Dainik Navajyoti Logo
Saturday 24th of October 2020
 
भारत

सीतारमण के समक्ष वास्तविकता और उम्मीदों के बीच तालमेल बनाने की बड़ी चुनौती

Friday, January 31, 2020 13:45 PM
निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर आम बजट में आम लोगों तथा वेतनभोगियों को खुश करने और उद्योग जगत को राहत पहुंचाते हुये मंद पड़ी अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए मांग, निजी निवेश और राजस्व संग्रह में वृद्धि के उपाय करते हुये सरकारी व्यय बढ़ाने के साथ ही राजकोषीय घाटे को नियंत्रण में रखने की बड़ी चुनौती होगी। सीतारमण वित्त मंत्री के तौर पर अपना पहला पूर्ण बजट पेश करेंगी। वह ऐसे समय में यह बजट पेश करने जा रही हैं, जब आर्थिक गतिविधयां 6 वर्ष के निचले स्तर पर आ चुकी हैं और खुदरा महंगाई 5 वर्ष के उच्चतम स्तर पर पहुंच चुकी है। ऐसे में उनके लिए वास्तविकता और बजट को लेकर उम्मीदों के बीच तालमेल बनाना चुनौतीपूर्ण होगा। 

आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाकर 5 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए लोगों, विशेषकर मध्यम वर्ग, की क्रय शक्ति को बढ़ाने के उद्देश्य से आयकर में बड़ी राहत दिये जाने की उम्मीद है, लेकिन इससे राजस्व संग्रह प्रभावित हो सकता है। विश्लेषक ऐसी उम्मीद कर रहे हैं कि वित्त मंत्री कॉरपोरेट कर में कमी की तर्ज पर आयकर में भी छूट देकर लोगों की क्रय शक्ति को बढ़ा सकती हैं। उनका कहना है कि ढाई लाख रुपये से लेकर पांच लाख रुपये तक के पहले स्लैब पर कर की दर पांच फीसदी बनी रह सकती है, लेकिन पांच लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक की आय पर कर को 20 फीसदी से घटाकर 10 फीसदी किया जा सकता है। इसी तरह 10 लाख रुपये से 25 लाख रुपये तक की सालाना आय पर कर को भी 30 प्रतिशत से कम कर 20 प्रतिशत किया जा सकता है।

कुछ अर्थशास्त्रियों ने 25 लाख रुपये से एक करोड़ रुपये तक की आय पर कर को 25 प्रतिशत रखने की वकालत करते हुये कहा है कि एक करोड़ से अधिक की आय पर 30 फीसदी कर लगाया जाना चाहिये, क्योंकि इतनी आमदनी वाले लोग ज्यादा कर दे सकते हैं। उन्होंने अमीरों पर आयकर पर लगे अधिभार को समाप्त करने की अपील करते हुये कहा है कि  सरकार कर की दर जितना अधिक रखती है, कर संग्रह उतना ही कम होता है।

 

यह भी पढ़ें:

कोरोना संकट के दौरान पीएम मोदी को समझ आया मनरेगा का महत्व: सोनिया गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है कि महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार योजना (मनरेगा) को लेकर उल्टा सीधा बोलने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना संकट के दौरान इसकी अहमियत ठीक तरह से समझ आई है और उन्हें पूरा एहसास हो गया है कि गांवों को इस योजना से मजबूत बनाया जा सकता है।

08/06/2020

बुखार से पीड़ित बांग्लादेशी नदी में तैरकर पहुंचा असम, गांव वालों से बोला- मेरा कोरोना का इलाज करा दो

बुखार से पीड़ित एक बांग्लादेशी युवक कुशियारा नदी में तैरता हुआ असम की सीमा में दाखिल हो गया। यहां पहुंचने पर उसने करीमपुर जिले के मुबारकपुर पहुंचकर ग्रामीणों से खुद के कोरोना संक्रमित होने की बात कही और लोगों से खुद का इलाज कराने को कहा। युवक की बात सुनकर ग्रामीणों में हड़कंप मच गया।

27/04/2020

प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए 7 राज्यों ने की 63 श्रमिक ट्रेनें चलाने की मांग

भारतीय रेल 7 राज्यों में फंसे श्रमिकों को उनके राज्य पहुंचाने के लिए 63 और श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन करेगी।

12/06/2020

ममता की आलोचना

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनकड़ ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर संयुक्त राष्ट्र के हस्तक्षेप करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना की और कहा कि सत्ताधारी व्यक्ति को इस तरह के हस्तक्षेप की मांग नहीं करनी चाहिए।

20/12/2019

कांग्रेस नेता अलका लांबा ने आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता को थप्पड़ मारने की कोशिश की

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मतदान के दौरान चांदनी चौक सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अलका लांबा ने मतदान केन्द्र के सामने उनके साथ हुए दुर्व्यवहार करने वाले आम आदमी पार्टी (आप) के एक आरोपी कार्यकर्ता को थप्पड़ मारने की कोशिश की।

08/02/2020

पीएम मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी को घर जाकर दी जन्मदिन की बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा के वरिष्ठतम नेताओं में शुमार लालकृष्ण आडवाणी के निवास पर जाकर शुक्रवार को उन्हें जन्मदिन की बधाई दी। मोदी के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा भी थे।

08/11/2019

शाहीन बाग प्रदर्शन मामला: सुप्रीम कोर्ट का मेंशनिंग रजिस्ट्रार के पास जाने का निर्देश

सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग में चल रहे धरना प्रदर्शन को हटाने संबंधी याचिका की त्वरित सुनवाई का आग्रह लेकर मेंशनिंग रजिस्ट्रार के पास जाने का याचिकाकर्ता को निर्देश दिया।

04/02/2020