Dainik Navajyoti Logo
Monday 17th of May 2021
 
भारत

राम मंदिर भूमि पूजन समारोह देगा एकता का संदेश, राम सब में हैं, राम सबके साथ हैं: प्रियंका

Tuesday, August 04, 2020 13:10 PM
प्रियंका गांधी वाड्रा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भगवान राम के चरित्र को भारतीय संस्कृति, दर्शन, सभ्यता का प्रतीक और भारतीय भूभाग में मानवता को जोड़ने का सूत्र बताते हुए कहा है कि अयोध्या में रामलला के मंदिर का भूमि पूजन समारोह राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम साबित होगा। प्रियंका ने मंगलवार को जारी बयान में कामना करते हुए कहा कि सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनबद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सब में हैं, राम सबके साथ हैं। भगवान राम और माता सीता के संदेश और उनकी कृपा के साथ रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व तथा सांस्कृतिक समागम का अवसर बने। जय सियाराम।

कांग्रेस महासचिव ने भगवान राम के चरित्र को एकता का सूत्र बताया और कहा कि दुनिया और भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति में रामायण की गहरी और अमिट छाप है। भगवान राम, माता सीता और रामायण की गाथा हजारों वर्षों से भारतीय सांस्कृतिक और धार्मिक स्मृतियों में प्रकाशपुंज की तरह आलोकित है। उन्होंने कहा कि भारतीय मनीषा रामायण के प्रसंगों से धर्म, नीति, कर्तव्यपरायणता, त्याग, उदारता, प्रेम, पराक्रम और सेवा की प्रेरणा पाती रही है। उत्तर से दक्षिण, पूरब से पश्चिम तक रामकथा अनेक रूपों में स्वयं को अभिव्यक्त करती चली आ रही है। श्रीहरि के अनगिनत रूपों की तरह ही रामकथा हरिकथा अनंता है।

वाड्रा ने कहा कि युग-युगांतर से भगवान राम का चरित्र भारतीय भूभाग में मानवता को जोड़ने का सूत्र रहा है। भगवान राम आश्रय हैं और त्याग भी। राम सबरी के हैं, सुग्रीव के भी। राम वाल्मीकि के हैं और भास के भी। राम कंबन के हैं और एषुत्तच्छन के भी। राम कबीर के हैं, तुलसी दास के हैं, रैदास के हैं। सबके दाता राम हैं। उन्होंने कहा कि गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सम्मति देने वाले हैं। वारिस अली शाह कहते हैं जो रब है वही राम है। राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त राम को 'निर्बल का बल' कहते हैं। तो महाप्राण निराला 'वह एक और मन रहा राम का जो न थका' की कालजयी पंक्तियों से भगवान राम को 'शक्ति की मौलिक कल्पना' कहते हैं। वाड्रा ने भगवान राम को साहस का प्रतीक बताते हुए कहा कि वह सबके हैं। उन्होंने कहा कि राम साहस हैं, राम संगम हैं, राम संयम हैं, राम सहयोगी हैं। सबके हैं। भगवान राम सबका कल्याण चाहते हैं, इसीलिए वे मर्यादा पुरुषोत्तम हैं।

यह भी पढ़ें:

गुजरात में आग लगने से कोरोना के 18 मरीजों की हो गई मौत

गुजरात में भरूच के पटेल वेलफेयर अस्पताल में आग गलने से कम से कम 18 कोरोना मरीजों मौत हो गई। इस अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए कोविड केयर सेंटर बनाया गया था।

01/05/2021

चंद्रयान -2 होगा लांच

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की चंद्रमा पर भारत के दूसरे मिशन चंद्रयान-2 के प्रक्षेपण के 20 घंटों की उलटी गिनती शुरू होगी।

13/07/2019

किसान आंदोलन को लेकर मायावती की केंद्र सरकार को नसीहत, कहा- कृषि कानूनों पर फिर से करें विचार

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने कृषि संबंधी तीनों कानूनों पर असहमति व्यक्त करते हुए रविवार को कहा कि केंद्र सरकार को इन पर फिर से विचार करना चाहिए। मायावती ने कहा कि इन कानूनों को लेकर पूरे देश के किसान आक्रोशित हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को स्थिति समझनी चाहिए।

29/11/2020

मोदी नेतृत्व पर भरोसा जताने डिनर में पहुंचे NDA के 33 सहयोगी दल, 3 ने लिखित में दिया समर्थन

चुनाव नतीजों से पहले मंगलवार को भाजपा द्वारा आयोजित एनडीए के रात्रिभोज में 36 घटक दलों के नेता शामिल हुए।

22/05/2019

गृह मंत्रालय ने राजनीतिक हिंसा पर पश्चिम बंगाल से मांगी रिपोर्ट

केन्द्र ने पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा की बढती घटनाओं पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए राज्य सरकार से इनपर काबू पाने और इनकी जांच के लिए उठाये गये कदमों के बारे में रिपोर्ट देने को कहा है।

15/06/2019

देश में कोरोना का कहर: 24 घंटे में आए रिकॉर्ड 1.31 लाख से ज्यादा नए रोगी, 780 लोगों की मौत

देश में कोरोना वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लगातार दूसरे दिन भी नए मामलों की संख्या सवा लाख के पार रही और पिछले 24 घंटों के दौरान 69,289 सक्रिय मामले बढ़कर 9,79,608 पहुंच गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शुक्रवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार इस बीच देश में 1,31,968 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 30 लाख 60 हजार 542 हो गई है।

09/04/2021

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू-कश्मीर में सीमा पर 6 पुलों का किया उद्घाटन, BRO की सराहना की

जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के निकट संवेदनशील सीमावर्ती क्षेत्रों में सड़कों एवं पुलों से विभिन्न क्षेत्रों को आपस में जोड़ने की दिशा में नई क्रांति का सूत्रपात करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 6 प्रमुख पुलों को राष्ट्र को समर्पित किया।

09/07/2020