को होने वाली थी, लेकिन अब परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है।

18/04/2021

विजय माल्या को यूके हाईकोर्ट से झटका, भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील की याचिका खारिज

बैंकों के साथ 9 हजार करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और धनशोधन मामले में वांछित भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को गुरुवार को उस समय तगड़ा झटका लगा, जब ब्रिटेन के हाईकोर्ट ने उसकी भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करने वाली याचिका खारिज कर दी।

14/05/2020

मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने दिया इस्तीफा, महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन के आसार

फडणवीस ने मुंबई स्थित राजभवन पहुंचकर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात कर इस्तीफा सौंपा।

08/11/2019

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक

कांग्रेस की सर्वोच नीति निर्धारक इकाई कार्यसमिति की बैठक हुई। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि बैठक पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर हुई।

09/11/2019

पश्चिम बंगाल: मंत्री जाकिर हुसैन पर बम से हमला, हालत खतरे से बाहर, CID ने शुरू की जांच

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले कानून व्यवस्था चरमराती नजर आ रही है। यहां चुनावी दौरे पर आए बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के काफिले पर हमला हो चुका है। अब पश्चिम बंगाल की सरकार में मंत्री जाकिर हुसैन पर बुधवार रात मुर्शिदाबाद में हमला किया गया है। यहां निमिता रेलवे स्टेशन पर अज्ञात हमलावरों ने श्रम राज्यमंत्री जाकिर हुसैन पर पेट्रोल बम से हमला कर दिया।

18/02/2021

पूर्व हॉकी प्लेयर संदीप सिंह और पहलवान योगेश्वर दत्त भाजपा में शामिल

भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान संदीप सिंह और ओलंपिक मेडलिस्ट पहलवान योगेश्वर दत्त हरियाणा में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए हैं।

26/09/2019

भाजपा का दिल्ली में मुख्यमंत्री चेहरा कौन है, लोग उन्हें क्यों वोट दें: अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि AAP ने दिल्ली जनलोकपाल बिल 2015 में पारित किया था, जो पिछले 4 सालों से केन्द्र सरकार के पास लंबित है

04/02/2020